संदिग्ध बीमारी से युवक की मौत, 35 लोगों के ब्लड सैंपल भरे

संवाद सहयोगी, बराड़ा: गांव उगाला में संदिग्ध डेंगू से प्रिस की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया। पांच टीमों ने गांव का दौरा किया कर डेढ़ घरों में जांच की और 35 लोगों के खून के नमूने लिए। इस टीमों में डीजी पंचकूला की ओर से दो टीमों, डब्लूएचओ, जिला स्वास्थ्य विभाग व सीएचसी बराड़ा के डाक्टरों की टीमों ने डोर टू डोर सर्वे किया। टीमों ने मृतक प्रिस के मोहल्ले में रहने वाले 35 लोगों के रक्त के नमूने एकत्रित किए। लेकिन इन लोगों के रक्त को टीम ने सही पाया। टीमों ने नालियों में एंटी लारवा का छिड़काव करवाया और इलाके में फोगिग करवाई।

---------------------

डेंगू से नहीं हुई प्रिस की मौत

गांव में जांच करने पहुंची पांचों टीमों ने कहा कि प्रिस की मौत डेंगू से नहीं हुई। टीम ने कहा प्रिस की मौत सक्रबटाइफस नामक वायरस के कारण हुई है। चिकित्सक डॉ. भारत ने बताया कि यह वायरस इस एरिया में नहीं पाया जाता है। यह अधिकतर पहाड़ी एरिया में मिलता है। वहीं टीम को जानकारी मिली है कि मृतक प्रिस थाना छप्पर एरिया में अपने किसी रिश्तेदार के यहां रहता था और वहीं पर बीमारी की हालत में उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

-----------------------

ये लक्षण है सक्रबटाइफस वायरस के

चिकित्सक डॉ. भारत ने बताया कि यह वायरस पहाड़ी एरिया में अधिकतर पाया जाता है। इसके लक्षण बदन दर्द, बुखार, मितली, उल्टी, हाथ-पांवों व मांसपेशियों में दर्द आदि होते है। सामान्यत: लोग इन्हें डेंगू मान लेते हैं।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.