जमीन दिलाने के नाम पर 48 लाख रुपये की ठगी, स्टोन क्रमश में हिस्सेदारी का दिया था लालच

जमीन दिलाने के नाम पर 48 लाख रुपये की ठगी, स्टोन क्रमश में हिस्सेदारी का दिया था लालच

यमुनानगर के ब्लॉक बिलासपुर के गांव अराइयांवाला निवासी ओमप्रकाश ने अपने बेटे मनजीत सिंह व एक अन्य व्यक्ति सतनाम राज के साथ मिलकर अंबाला पुलिस में सब इंस्पेक्टर रहे अपने दोस्त स्वर्गीय जनक सिंह के बेटे हरमीत सिंह को जमीन दिलाने के नाम पर 48 लाख रुपये हड़प लिये।

Publish Date:Mon, 18 Jan 2021 07:35 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, अंबाला शहर : यमुनानगर के ब्लॉक बिलासपुर के गांव अराइयांवाला निवासी ओमप्रकाश ने अपने बेटे मनजीत सिंह व एक अन्य व्यक्ति सतनाम राज के साथ मिलकर अंबाला पुलिस में सब इंस्पेक्टर रहे अपने दोस्त स्वर्गीय जनक सिंह के बेटे हरमीत सिंह को जमीन दिलाने के नाम पर 48 लाख रुपये हड़प लिये। जबकि दोनों में गहरी दोस्ती थी और घर पर आना-जाना लगा रहता था। आरोपित उसे पैसे वापस न देकर अब स्टोन क्रशर में हिस्सा डालने का दबाव बना रहे थे, जबकि हरमीत इस चक्कर में पड़ना नहीं चाह रहा था। बार-बार पैसे वापस मांगने पर जब कोई समाधान नहीं निकला तो पीड़ित ने बलदेव नगर थाना पुलिस का दरवाजा खटखटाया। बलदेव नगर थाना पुलिस ने शिकायत पर तीनों आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी व जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज किया है।

-------

परिवार के लोग चाहते थे जमीन पर कब्जा

शिकायतकर्ता हरमीत सिंह के मुताबिक उसके पिता जनक सिंह की सड़क दुर्घटना में साल 2007 में मौत हो गई थी। उसके पिता की गांव अराइयांवाला चार एकड़ जमीन थी जिस विरासत का इंतकाल मेरी माता गुरमीत कौर के नाम दर्ज हो गया था। लेकिन उस जमीन पर मेरे दादा के भाई के बेटे जबरदस्ती कब्जा करना चाहते थे। उधर, आरोपित ओम प्रकाश का घर पर आना जाना था। इस पर ओमप्रकाश ने हरमीत सिंह से कहा तुम अपनी जमीन को बेच दो। इसके बाद खुद ओमप्रकाश ने उनकी जमीन को 66 लाख रुपये में खरीद ली थी।

-------

इस तरह से करते रहे ठगी

हरमीत सिंह के मुताबिक आरोपित ओमप्रकाश उसके पास आया और कहने लगा तुम्हारी जमीन का झगड़ा समाप्त हो गया है इसके बदले अब वह उसे अच्छी जमीन दिलवा देगा। पारिवारिक संबंध होने के कारण परिवार के लोग ओमप्रकाश की बातों में आ गए। इसके बाद हरमीत सिंह ने आरोपित ओमप्रकाश व मनजीत सिंह के कहने अनुसार 10 लाख रुपये, 44 हजार रुपये, 8,34,500, 15 लाख रुपये की आरटीजीएस व चैक के माध्यम से कुल 48 लाख रुपये जमा करवा दिए। राशि जमा करवाने के बाद भी आरोपितों ने हरमीत सिंह को जमीन नहीं दिलवाई तथा काफी दिनों तक टालमटोल करते रहे।

------- हरमीत ने साझेदारी करने से किया था मना

पुलिस को दिए बयान में हरमीत सिंह बताया कि वह उसे पैसे वापस नहीं दे सकते। ऐसे में तुम हमारे स्टोर क्रशर में अपना हिस्सा डाल दो। हरमीत सिंह ने साझेदारी करने से मना कर दिया। इसके बाद आरोपितों ने पीड़ित को जान से मारने की धमकी देकर पैसे वापस देने से मना कर दिया। हरमीत सिंह का आरोप है जिस वक्त आरोपित ओमप्रकाश ने उससे जमीन खरीदी थी तब धोखे से फार्म हाउस भी रजिस्ट्री में लिखवा दिया था जबकि इसका कोई सौदा नहीं हुआ था।

------

वर्जन

मामले में शिकायत मिल चुकी है। तीन आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। मामले में तफ्तीश चल रही है।

-सुरिद्र कुमार, जांच अधिकारी, बलदेव नगर थाना

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.