अब अंबाला के बोर्डिंग स्‍कूल में यौन शोषण, बच्चे बोले- रात को वार्डन करता है गंदा काम

जेएनएन, अंबाला शहर। स्‍कूल में बच्‍चों के साथ यौन उत्‍पीड़न का एक और मामला सामने आया है। यहां के एक बोर्डिंग स्कूल में वार्डन मासूम बच्चों का यौन शोषण करता था। इससे त्रस्त दो बच्चों ने स्कूल छोड़ दिया। इनमें एक बच्चा गुरुग्राम का है और दूसरा लुधियाना का। दोनों सातवीं कक्षा में पढ़ते थे। पंजाब के मोहाली जिले के जीरकपुर कस्बे का रहने वाले वार्डन पीटर को स्कूल प्रबंधन ने सस्पेंड कर दिया है।

स्कूल के प्रबंधन ने पीटर के खिलाफ 3 सितंबर को ही एसपी कार्यालय में शिकायत दे दी थी, लेकिन पुलिस ने अभी तक केस दर्ज नहीं किया है। बताया जाता है कि कई बच्‍चों ने कहा कि वार्डन रात को अपने कमरे में बुलाकर गंदा काम करता था। उधर, बच्चों के उत्पीड़न की जानकारी मिलने पर बाल कल्याण समिति की टीम स्कूल में पहुंची। टीम ने हॉस्टल में रहने वाले बच्चों से पूछताछ की। स्कूल के हॉस्टल में करीब 65 बच्चे रह रहे हैं। इनमें दो लड़कियां भी हैं। उनका हॉस्टल अलग हैं। हालांकि दोनों छात्राओं ने कोई आरोप नहीं लगाए।

यह भी पढ़ें: रेल यात्रियों पर बढ़ा एक और भार, इस सेवा के लिए शुल्‍क में हुई सात गुनी बढ़ोत्‍तरी

कक्षा पांच, छह, सात, नौ और 10 के विद्यार्थियों से अलग-अलग पूछताछ की गई। बच्चों ने टीम के सदस्यों को बताया कि पीटर उन्हें गलत तरीके से छूता था। एक बच्चे ने बताया कि उसके हिप्स पर गलत तरीके से हाथ रखता था। बाल कल्याण समिति के सदस्य मोहित अग्रवाल ने बताया कि कई बच्चों ने पीटर पर गलत तरीके से छूने और गलत काम के आरोप लगाए हैं।

बच्चों के मुताबिक, कई अध्यापक मारपीट करते हैं और मां-बाप को गाली देते हैं। मोहित अग्रवाल ने कहा कि फिर से बच्चों की काउंसिलिंग की जाएगी। उन्होंने बताया कि निरीक्षण करने गई टीम में उनके अलावा गुरदेव ङ्क्षसह, जगमोहन मछौंडा और जिला बाल सरंक्षण अधिकारी मेघा ङ्क्षसगला शामिल थीं।

बच्चों ने बैड टच की शिकायत दी, गलत काम की नहीं: चेयरमैन

स्कूल के चेयरमैन ने बताया कि हमने वार्डन पीटर को सस्पेंड कर उसके खिलाफ पुलिस को 3 सितंबर को ही शिकायत दे दी थी। बच्चों ने बैड टच की ही शिकायत दी है। हमने कई बार काउंसिलिंग भी की है, गलत काम करने की शिकायत हमें किसी ने नहीं दी। टीचरों द्वारा गाली देने की शिकायत भी हमारे पास नहीं आई। फिर भी इसकी जांच कराई जाएगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.