छावनी नागरिक अस्पताल में इस वर्ष अब तक 3216 बच्चों का जन्म

छावनी नागरिक अस्पताल के महिला वार्ड के लेबर रूम में स्टाफ की 24 घंटे की ड्यूटी रहती है। यहां तैनात स्टाफ की ड्यूटी शिफ्टों में होती है। वार्ड में दाखिल किसी गर्भवती महिला को आपरेशन की जरूरत होती है तो गाइनी सर्जन आन काल ड्यूटी देती है। इस वर्ष जनवरी से 30 सितंबर के बीच 3216 बचों ने आंखें खोली हैं। इसमें 2210 बचों का नार्मल तरीके से और 1006 बचों ने सीजेरियन से जन्म लिया। वर्ष 2019 में कुल 3745 वर्ष 2020 में 3029 बचों की डिलीवरी हुई।

JagranFri, 22 Oct 2021 06:45 AM (IST)
छावनी नागरिक अस्पताल में इस वर्ष अब तक 3216 बच्चों का जन्म

जागरण संवाददाता, अंबाला : छावनी नागरिक अस्पताल के महिला वार्ड के लेबर रूम में स्टाफ की 24 घंटे की ड्यूटी रहती है। यहां तैनात स्टाफ की ड्यूटी शिफ्टों में होती है। वार्ड में दाखिल किसी गर्भवती महिला को आपरेशन की जरूरत होती है तो गाइनी सर्जन आन काल ड्यूटी देती है। इस वर्ष जनवरी से 30 सितंबर के बीच 3216 बच्चों ने आंखें खोली हैं। इसमें 2210 बच्चों का नार्मल तरीके से और 1006 बच्चों ने सीजेरियन से जन्म लिया। वर्ष 2019 में कुल 3745, वर्ष 2020 में 3029 बच्चों की डिलीवरी हुई।

अस्पताल में गर्भवती महिलाओं का इलाज तो रोजाना होता है, लेकिन गर्भवती होने के बाद चिकित्सक के परामर्श पर होने वाली जांच के लिए सप्ताह में एक दिन कैंप लगाया जाता है। इस कैंप में गर्भवती के बीपी से लेकर खून और अल्ट्रासाउंड की जांच कराने की विशेष सुविधा दी गई है।

--------------

नवजात के इलाज के लिए निक्कू वार्ड

अस्पताल के इंडोर पेशेंट डिपार्टमेंट की पहली मंजिल पर नवजात को भर्ती करके इलाज करने के लिए निक्कू वार्ड बनाया गया है। निक्कू वार्ड में जन्म के तुरंत बाद बच्चे को रखकर उसका चेकअप से लेकर इलाज करने के लिए शिशु रोग विशेषज्ञ तैनात किए गए हैं।

---------------

टीकाकरण के लिए कुशल मेडिकल स्टाफ

गर्भवती महिलाओं से लेकर नवजात बच्चों का टीकाकरण करने के लिए कुशल मेडिकल स्टाफ तैनात किए गए हैं। प्रत्येक दिन नवजात बच्चों से लेकर गर्भवती महिलाओं को टीके लगाए जाते हैं। गर्भवती और नवजात के बेहतर टीकाकरण के लिए नागरिक अस्पताल के इन स्टाफ को जिला स्तर पर सम्मानित किया जा चुका है।

-----------

कायाकल्प की टीम से मिला पुरस्कार

अस्पताल में साफ-सफाई की बेहतर व्यवस्था को स्वास्थ्य विभाग के कायाकल्प की टीम ने सराहा है। अभी हाल ही में नागरिक अस्पताल छावनी को कायाकल्प की टीम ने निरीक्षण के बाद प्रशस्ति पत्र भी दिया है। इसके बाद से अस्पताल में व्यवस्था बनाए रखने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

------------- अस्पताल में आने वाले सभी मरीजों को सुविधाजनक चिकित्सा सेवा देने का प्रयास किया जाता है। इसी कड़ी में गर्भवती महिलाओं और नवजात बच्चों के इलाज से लेकर चेकअप के लिए कुशल स्टाफ से लेकर डाक्टर लगाए गए हैं। हमारा प्रयास रहता है कि मरीज को यहां पर बेहतर इलाज मिले।

- डा. राकेश सहल, प्रिसिपल मेडिकल अधिकारी अंबाला कैंट।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.