बेटी काजोल ने ऐसे सेलिब्रेट किया मां तनुजा का 75 वां जन्मदिन, देखें तस्वीरें

मुंबई। आने वाले रविवार यानी 23 सितंबर को वो 75 साल की हो जायेंगी। आज की पीढ़ी उन्हें काजोल की मां और अजय देवगन की सास के नाम से ज्यादा जानती है। हम बात कर रहे हैं अपने दौर की एक बोल्ड और बिंदास अदाकारा तनुजा की। 

बॉलीवुड एक्ट्रेस तनुजा उनका जन्म 23 सितंबर 1943 को मुंबई में हुआ था। पिता कुमारसेन समर्थ एक फ़िल्म डायरेक्टर थे और मां शोभना समर्थ एक कामयाब एक्ट्रेस। उनका पूरा परिवार फ़िल्मों से जुड़ा रहा है। आपको पता ही होगा कि अपने जमाने की मशहूर एक्ट्रेस नूतन उनकी बड़ी बहन थीं। तनुजा ने अपने फ़िल्मी सफ़र की शुरूआत बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट साल 1950 में आई फ़िल्म 'हमारी बेटी के जरिए की थी। बतौर लीड एक्ट्रेस उनकी पहली फ़िल्म ‘छबीली’ थी। साल 1961 में आई फ़िल्म 'हमारी याद आएगी' तनुजा के करियर में एक अहम पड़ाव साबित हुई। तनुजा ने ‘आज और कल’, ‘दो चोर’, ‘दो दूनी चार’, ‘बहारें फिर भी आएंगी’, ‘घराना’, ‘हाथी मेरे साथी’, ‘ज्वेल थीफ’, ‘जीयो और जीने दो’ और ‘प्रेमरोग’ जैसी कई यादगार फ़िल्मों में काम किया। इन्होंने हिंदी ही नहीं मराठी, बंगाली और गुजराती फ़िल्मों में भी काम किया है। उन्हें फ़िल्मफेयर से दो बार बेस्ट स्पोर्टिंग एक्ट्रेस का पुरस्कार मिला। साल 2014 में उन्हें फिल्मफेयर ने लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से भी सम्मानित किया। उनके बारे में हम और जानेंगे पर पहले नीचे तस्वीर में देखिये कि काजोल ने कैसे मनाया अपनी मॉम का बर्थडे।

यह भी पढ़ें: बेटी आराध्या और मॉम के साथ गणपति दर्शन को पहुंची ऐश्वर्या राय बच्चन, देखें तस्वीरें 

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Friends family loved ones ....... a life well spent. A deserving 75th birthday! Pre pre but not any less celebrated ❤️

A post shared by Kajol Devgan (@kajol) on Sep 22, 2018 at 5:50am PDT

कहते हैं बचपन में तनुजा को अपनी मां शोभना समर्थ और दीदी नूतन का इतना अधिक लाड़-प्यार मिला कि वो काफी फ्री सी हो गयी और इसलिए भी 50 के दशक में उन्हें टॉम ब्वॉय का खिताब मिल गया। एक खुलापन झलकता था उनके रवैये से। वे पार्टियों में बोल्ड कपड़े पहनतीं, खुलेआम सिगरेट और शराब पीतीं और इस वजह से उस दौर की ट्रेडिशनल एक्ट्रेसेस से हटकर तनुजा काफी बिंदास मानी जाती थीं। जिसका असर उनकी फ़िल्मी किरदारों में भी दिखा।

देव आनंद की ‘ज्वेलथीफ’ में वैजयंती माला लीड रोल में थी, लेकिन तनुजा पर फ़िल्माया गाना 'रात अकेली है' काफी प्रसिद्ध हुआ था। जो आज भी लोगों को याद है। लेकिन, उनका बोल्ड अंदाज़ भी जब उन्हें सफल अभिनेत्रियों की कतार में नहीं ला सका तब तनुजा ने सेकंड लीड वाले रोल करना शुरू कर दिए। राज कपूर की फ़िल्म ‘प्रेम रोग’ में वे ऐसे ही रोल में थी। बलराज साहनी के बेटे परीक्षित साहनी की पहली फ़िल्म 'पवित्र पापी' में तनुजा ने यादगार परफोर्मेंस दिया। इसके बाद वो भाभी, मौसी और मां के रोल ज्यादा करने लगी। उन्होंने कुछ टीवी सीरियल्स में भी काम किया।

यह भी पढ़ें: ‘स्त्री’ की कमाई 100 करोड़ पार होने पर पूरी टीम ने मनाया जश्न, देखें सक्सेस पार्टी की तस्वीरें

साल 1943 बंगाली डायरेक्टर शोमू मुखर्जी के साथ शादी के बंधन में बंधी तनुजा की दो बेटियां काजोल और तनीषा हैं। शादी के कुछ साल बाद ही तनुजा और शोमू अलग हो गए थे, लेकिन उन्होंने कभी तलाक नहीं लिया। 10 अप्रैल 2008 में बीमारी के कारण शोमू मुखर्जी का निधन हो चुका है। बड़ी बेटी काजोल की चुलबुली और शोखी भरी एक्टिंग में तनुजा की झलक मिलती है। आखिरी बार परदे पर तनुजा साल 2012 में रिलीज़ हुई फ़िल्म ‘सन ऑफ सरदार’ में दिखाई दी थी। इस फ़िल्म में काजोल के पति और तनुजा के दामाद अजय देवगन लीड रोल में थे। काजोल ने अपनी मॉम को बर्थडे विश करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा कि- 

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Happy happy birthday to my super awesome mom who still has the same zest and love for life that she did fifty years back...... a difficult example to follow but the most important influence in my life ! Also in the picture is her grandmother and my great grandmother who was also one of the biggest influences in my life ! Ratanbai Shilotri!

A post shared by Kajol Devgan (@kajol) on Sep 22, 2018 at 9:19pm PDT

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.