मानसून की बारिश में शहर हुआ जलमग्न

जिले में रविवार को हुई 28.6 एमएम बारिश में ही शहर जलमग्न दिखने लगा। यह हालात तब है जब अभी मानसून पूरी तरह से एक्टिव भी नहीं हुआ है। रविवार को ट्विन सिटी की सड़कों पर जलभराव दिखाई दिया जबकि बारिश रुकने के काफी देर के बाद भी पानी की निकासी नहीं हो पाई।

JagranMon, 14 Jun 2021 06:20 AM (IST)
मानसून की बारिश में शहर हुआ जलमग्न

जागरण संवाददाता, अंबाला : जिले में रविवार को हुई 28.6 एमएम बारिश में ही शहर जलमग्न दिखने लगा। यह हालात तब है जब अभी मानसून पूरी तरह से एक्टिव भी नहीं हुआ है। रविवार को ट्विन सिटी की सड़कों पर जलभराव दिखाई दिया, जबकि बारिश रुकने के काफी देर के बाद भी पानी की निकासी नहीं हो पाई। अंबाला कैंट के कुछ बाजारों में यही हालात दिखाई दिए। ट्विन सिटी में अभी कई विकास कार्य चल रहे हैं। इन कार्यो के चलते कई स्थानों पर सड़कों को खोदा गया है। मानूसन में यह सबसे बड़ी सिरदर्दी रहेगी। दूसरी ओर मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर हरियाणा में मानसून एक्टिवेट हो चुका है, जबकि यह आगे और तेजी पकड़ेगा।

कैंट की अपेक्षा में शहर में ज्यादा बारिश हुई। बावजूद इसके क्रास रोड नंबर एक पर नगर परिषद की दुकानों के बाहर सड़क पर जलभराव रहा। नगर परिषद अंबाला सदर की ओर जाने वाली सड़क को एक ओर से खोदा गया है, जहां पर जलभराव रहा। इसी तरह बीडी स्कूल के आसपास भी जलभराव की समस्या रही। इसके अलावा सब्जी मंडी चौक से सदर बाजार की ओर भी यही हालात देखने को मिले। यहां पर दुकानदारों की मानें तो बरसाती पानी थड़ों के लेवल तक आ गया था। यदि बारिश थोड़ी देर और होती, तो दिक्कत बढ़ सकती थी। इसके अलावा अंबाला कैंट के सिसिल होटल क्षेत्र में भी बरसाती पानी भर गया।

--------------- नालों पर थड़े, नहीं होती सफाई

ट्विन सिटी के बाजारों में नालों पर थड़े बनाए गए हैं, जिसकी वजह से भीतरी नालों की सफाई नहीं हो पाती। यही कारण है कि तेज बरसात में सड़कों पर पानी भर जाता है, जबकि इसकी निकासी धीरे-धीरे होती है। यह स्थिति कई सालों से इसी तरह बनी हुई है। हालांकि आठ बड़ी ड्रेनों की सफाई का दावा किया जा रहा है, जबकि डेढ़ सौ के करीब छोटे नाले परेशानी बन सकते हैं।

---------------- रेलवे ट्रैक के नीचे भरा पानी, सेक्टरों का रास्ता बंद

इंको चौक के नजदीक रेलवे अंडर पास में बरसाती पानी भरने से सेक्टरवासियों को शनिवार काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। सेक्टर नौ, हाउसिग बोर्ड नौ, लक्ष्मी नगर, वाटिका, सेक्टर आठ, सेक्टर दस और परशुराम नगर समेत, माडल टाउन, प्रेम नगर, विकास विहार, मनाली हाउस, सेक्टर सात और सेक्टर एक के लोगों को ढाई से तीन किलोमीटर अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ी। जिन लोगों ने अपने दो पहिया या चार पहिया वाहन निकालने का प्रयास किया, उन्हें अपने वाहन निकालने में बड़ी मशक्कत झेलनी पड़ी। यहां लगभग ढाई से तीन फीट पानी जमा हो गया। जो भी वाहन चालक अंडरब्रिज के नीचे से गुजरने का प्रयास करे उनके वाहन बीच पानी में ही बंद होते रहे। इसके बाद लोगों को अपने वाहन धक्के लगाकर बाहर निकालने पड़े। जंडली के पास ओल्ड दिल्ली रोड के एक बड़े हिस्से में पानी भर गया। इसी तरह नाहन हाउस, जगाधरी गेट, न्यू शिवालिक कालोनी, शालीमार कालोनी, सब्जी मंडी की सड़कों पर भी जलभराव देखने को मिला।

------------- यह कहना है मौसम विभाग का

चंडीगढ़ मौसम विभाग के विशेषज्ञ शिवेंद्र कुमार का कहना है कि उत्तर हरियाणा के कुछ हिस्सों में मानसून एक्टिवेट हो चुका है। जल्द ही यह और तेजी पकड़ेगा। इस बार मानसून सामान्य रहने की उम्मीद है। मौसम विभाग का अनुमान है कि आने वाले तीन दिनों में बरसात अथवा बूंदाबांदी की संभावनाएं हैं। इसके बाद आसमान साफ रहेगा।

------------ नालों की सफाई के लिए टीमें बनाई गई हैं, जो सफाई कार्य में जुटी हैं। इनकी मानिटरिग की जा रही है। जहां नालों पर थड़े हैं, उनको नोटिस देकर इन्हें हटाकर नालों की सफाई के आदेश दिए गए हैं। जहां पर जलभराव की स्थिति है, वहां पर पंप के जरिये निकासी की जाती है। मानसून से पहले सारी व्यवस्थाएं पूरी कर ली जाएंगी।

- धीरेंद्र खडगटा, जिला नगर आयुक्त

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.