Koo ऐप के को-फाउंडर ने किया कंगना रनोट का स्वागत, दूसरे प्लेटफॉर्म को बताया किराए का घर

Photo Credit - Kangana Ranaut Insta Account Photo

कंगना रनोट अपने बायानों को लेकर अक्सर खबरों में छाई रहती हैं। लेकिन इस वक्त कंगना अपने ट्विटर सस्पेंशन की वजह से चर्चा में बनी हुई हैं। पश्चिम बंगाल में हुए चुनाव नतीजों के घोषणा के बाद कंगना ट्विटर पर कुछ ज्यादा ही आक्रामक थीं।

Nazneen AhmedWed, 05 May 2021 01:49 PM (IST)

नई दिल्ली, जेएनएन। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनोट अपने बायानों को लेकर अक्सर खबरों में छाई रहती हैं। लेकिन इस वक्त कंगना अपने ट्विटर सस्पेंशन की वजह से चर्चा में बनी हुई हैं। पश्चिम बंगाल में हुए चुनाव नतीजों की घोषणा के बाद कंगना ट्विटर पर कुछ ज्यादा ही आक्रामक थीं। एक्ट्रेस लगातार बंगाल में नतीजों और नतीजों के बाद राज्य में हुई हिंसा को लेकर कुछ आपत्तिजनक ट्वीट कर रही थीं जिसके बाद 4 मई को कंगना का ट्विटर अकाउंट स्सपेंड कर दिया गया। जिसके बाद तो प्रतिक्रियाओं का दौर शुरू हो गया।

किसी ने ट्विटर के इस फैसले सही बताते हुए खुशी ज़ाहिर की, तो किसी ने उनका अकाउंट वापस एक्टिव करने की मांग की। इन सबके बीच देसी ऐप Koo कंगना के समर्थन में उतर आया है। कू ऐप के को-फाउंडर Aprameya Radhakrishna ने एक्ट्रेस का अपने प्लेटफॉर्म पर स्वागत किया है। Koo ऐप के CEO और को फाउंडर अप्रमेय राधाकृष्णन ने अपने हैंडल पर कंगना रनौट के Koo पोस्ट का स्क्रीनशॉट शेयर किया जिसके साथ उन्होंने लिखा, ‘ये कंगना रनोट का पहला Koo है। उन्होंने सही कहा था कू उनके घर जैसा है और बाकी सब किराए के घर। कंगना की ये बात बिल्कुल सही है’।

 

आपको बता दें कुछ महीने पहले कंगना रनोट ट्विटर पर भी बुरी तरह बरसी थीं। जिसके बाद उन्होंने इंडियन माइक्रो ब्लॉगिंग ऐप Koo ऐप पर अपना अकाउंट बना लिया था। इस बात की जानकारी एक्ट्रेस ने ख़ुद अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए फैंस को दी थी। एक्ट्रेस ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ‘कू ऐप’ का लिंक शेयर किया था जिसके साथ उन्होंने लिखा था ‘ये मेरा कू अकाउंट है। आप मुझे यहां फॉलो करें। मैं अपने सारे दोस्तों की उपस्थिति यहां चाहती हूं। जब भी आप ये ज्वाइन कर लें तो मुझे डायरेक्ट मैसेज करें’। ‘कू ऐप’ पर अपने बायो में कंगना ने ख़ुद को देशभक्त और 'गर्म खून वाली क्षत्रिय महिला' बताया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.