top menutop menutop menu

Meerut Sadhu Lynching Case: मेरठ साधु लिंचिंग मामले पर भड़की कंगना रनोट ने दी ये प्रतिक्रिया

नई दिल्ली, जेएनएनl अपने आलिया ट्वीट में कंगना रनोट ने मेरठ में हाल ही में साधु लिंचिंग पर अपना गुस्सा व्यक्त किया हैंl उन्होंने लिखा है, 'अगर निर्दोष आध्यात्मिक साधुओं की हत्याएं नहीं रुकती हैं, तो उनका अभिशाप इस देश की हर आशा को नष्ट कर देगा।' मेरठ में साधु कांति प्रसाद की अनस कुरैशी नामक व्यक्ति ने अपने सथियों के साथ मिलकर इसलिए हत्या कर दी क्योंकि उन्हें साधु द्वारा पहना गया भगवे रंग का गमछा पसंद नहीं थाl 

कंगना रनोट बॉलीवुड की एक्ट्रेस है और कई फिल्मों में काम कर चुकी हैंl वह अक्सर देश से जुड़े विषयों पर अपनी राय खुलकर रखती हैंl उन्होंने पालघर में हुए साधुओं की जघन्य हत्या पर भी अपनी राय रखी थी और बॉलीवुड में चुप्पी साध कर बैठे कलाकारों को भी जमकर लताड़ा थाl 16 अप्रैल की रात जूना अखाड़ा के दो साधुओं महाराज कल्पवृक्षगिरी और सुशीलगिरि महाराज और उनके ड्राइवर नीलेश तेलगड़े को भीड़ ने लाठी और कुल्हाड़ियों से हमला कर मार दिया, इसमें कई पुलिस अधिकारी भी घायल हो गए। इस साधुओं की हत्या ने न केवल सुर्खियां बटोरीं, बल्कि यह मुद्दा भी बन लिया।

टाइम्स नाउ की ताजा रिपोर्ट के अनुसार निष्पक्ष जांच के लिए मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो को ट्रांसफर करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका भी दायर की गई है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि पालघर साधु लिंचिंग केस में दो अलग-अलग चार्जशीट दायर की गई है। कंगना ने ट्वीट में लिखा है,  'एक और साधु को भगवा रंग पहनने के लिए मार दिया गया, इन संन्यासियों का शाप एक शांतिपूर्ण देश की हर छोटी उम्मीद को नष्ट कर देगीl अगर हम निर्दोष आध्यात्मिक साधकों का आशीर्वाद नहीं लेते हैं, तो हमें भुगतना पड़ेगाl'

कंगना रनोट फिलहाल परिवार और बहन के साथ मनाली में लॉकडाउन में हैं। मणिकर्णिका अभिनेत्री हाल ही में अपने परिवार को पिकनिक पर ले गई थीं। उन्होंने अपने ट्वीट में स्वरा भास्कर पर भी निशाना साधा था। उन्होंने ट्वीट किया था, 'जब दो कौड़ी के लुक्खे गंवार, जो किसी काम के नहीं, शहीदों का मज़ाक उड़ाकर ध्यान खींचते हैं, यह ठीक नहीं है, किसी को भी शहीदों का मजाक उड़ाने की इजाजत नहीं होनी चाहिए, हमारे राष्ट्रीय नायकों का मजाक बनाने के खिलाफ सख्त कानून होने चाहिए।'

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.