एक्ट्रेस मुनमुन दत्ता के खिलाफ SC/ST एक्ट के तहत FIR दर्ज, जाति सूचक शब्द का किया था इस्तेमाल

image source: Munmun Dutta official instagram page

टीवी शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा की बबीता जी यानि मुनमुन दत्ता की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। मुनमुन के खिलाफ हरियाणा के हांसी में FIR दर्ज हुई है। ये FIR मुनमुन द्वारा एक वीडियो में जाति विशेष के बारे में टिप्पणी करने के चलते दर्ज हुई है।

Ruchi VajpayeeFri, 14 May 2021 07:50 AM (IST)

नई दिल्ली, जेएनएन। टीवी शो 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' की बबीता जी यानि मुनमुन दत्ता की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। मुनमुन के खिलाफ हरियाणा के हांसी में FIR दर्ज हुई है। ये FIR हाल ही में मुनमुन द्वारा एक वीडियो में जाति विशेष के बारे में टिप्पणी करने के चलते दर्ज हुई है।

जाति विशेष के बारे में की थी टिप्पणी

नेशनल अलायंस फॉर दलित ह्यूमन राइट्स के संयोजक रजत कलसन की शिकायत के बाद एफआईआर दर्ज की गई है। कलसन ने 11 मई को दत्ता के खिलाफ हांसी पुलिस को एक शिकायत दी थी और वीडियो के साथ एक कॉम्पैक्ट डिस्क भी बनाई थी जिसमें उन्होंने अनुसूचित जाति के खिलाफ कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। दत्ता ने एक मेकअप वीडियो में कहा कि वह अच्छी दिखना चाहती थीं और एक विशेष अनुसूचित जाति का उल्लेख करते हुए कहा कि वह उनकी तरह नहीं दिखना चाहती थीं।

ये है पूरा मामला

दरअसल, कुछ वक्त पहले मुनमुन ने एक वीडियो में जाति विशेष के बारे में टिप्पणी की थी। जिसके बाद सोशल मीडिया पर उनका वो वीडियो वायरल हो गया और कई सोशल मीडिया यूजर्स ने एक्ट्रेस के खिलाफ गुस्सा जाहिर किया और उनकी गिरफ्तारी की मांग की।

मुनमुन ने मांगी माफी


मामले के तूल पकड़े ही मुनमुन ने सोशल मीडिया पर माफी मांगी थी। मुनमुन ने एक नोट में लिखा था, 'यह एक वीडियो के संदर्भ में है जिसे मैंने कल पोस्ट किया था। जहां मेरे द्वारा इस्तेमाल किए गए एक शब्द का गलत अर्थ लगाया गया है। यह अपमान, धमकी, या किसी की भावनाओं को चोट पहुंचाने के इरादे से कभी नहीं कहा गया था। भाषा की सीमित जानकारी के कारण, मुझे उस शब्द के अर्थ के बारे में गलत जानकारी थी।' 

हर एक व्यक्ति से माफी मांगना चाहती
 हूं

अपने पोस्ट में मुनमुन ने आगे लिखा था, 'एक बार जब मुझे इसके अर्थ से अवगत कराया गया तो मैंने तुरंत उस भाग को निकाल दिया। मेरा हर जाति, पंथ या लिंग से हर एक व्यक्ति के लिए अत्यंत सम्मान है और हमारे समाज या राष्ट्र में उनके अपार योगदान को मैं स्वीकार करती हूं। मैं ईमानदारी से हर एक व्यक्ति से माफी मांगना चाहती हूं जो शब्द के उपयोग से अनजाने में आहत हुए हैं और मुझे उस के लिए खेद है।'

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.