Hrithik Roshan-Kangana Ranaut Case: बयान दर्ज कराने क्राइम ब्रांच के पहुंचे ऋतिक रोशन, जानें पूरा मामला

Hrithik Roshan-Kangana Ranaut Case: Hrithik Roshan Reached Crime Branch Office To Record His Statement Against Kangana Ranaut

आपको बता दें कि ऋतिक रोशन को साल 2013-14 में उनके मेल आईडी पर सैकड़ों मेल आए थे। इसी के बाद फिर फेमस वकील महेश जेठमलानी ने मुंबई पुलिस कमिश्नर को इसी संदर्भ में दिसंबर 2020 में एक पत्र लिखा था।

Priti KushwahaSat, 27 Feb 2021 12:35 PM (IST)

नई दिल्ली, जेएनएन। बॉलिवुड एक्टर ऋतिक रोशन और कंगना रनोट का मामला एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। ऋतिक रोशन ने एक्ट्रेस कंगना के खिलाफ एक केसा दर्ज कराया था उसी में अपना बयान दर्ज कराने के लिए मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच की क्राइम इंवेस्टिगेशन यूनिट के लिए निकल गए हैं। एक दिन पहले ही ऋतिक रोशन को इसके लिए मुंबई पुलिस ने 1 दिन समन भेजते हुए 27 फरवरी को पूछताछ के लिए और बयान दर्ज कराने के लिए पेश होने के लिए कहा गया था।

ऋतिक रोशन को ये समन उनके साल 2016 से जुड़े केस में भेजा गया ​है। इसी केस केा महज दो महीने पहले ही CIU को ट्रांसफर कर दिया गया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पहले कंगना रनोट से जुड़े ऋतिक रोशन के इस केस को साइबर पुलिस स्टेशन इनवेस्टिगेशन कर रही थी। वहीं ऋतिक ने 5 साल पहले आईपीसी के सेक्शन 419 और आई ऐक्ट के सेक्शन 66 (सी) और 66 (डी) के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। कंगना रनोट और ऋतिक रोशन का ये विवाद कई महीनों तक सुर्खियों में रहा था। दोनों ने एक दूसरे को कई लीगल नोटिस भेजे थे। यही नहीं कंगना से भी इसी केस में बाद में स्टेटमेंट लिया जा सकता है। 

ये था मामला:

आपको बता दें कि ऋतिक रोशन को साल 2013-14 में उनके मेल आईडी पर सैकड़ों मेल आए थे। इसी के बाद फिर फेमस  वकील महेश जेठमलानी ने मुंबई पुलिस कमिश्नर को इसी संदर्भ में दिसंबर, 2020 में एक पत्र लिखा था। उन्होंने अपने इस पत्र में लिखा था कि अभी तक ऋतिक के मामले में कोई प्रगति नहीं हुई है। उसी के बाद मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने वह केस साइबर सेल से CIU को ट्रांसफर कर दिया था।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.