Cyclone Tauktae Update: गुजरात में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश, कई पेड़ गिरे

चक्रवात गुजरात के बीच दीव तथा महुआ के समुद्री तट पर टकराने की आशंका है

Cyclone Tauktae Update गुजरात में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश शुरू हो रही है। गिर सोमनाथ में बड़ी संख्या में पेड़ गिर गए हैं। सौराष्ट्र वह दक्षिण गुजरात के समुद्री तट पर सौ से 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं।

Priti JhaMon, 17 May 2021 11:08 AM (IST)

अहमदाबाद, जागरण संवाददाता। चक्रवात टाक्टे के चलते सौराष्ट्र सहित पूरे गुजरात में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश शुरू हो रही है। गिर सोमनाथ में बड़ी संख्या में पेड़ गिर गए हैं। सौराष्ट्र वह दक्षिण गुजरात के समुद्री तट पर सौ से 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं। अगले दो घंटे में चक्रवात गुजरात के तट से टकरा सकता है। मौसम विभाग ने इंटरनेट मीडिया के जरिए इसकी सूचना दी है। टाक्टे चक्रवात तेजी से गुजरात के तट की ओर बढ़ रहा है। अगले दो घंटे में उसके गुजरात के महुआ के पास तट से टकराने की आशंका है। चक्रवात के कारण भावनगर, अमरेली, जूनागढ़ तथा पोरबंदर जिले सबसे अधिक प्रभावित होने की आशंका है। यह सभी सौराष्ट्र इलाके में आते हैं। अहमदाबाद में भी तेज हवाओं के साथ भारी बारिश शुरू हो गई है। दीव में 120 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही है। सौराष्ट्र के समुद्र तट पर बसे शहर व ग्रामीण इलाकों में चक्रवात का जोरदार असर देखा जा रहा है। यहां 80 से 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से यहां तेज हवाएं चलने लगी हैं तथा बारिश शुरू हो गई।

अरब सागर से उठे चक्रवात को मौसम विभाग ने अत्यंत तीव्र चक्रवात बताते हुए इसके गुजरात के महुवा तट से टकराने की संभावना बताई है। चक्रवात 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गुजरात की ओर बढ़ रहा है। राज्य के सभी बंदरगाहों पर व संबंधित जिलों में समुद्र किनारे खतरे के निशान लगाए गए हैं। राजस्व व गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज कुमार ने बताया कि समुद्र में अब गुजरात की एक भी बोट नहीं है। 19811 बोट समुद्र से लौट चुकी है। समुद्री किनारों पर बसे गांव के करीब दो लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है तथा 11,000 नमक मजदूरों को भी निचले इलाकों से हटाकर सुरक्षित जगह भेजा गया है। मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की चेतावनी दी गई है तथा राज्य सरकार के उच्च अधिकारी चक्रवात टाक्टे पर बराबर नजर बनाए हुए हैं। पांच जिलों में तूफाने के सबसे अधिक असर की आशंका है। इसमें भावनगर, जूनागढ़, देवभूमि, द्वारका गिर, सोमनाथ, अमरेली शामिल हैं। इस बीच, पीएम नरेंद्र मोदी ने तूफान को लेकर सीएम विजय रूपाणी से बात की है।

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी नहीं बताया कि गुजरात के समुद्री किनारे पर चक्रवात की लैंडफॉल प्रक्रिया शुरू हो गई है। डेढ़ से दो घंटे में चक्रवात अपनी पूरी ताकत के साथ गुजरात के समुद्री तट से टकराएगा। दीव तथा ऊना के बीच इसके टकराने की संभावना है। चक्रवात की समुद्री तट से टकराने की एक घंटे बाद तक तेज हवाओं का असर रहेगा। राज्य सरकार संबंधित जिलों के कलेक्टर व अन्य अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं। मुख्यमंत्री रूपाणी ने बताया कि मध्य रात्रि करीब 1:00 बजे तक चक्रवात का असर रहेगा। आपातकाल स्थिति से निपटने के लिए लोगों को एअरलिफ्ट करने के लिए सरकार ने वायु सेना से भी सतर्क रहने को कहा है। केंद्र सरकार के साथ गुजरात सरकार पूरी तरह संपर्क में है तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गृहमंत्री अमित शाह सहित कई अधिकारी गुजरात में चक्रवात को लेकर सतत संपर्क में है। पल-पल की अपडेट लेने के साथ को हर संभव मदद व साधन उपलब्ध करा रहे हैं।

इससे पहले मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने भी आला अधिकारियों के साथ चक्रवात को लेकर गुजरात के 17 जिलों पर होने वाले संभावित असर की समीक्षा की। मुख्यमंत्री रूपाणी ने उच्च अधिकारियों के साथ संबंधित जिला कलेक्टरों से भी वीडियो कांफ्रेंस के जरिए चर्चा की। मौसम विभाग ने इस चक्रवात को अत्यंत तीव्र बताते हुए इसको लेकर हर घंटे एक बुलेटिन जारी करने का फैसला किया है, ताकि प्रदेश के लोगों को इस की वस्तु स्थिति के बारे में जानकारी मिलती रहे। चक्रवात लगातार गुजरात की ओर बढ़ रहा है तथा उसके खंभात की खाड़ी के पास भावनगर जिले में महुवा समुद्री तट पर टकराने की पूरी पूरी संभावना है। सरकार ने 17 प्रभावित जिलों में एनडीआरएफ की 44 तथा एसडीआरएफ की 11 कंपनियां तैनात कर दी है। इसके अलावा वायु सेना नौसेना तथा सेना को भी तैयार रहने को कहा गया है।

सौराष्ट्र व दक्षिण गुजरात पर चक्रवात का सबसे अधिक असर होगा। पूरे गुजरात में पिछले 24 घंटे में वातावरण में तेजी से बदलाव आया है। तेज हवाओं के साथ अहमदाबाद, सूरत, जामनगर, भावनगर, पोरबंदर आदि शहरों में भारी बारिश हुई। मौसम विभाग ने चक्रवात के कारण समुद्र में ज्वार आने की भी आशंका जताई है। साथ ही. इस दौरान तीन से चार मीटर की ऊंची लहरें उठने की संभावना है। राजकोट सहित सौराष्ट्र में हजारों होर्डिंग उतरवा दिए गए हैं। प्रशासन ने लोगों से मोबाइल फोन की बैटरी पूरी चार्ज रखने के निर्देश दिए हैं। 

रेल सेवाएं निरस्त

अजमेर संवाद सूत्र के मुताबिक, गुजरात के तटीय क्षेत्र में तूफान टाक्टे की चेतावनी के कारण तथा कम यात्री भार को देखते हुए अनेक रेल सेवाएं निरस्त कर दी गई हैं।

रद रेलसेवाएं (प्रारंभिक स्टेशन से)

गाड़ी सं. 09617, मदार जं-उदयपुर स्पेशल 18 मई.2021 व 19 मई 2021 को। गाड़ी सं. 09618, उदयपुर-मदार जं स्पेशल 18 मई .2021 व 19 मई 2021 को। गाड़ी सं. 09437, मेहसाना-आबू रोड स्पेशल 18.05.2021 व 19 मई .2021 को। गाड़ी सं. 09438, आबू रोड-मेहसाना स्पेशल 19 मई 2021 व 20.मई 2021 को। गाड़ी सं. 09615, अजमेर-मारवाड़ स्पेशल 18 मई .2021 व 19 मई 2021 को। गाड़ी सं. 09616, मारवाड़-अजमेर स्पेशल 19 मई .2021 व 20 मई 2021 को।

यात्री भार कम होने के कारण रद रेलसेवाएं

गाड़ी सं. 04801, जोधपुर-इंदौर स्पेशल 19 मई 2021 से आगामी आदेश तक। गाडी सं. 04802, इंदौर-जोधपुर स्पेशल 20 मई 2021 से आगामी आदेश तक।

फेरों में कमी (प्रारंभिक स्टेशन से)

गाड़ी संख्या 09613, अजमेर-अमृतसर स्पेशल 19 मई .2021 से आगामी आदेश तक सप्ताह में 2 दिन के स्थान पर बुधवार को संचालित होगी। गाड़ी संख्या 09614, अमृतसर-अजमेर स्पेशल 23 मई 2021 से आगामी आदेश तक सप्ताह में 2 दिन के स्थान पर रविवार को संचालित होगी। गाड़ी संख्या 09611, अजमेर-अमृतसर स्पेशल 22 मई 2021 से आगामी आदेश तक सप्ताह में 2 दिन के स्थान पर शनिवार को संचालित होगी। गाड़ी संख्या 09612, अमृतसर-अजमेर स्पेशल 20 मई 2021 से आगामी आदेश तक सप्ताह में 2 दिन के स्थान पर गुरुवार को संचालित होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.