Squid Game के बाद अब कोरियन सीरीज हेलबाउंड दुनियाभर में मचा रही धमाल, पहले नहीं देखी होगी ऐसी कहानी

हेलबाउंड एक माइथोलॉजिकल थ्रिलर ड्रामा है जिसकी कहानी धार्मिक अंधविश्वास की वजह से समाज में पैदा होने वाली विसंगतियों को हाइलाइट करती है। सीरीज का ट्रीटमेंट ऐसा है कि पूरा सीजन देखे बिना करार नही आएगा। कहानी के केंद्र में एक रहस्मयी धार्मिक संस्था न्यू ट्रुथ है।

Manoj VashisthMon, 29 Nov 2021 09:18 PM (IST)
Hellbound leaves behind Squid Game. Photo- Instagram

नई दिल्ली, जेएनएन। नेटफ्लिक्स पर सितम्बर में रिलीज हुई कोरियन वेब सीरीज स्क्विड गेम का खुमार अभी उतरा भी नहीं कि एक और कोरियन वेब सीरीज प्लेटफॉर्म पर धमाल मचा रही है। यह सीरीज है हेलबाउंड (Hellbound) 19 नवम्बर को प्लेटफॉर्म पर स्ट्रीम हुई थी। सीरीज का ऐसा जादू चला कि 22 नवम्बर से अगले छह दिनों तक नम्बर एक पोजिशन पर रही। भारत में भी सीरीज खूब देखी जा रही है और अभी भी टॉप 10 शोज की लिस्ट में तीसरे नम्बर पर बनी हुई है। पहले दो स्थानों पररजनीकांत की फिल्म अन्नाते ने कब्जा किया हुआ है। पहले पर तमिल और दूसरे पर हिंदी वर्जन है। वहीं, धमाका चौथे और स्क्विड गेम पांचवें स्थान पर है। 

क्या है हेलबाउंड की कहानी

हेलबाउंड एक सुपरनेचुरल थ्रिलर ड्रामा है, जिसकी कहानी धार्मिक अंधविश्वास की वजह से समाज में पैदा होने वाली विसंगतियों को हाइलाइट करती है। सीरीज का ट्रीटमेंट ऐसा है कि पूरा सीजन देखे बिना करार नही आएगा। कहानी के केंद्र में एक रहस्मयी धार्मिक संस्था न्यू ट्रुथ है। सिओल में कुछ सुपरनेचुरल गतिविधियां शुरू होती हैं। किसी भी नागरिक को अचानक एक संदेश मिलता है कि तय तारीख को तयशुदा समय पर उसे नर्क भेज दिया जाएगा। सीरीज में इसे भविष्यवाणी या डिक्री बोलते हैं।

भविष्यवाणी के मुताबिक, निर्धारित वक्त पर तीन दैत्याकार गोरिल्ला जैसे क्रीचर आते हैं और उस शख्स को यातना देकर मारने के बाद अपने हाथों से निकलने वाली किरणों से बेहद उच्च ताप पर उसके शरीर को जलाकर खत्म कर देते हैं। यह सब काम सेकंडों में हो जाता है। इस सजा से कोई बच नहीं सकता। व्यक्ति जहां कहीं भी है, ये प्राणी वहां पहुंचकर उसे दंडित करते हैं। इस दैवीय घटना का फायदा न्यू ट्रुथ संस्था उठाती है और जिन लोगों की भविष्यवाणी हुई है, उन्हें पापी घोषित करके सरेआम उनकी निंदा की जाती है और उनके परिवार वालों को शर्मिंदा किया जाता है, ताकि सजा के डर से कोई पाप ना करे और एक निष्पाप समाज की रचना हो सके। यह संस्था वक्त के साथ इतनी मजबूत हो जाती है कि सरकार और प्रशासन भी इनकी कही बात से इनकार नहीं कर सकता।

संस्था के लोग भविष्यवाणी के डर को लोगों में बनाये रखने के लिए उसका लाइव टेलीकास्ट भी करवाते हैं। हालांकि, इसके विरोध में भी सोडो नाम का एक संगठन तैयार हो जाता है, जो न्यू ट्रुथ की अमानवीय गतिविधियों का गुप्त रूप से विरोध करता है और जिन लोगों की भविष्यवाणी हुई है, उनकी पहचान छिपाने में मदद करता है ताकि उनके परिवार को सरेआम शर्मिंदा ना होना पड़े और न्यू ट्रुथ के अनुयायी उन्हें कोई नुकसान ना पहुंचा सकें। 

झट से खत्म हो जाएंगे 6 एपिसोड्स

पहले सीजन में करीब एक घंटे अवधि के 6 एपिसोड्स हैं। हेलबाउंड को कोरियन के साथ हिंदी भाषा में भी स्ट्रीम किया गया है। सीरीज का पहला सीजन अपने पीछे कई सवाल छोड़ गया है। मसल, यह घटना क्यों हो रही है? यह वाकई कोई दैवीय घटना है या आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का डरावना इस्तेमाल? वो प्राणी कहां से आते हैं और हवा में कैसे गायब हो जाते हैं? इसकी वजह से दूसरे सीजन का अब इंतजार किया जा रहा है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.