चंडीगढ़ में होगी प्रधान सचिव से मीटिग और बेघना में जारी रहेगा जल सत्याग्रह

नारायणगढ़ शुगर मिल बनोंदी में गन्ना उत्पादक किसानों केकरोड़ों रुपये की बकाया होने पर किसानों ने चौथे दिन बेघना नदी में जल सत्याग्रह किया। इसके बाद एसडीएम ने किसानों से मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव से मीटिग से रूबरू करवाया। मीटिग के लिए किसान मान गये लेकिन किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। किसानों ने कहा मीटिग में अगर कोई ठोस बात नहीं हुई तो वह वापस लौट आएंगे।

JagranMon, 26 Aug 2019 09:14 AM (IST)
चंडीगढ़ में होगी प्रधान सचिव से मीटिग और बेघना में जारी रहेगा जल सत्याग्रह

संवाद सहयोगी, शहजादपुर (अंबाला): नारायणगढ़ शुगर मिल बनोंदी में गन्ना उत्पादक किसानों के करोड़ों रुपये की बकाया होने पर किसानों ने चौथे दिन बेघना नदी में जल सत्याग्रह किया। इसके बाद एसडीएम ने किसानों से मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव से मीटिग से रूबरू करवाया। मीटिग के लिए किसान मान गये, लेकिन किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। किसानों ने कहा मीटिग में अगर कोई ठोस बात नहीं हुई तो वह वापस लौट आएंगे।

नारायणगढ़ चीनी मिल बनोंदी में क्षेत्र के लगभग 4500 किसानों के गन्ने की करीब सौ करोड़ रुपये 2018-2019 सत्र का बकाया है, जिसके लिए किसान जनवरी माह से ही संघर्ष कर रहे हैं। बावजूद इसके किसानों के गन्ने की बकाया पेमेंट न देकर सिर्फ आश्वासन ही दिया जा रहा है। इसी के चलते किसानों ने अपने संघर्ष को तेज करते हुए गत 22 अगस्त से नदी के पानी में बैठकर जल सत्याग्रह आंदोलन शुरू कर दिया। आंदोलन के पहले दिन तो प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा आंदोलन स्थल पर पहुंचकर किसानों को समझाने की कोशिश की गई, परन्तु दूसरे दिन कोई सुध लेने नहीं पहुंचा। आंदोलन के तीसरे दिन एसडीएम नारायणगढ़ मीनाक्षी दहिया व डीएसपी अमित भाटिया सरकार का संदेश व एक पत्र का हवाला देते हुए किसानों को समझाने पहुंचे थे, लेकिन किसान गन्ने की पेमेंट पर ही अड़े रहे। मीटिग में कोई ठोस बात नहीं हुई तो वापस आ जाएंगे : विनोद

आंदोलन के चौथे दिन सुबह साढ़े नौ बजे किसान अर्धनग्न हो नदी के पानी में बैठ गए। आंदोलन के तीसरे दिन भाकियू (चढूनी ग्रुप) के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह तो आंदोलन स्थल पर नहीं पहुंचे, परन्तु उनके न आने के बाद भी जिलाध्यक्ष मलकीत सिंह व किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष विनोद कुमार की अगुवाई में आंदोलन जारी रहा। दोपहर 3 बजकर 20 मिनट पर एसडीएम नारायणगढ़ मीनाक्षी दहिया आंदोलन स्थल पर पहुंची और किसानों को बताया कि सोमवार को सुबह 11 बजे मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर के साथ मीटिग रखी गई है। इसके बाद विनोद कुमार व भाकियू (चढूनी ग्रुप) के पदाधिकारियों ने किसानों से बातचीत करते हुए कहा कि सोमवार को सुबह 11 बजे चंडीगढ़ में खुल्लर के साथ गन्ने की बकाया पेमेन्ट के लिए मीटिग होना तय हुआ है। उन्होंने कहा कि मीटिग में निर्णय किसानों से बात करने के बाद ही लिया जाएगा। इस पर किसानों ने सहमति जताते हुए कहा कि यहां पर आंदोलन जारी रहेगा। विनोद कुमार ने कहा कि अगर मीटिग में कोई ठोस बात होगी तो ठीक है नहीं तो वह वापस आ जाएंगे और अपना आंदोलन जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि पांच सदस्यीय कमेटी में भाकियू(चढूनी ग्रुप)प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी, रमेश राणा, किसान संघर्ष समिति अध्यक्ष विनोद कुमार राणा, मलकीत सिंह साहबपुरा व फकीर चन्द बुढाखेडा मीटिग में जाएगें। इन्होंने दिया समर्थन

गन्ना किसानों के आंदोलन के चौथे दिन कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष डॉ.अशोक तंवर, रामकिशन गुज्जर, रजनीश शर्मा, अशोक महता, धर्मवीर ढींढसा, रामसिंह कोडवा, वरुण चौधरी मुलाना ने भी किसानों को समर्थन देते हुए कहा कि हम साथ हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.