सेंट्रल जेल के बाहर युवक की गोली मारकर हत्या, परिजनों ने मोर्चरी का ताला तोड़ शव निकाला

जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : पैसे के लेन-देन को लेकर सेंट्रल जेल के बाहर 32 वर्षीय वरुण की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बृहस्पतिवार रात करीब साढ़े 8 बजे आरोपित राजेश दलाल ने इस घटना का अंजाम दिया। भाई वरुण को तुरंत मोटरसाइकिल पर ट्रामा सेंटर लेकर पहुंचा, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इसके बाद रात करीब 9 बजकर 15 मिनट पर शव को मोर्चरी में रखवा दिया गया। लेकिन परिजनों ने इस पर डाक्टरों को धक्के मारने शुरू कर दिए। ट्रामा सेंटर में ऑन ड्यूटी डाक्टरों ने शहर थाना पुलिस को सूचना दी। इसके बाद एसएचओ अजीत, जेल अधिकारी मौके पर पहुंचे।

पुलिस के आने से पहले करीब करीब 9:35 पर मृतक के भाइयों ने मोर्चरी का ताला तोड़ा और शव को बाहर निकालकर ट्रामा सेंटर में रख दिया। साथ ही पुलिस को 15 मिनट के भीतर एसपी जेल को बुलाने का अल्टीमेटम दे दिया। कहा, एसपी जेल को बुलाओ वरना हमें खुद बुलाना आता है। कहीं ऐसा न हो कि हमें भी जेल में मर्डर केस में अंदर जाना पड़े। कहा, जेल एसपी को सारी राम कहानी और एबीसीडी सारी पता है। इसीलिए उन्हें बुलाया जाए। परिजनों ने कहा कि जेल लैंड सबसे सुरक्षित एरिया है। ऐसे में कोई भी आकर कैसे किसी को सरेआम गोली मार सकता है।

मृतक के भाइयों के गुस्से के आगे पुलिस भी हाथ जोड़ती रही। रात करीब 10:25 मिनट पर डीएसपी जेल विशाल छिब्बर मौके पर पहुंचे। इसके बाद परिजनों को समझाने का प्रयास किया। करीब 10:35 मिनट तक मृतक के परिजनों से सहमति बनी और पुलिस ने राहत की सांसे ली।

--------------------

सेंट्रल जेल के भीतर बेकरी का है विवाद

बता दें कि सेंट्रल जेल में बेकरी है। इस बेकरी के चार पार्टन हैं। बेकरी दिल्ली के अमिनेष के नाम है। अमिनेष ने आगे इसे राजेश दलाल, अनिल और संदीप को दी थी। मृतक वरुण इसमें सेल्स मैन था। बेकरी में कैदियों को रोजगार के लिए काम करना सिखाया जाता है। बताया जा रहा है कि कुछ ही समय में बेकरी ने अच्छा नाम कमा लिया था। बेकरी से तैयार होकर सामान बाहर भी जाता है। बृहस्पतिवार रात सेंट्रल जेल के बाहर सरकारी क्वार्टर के पास राजेश और वरुण में रात करीब सवा आठ बजे किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। परिजनों के आरोप है कि इसी बीच राजेश ने उसकी छाती पर पिस्तौल रखकर गोली मार दी। सूचना मिलने के बाद अमिनेष भी दिल्ली से अंबाला के लिए निकल दिए थे।

एसपी ने किया मौका-ए वारदात का निरीक्षण

एसपी आस्था मोदी ने मौका-ए-वारदात पर पहुंचकर स्थिति का मुआयना किया। साथ ही आरोपितों की धरपकड़ के लिए टीम गठित करने का आश्वासन भी दिया। रात करीब 10 बजकर 42 मिनट पर शव को दोबारा से मोर्चरी में रखवा दिया गया। एसपी जेल ने परिजनों को समझाते हुए कहा कि उन्होंने आरोपियों की धरपकड़ के लिए टीमों का गठन कर दिया है। आरोपी किसी भी हाल में बचकर नहीं भाग सकते। आरोपित राजेश मूल रूप से सोनीपत जिले का रहने वाला बताया जा रहा है।

------------------------------

आरोपितों की धरपकड़ के लिए तीन टीमों का गठन कर दिया गया है। इनमें सीआइए-वन, सीआइए टू और बलदेव नगर टीम। हेडक्वार्टर बलदेव नगर पुलिस टीम की अगुवाई में टीमें काम करेंगी। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

-आस्था मोदी, एसपी अंबाला।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.