देश में प्रतिवर्ष कैंसर के 12 लाख नये मरीज- महिलाओं में सर्वाधिक ब्रेस्ट कैंसर

अहमदाबाद, जेएनएन। कैंसर वह रोग है जिसे सुनते ही मनुष्य मौत के बारे में विचार कर सिहर सा जाता है। लेकिन ऐसा नहीं है। प्रथम चरण में इसकी चिकित्सा सम्भव है। तीसरे और आखिरी चरण में ही यह लाइलाज होता है। एक अध्ययन के अनुसार भारत में मुँह के कैंसर के सर्वाधिक मरीज गुजरात के अहमदाबाद शहर में है। विश्व में मुंह के कैसर के जितने मरीज है उनमें एक तिहाई मरीज भारत में है।

वहीं देश में कैंसर के जितने मरीज है उनमें 30 प्रतिशत केवल मुंह के कैंसर के हैं। उसमें भी हैरत में डालने वाली बात यह है कि सबसे अधिक मरीज अहमदाबाद में हैं। अहमदाबाद में आयोजित दो दिवसीय कैंसर कन्क्लेव में कैंसर के विशेषज्ञों ने इसकी स्पष्टता की है।

अहमदाबाद में 16 फरवरी से दो दिवसीय इण्डिया कैंसर कॉफ्रेंस का आयोजन किया गया है। इसमें देश के 100 डॉक्टर्स हिस्सा ले रहे हैं। डाक्टर्स के अनुसार भारत में प्रतिवर्ष कैंसर के औसतन 12 लाख मरीज इस बीमारी से ग्रस्त होते हैं। इनमें पुरूषों में मुंह और महिलाओं में ब्रेस्ट के मरीज अत्यधिक होते है। डॉ. शिरीष अलुरकर के अनुसार अहमदाबाद ऑरल कैंसर का हेड क्वार्टर बन गया है।

उन्होंने कहा कि गुटका और सिगरेट के उपयोग से ऐसा हुआ है। भारत में ओरल कैंसर के जितने मामले दर्ज होते है उसमें अहमदाबाद में सबसे अधिक है देश में कैंसर के जितने मरीज है, उनमें 40 प्रतिशत को ब्रेस्ट कैंसर होता है। महिलाओं में अब नवजात शिशिओं को स्तनपान कराने की संख्या सतत कम होती जा रही है। इसी कारण ब्रेस्ट कैंसर में भी वृद्दि हुई है। महिलाओं को माता बनने के बाद तकरीबन छह महीने तक स्तनापान कराना चाहिए।

भारत में गत 10 वर्षों में कैंसर के मरीजों में वृद्दि हो रही है। प्रतिवर्ष महिला मरीजों की तुलना में पुरूष मरीजों की मौत अधिक होती है। भारत में कार्डियो वास्क्यूलर रोग के बाद मृत्यु का दूसरा सर्वाधिक कारण कैंसर है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.