3rd Stanza: यूरोपियन फ़िल्म फेस्टिवल में पहुंची इंडियन शॉर्ट फ़िल्म, जानें पूरी डिटेल

3rd Stanza: यूरोपियन फ़िल्म फेस्टिवल में पहुंची इंडियन शॉर्ट फ़िल्म, जानें पूरी डिटेल

3rd Stanza इंडियन शॉर्ट फ़िल्म को अब यूरोपिय फ़िल्मफेस्टिवल के लिए नॉमिनेशन मिला है। फ़िल्म की कहानी आज के समय के रिलेशनशिप के इर्द-गिर्द बुनी गई है।

Publish Date:Thu, 09 Jul 2020 04:15 PM (IST) Author: Rajat Singh

 नई दिल्ली, जेएनएन। 3rd Stanza: इस वक्त इंडस्ट्री से लेकर सोशल मीडिया पर नेपोटिज्म और आउटसाइडर बनाम इनसाइडर की बहस चल रही है। हालांकि, इस दौर में कई ऐसे प्लेटफॉर्म हैं, जहां न्यूकमर्स अपने आप को साबित कर रहे हैं। एक ऐसा ही जरिया है शॉर्ट फ़िल्म। इस वक्त ना सिर्फ शॉर्ट फ़िल्में बन रही हैं, बल्कि सुर्खियां भी बटोर रही हैं। एक ऐसी ही शॉर्ट फ़िल्म है 3rd Stanza। इस इंडियन शॉर्ट फ़िल्म को अब यूरोपिय फ़िल्मफेस्टिवल के लिए नॉमिनेशन मिला है।

क्या है कहनी

फ़िल्म की कहानी आज के समय के रिलेशनशिप के इर्द-गिर्द बुनी गई है। ऐसा प्यार जहां, अनिश्चिता, डर की भावना और जोड़-भाग को ज़्यादा स्पेश मिलता है। एक कवि है और एक लाइफस्टाइल ब्लॉगर। दोनों की तीन मुलाकात होती है। दोनों एक दूसरे से बिल्कुल विपरित दिशा वाले लोग हैं और दोनों के बीच कम्यूनिकेशन की कमी है। फ़िल्म 40 मिनट की है और हिंदी में है। 

3rd Stanza - Trailer from Tarun Wadhwa on Vimeo.

Indisches Film Festival Stuttgart 2020: मिला है नॉमिनेशन

यूरोप में होने वाले इंडियन फ़िल्म फेस्टिवल में  3rd Stanza को नॉमिनेशन मिला है। इसके अलावा फ़िल्म को अलग- अगल फेस्टिवल में 10 नॉमिनेशन मिले हैं। फ़िल्म को दादा साहेब फाल्के फ़िल्म, राजस्थान इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल, दिल्ली इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल और इंड्स वैली इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल जैसे फेस्विटल्स में नॉमिशेन भी मिल चुका है। वहीं, अब तक फ़िल्म के हिस्से एक बेस्ट फ़िल्म का अवॉर्ड भी आ चुका है। WUIFF Kolkata 2020 में फ़िल्म ने यह उपलब्धि हासिल की थी। फ़िल्म को तरुण वाधवा ने बनाया है।तरुण इससे पहले फिल्म में चीफ़ एडी और टीवी शोज़ में प्रोड्यूसर रह चुके हैं।

स्टार कास्ट 

फ़िल्म में शाश्वत शर्मा और शक्ति मुख्य भूमिका में हैं। शाश्वत इससे पहले कई टीवी कॉमर्शियल पर नज़र आ चुके हैं। शाश्वत का कहना है कि नेपोटिज़्म के दौर आपको ब्रेक मिलना काफी मुश्किल है। ऐसे में अपने क्राफ्ट को लोगों तक पहुंचाने का यही तरीका है। शॉर्ट फ़िल्म के जरिए अपने टैलेंट को लोगों के सामने रखा जा सकता है।  गौरतलब है कि इससे पहले भी कई शॉर्ट फ़िल्में भी विदेश में अपना जलवा दिखा चुकी है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.