Cyclone Tauktae: महाराष्ट्र में भारी तबाही मचाकर गुजरात के तट से टकराया तूफान टाक्टे

महाराष्ट्र में भारी तबाही मचाकर गुजरात के तट से टकराया तूफान टाक्टे। फाइल फोटो

Cyclone Tauktae चक्रवात टाक्टे सोमवार रात करीब नौ बजे गुजरात के तट से टकरा गया। इससे पहले इस समुद्री तूफान ने दिन भर महाराष्ट्र के कई जिलों में जमकर तबाही मचाई। मुंबई थाणे रायगढ़ और सिंधुदुर्ग में भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण जनजीवन अस्तव्यस्त रहा।

Sachin Kumar MishraMon, 17 May 2021 09:46 PM (IST)

मुंबई/अहमदाबाद, एजेंसियां। Cyclone Tauktae: अत्यंत गंभीर समुद्री तूफान की श्रेणी में पहुंच चुका चक्रवात टाक्टे सोमवार रात करीब नौ बजे गुजरात के तट से टकरा गया। इससे पहले इस समुद्री तूफान ने दिन भर महाराष्ट्र के कई जिलों में जमकर तबाही मचाई। मुंबई, थाणे, रायगढ़ और सिंधुदुर्ग में भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण जनजीवन अस्तव्यस्त रहा। सैकड़ों घर ध्वस्त होने के साथ कई जगह पेड़ उखड़ने और बिजली के खंभे गिरने से संचार सेवाएं व बिजली आपूर्ति लड़खड़ा गई। तूफान के कारण महाराष्ट्र में कम से कम छह लोगों की मौत हो गई। भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण मुंबई का छत्रपति शिवाजी महराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा दिन में 11 बजे से रात आठ बजे तक के लिए बंद कर दिया गया। इस दौरान विभिन्न शहरों से पहुंचे तीन यात्री विमानों को उतरने की इजाजत न देकर वापस लौटा दिया। इसके बाद रात दस बजे के बाद यहां पिर से उड़ानें शुरू कर दी गईं हैं। तूफान के कारण लोकल ट्रेन सेवा भी लड़खड़ा गई। कई सामान्य ट्रेनें पहले ही रद कर दी गई थीं। बांद्रा-वर्ली सी लिंक रूट पर यातायात बंद रखा गया। रात करीब नौ बजे यह तूफान गुजरात के तट पर पहुंच गया।

मौसम विभाग ने दिन में इस तूफान के गुजरात पहुंचने तक हवाओं की रफ्तार 185 किमी प्रति घंटा तक होने की आशंका व्यक्त की थी। टाक्टे से सर्वाधिक तबाही गुजरात में होने की आशंका पर एनडीआरएफ और सेना की टीमें पूरी तैयारी के साथ मुस्तैद हैं। वायुसेना ने सोमवार को विशेष विमानों से एनडीआरएफ की कुछ और टीमों व उपकरणों को कोलकाता से अहमदाबाद पहुंचाया। सेना ने भी अपनी करीब 180 टीमें और इंजीनियर लगा रखे हैं। प्रशासन ने 17 जिलों में निचले तटवर्ती क्षेत्रों से करीब डेढ़ लाख लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया है।समुद्र में फंसे लोगों को निकालने में जुटी नौसेना टाक्टे के कारण मुंबई में सोमवार को दिन भर भारी बारिश और तेज हवाएं चलती रहतीं। इसके कारण समुद्र में चार मीटर तक ऊंची लहरें उठती देखी गईं। बांबे हाई के पास समुद्र में दो बजरों (बार्ज) में सवार 400 से अधिक लोग तूफान में फंस गए। इन्हें सुरक्षित निकालने के लिए नौसेना ने अपने तीन पोत लगाए हैं। ये लोग ओएनजीसी के कर्मचारी बताए गए हैं।

114 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चली हवाएं

टाक्टे के कारण मुंबई में सोमवार दोपहर बाद हवाओं की रफ्तार 114 किमी प्रति घंटे तक पहुंच गई। हालांकि कोलाबा स्थित मुंबई के मौसम विभाग कार्यालय ने हवा की अधिकतम रफ्तार 108 किमी प्रति घंटा दर्ज की। मौसम विभाग की वरिष्ठ निदेशक शुभांगी भूते ने बताया कि कोलाबा और सांताक्रूज में सुबह आठ बजे से शाम साढ़े चर बजे तक क्रमश: 184 और 186 मिमी बारिश दर्ज की गई।

महाराष्ट्र, गुजरात व गोवा के सीएम से की पीएम ने बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, गुजरात के सीएम विजय रूपाणी, गोवा के सीएम प्रमोद सावंत और दमन और दीव के प्रशासक प्रफुल्ल पटेल से बात कर टाक्टे तूफान से हुई तबाही और उससे निपटने के लिए किए जा रहे उपायों पर चर्चा की। उन्होंने इन राज्यों को केंद्र से पूरी मदद दिए जाने का आश्वासन भी दिया।

तीनों सेनाएं बचाव कार्य में पूरा सहयोग दें: राजनाथ

इस बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एक उच्चस्तरीय बैठक कर तीनों सेनाओं को टाक्टे से प्रभावित लोगों की मदद केलिए पूरा सहयोग देने का निर्देश दिया है। उन्होंने तूफान से निपटने के लिए सेनाओं द्वारा की गई तैयारियों का भी जायजा लिया। इस वर्चुअल बैठक में चीफ आफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, रक्षा सचिव अजय कुमार, नौसेना प्रमुख करमबीर सिंह, वायुसेना अध्यक्ष एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया और सेनाध्यक्ष एमएम नरवणे शामिल हुए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.