KBC 12 Update: पहले ही सवाल पर कंटेस्टेंट ने खर्च कर दीं 2 लाइफलाइन, अमिताभ बच्चन भी हुए निराश..क्या आपको पता है जवाब?

Photo Credit - Sony Tv Twitter Account
Publish Date:Fri, 23 Oct 2020 10:24 AM (IST) Author: Nazneen Ahmed

नई दिल्ली, जेएनएन। हर सीज़न की तरह ‘कौन बनेगा करोड़पति’ का 12वां सीज़न भी दर्शकों का भरपूर मनोरंजन कर रहा है। इस शो में पूछे जाने वाले सवाल न सिर्फ हॉट सीट पर बैठे कंटेस्टेंट को लखपति या करोड़पति बनाते हैं, बल्कि घर बैठे दर्शकों की नॉलेज भी बढ़ाते हैं। वैसे, ‘कौन बनेगा करोड़पति’ में पूछे जाने वाले सवाल कितने मुश्किल होते हैं ये बात तो आप सभी जानते हैं। भले की शुरुआत थोड़े आसान सवाल से होती है, लेकिन जैसे-जैसे कंटेस्टेंट पड़ाव पार करता जाता है वैसे-वैसे सवाल कठिन होते चले जाते हैं। हालांकि ज्यादातर कंटेस्टेंट्स लाइफलाइन्स का सहारा लेते हुए लखपति तो बन ही जाते हैं।

‘केबीसी 12’ में 22 अक्टूबर के एपिसोड की शरुआत हुई दिल्ली के जय ढोंडे के साथ जिन्होंने गेम तो अच्छा खेला, लेकिन जिस तरह उन्होंने खेल की शुरुआत की उसे देखकर तो ख़ुद अमिताभ बच्चन भी हैरान रह गए। आपने शायद ही कभी देखा होगा कि हॉटसीट पर बैठा कंटेस्टेंट पहले ही सवाल पर दो लाइफ खर्च कर दे। जय ढोंडे ने कुछ ऐसा ही किया। जय ने पहले ही सवाल यानी 1000 रुपए के सवाल पर ही दो लाइफलाइन ले डालीं।

ये था सवाल : इनमें से किस व्यंजन के बारे में कहा जाता है कि इसके 'चार यार' हैं?

सवाल के ऑप्शन थे : पुलाव, बिरयानी, कबाब और खिचड़ी।

ये था सही जवाब :

जय के इस सवाल का उत्तर नहीं पता था इसलिए उन्होंने पहले अपनी वीडियो कॉल लाइफलाइन का इस्तेमाल किया और चाचा जी से बात की, चाचा जी ने इसकी सही जवाब दिया। लेकिन जवाब से जय संतुष्ट नहीं हुए तो उन्होंने दूसरी लाइफलाइन 50/50 भी ले ली। इसके बाद जय ने ‘खिचड़ी’ को लॉक करवाया और यही सही जवाब था। ये देखकर बिग बी भी थोड़ा हैरान रह गए। क्योंकि केबीसी में शायद ही कभी ऐसा हुआ होगा कि कंटेस्टेंट को पहले ही सवाल में दो लाइफलाइन लेने की जरूरत पड़ जाए। आपको बता दें कि जय शो से 3 लाख 20 हजार रुपये की धनराशि जीतकर गए।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.