Taapsee Pannu की फ़िल्म शाबाश मिट्ठू की कमान अब श्रीजीत मुखर्जी के हवाले, राहुल ढोलकिया ने इस वजह से छोड़ी फ़िल्म

राहुल ने सोशल मीडिया के ज़रिए अपना स्टेटमेंट भी जारी किया है। शाबाश मिट्ठू को निर्देशित करने की ज़िम्मेदारी अब श्रीजीत मुखर्जी को सौंपी गयी है जिन्होंने अपनी फ़िल्म राज काहिनी को बेगम जान के नाम से विद्या बालन के साथ हिंदी में रीमेक किया था।

Manoj VashisthTue, 22 Jun 2021 09:32 PM (IST)
Taapsee Pannu practices for Shaabash Mithu. Photo- Twitter

नई दिल्ली, जेएनएन। महिला क्रिकेटर मिताली राज की बायोपिक शाबाश मिट्ठू तापसी पन्नू की बहुप्रतीक्षित फ़िल्मों में शामिल है। इस फ़िल्म का निर्देशन राहुल ढोलकिया कर रहे थे, मगर अब राहुल ने फ़िल्म छोड़ दी है। उन्होंने सोशल मीडिया के ज़रिए इसको लेकर अपना स्टेटमेंट भी जारी किया है और फ़िल्म छोड़ने के पीछे वजह भी बतायी है। 

राहुल ढोलकिया ने क्या कहा!

राहुल के स्टेटमेंट के अनुसार, पैनेडमिक में फ़िल्मों की शूटिंग के शेड्यूल बिगड़ने की वजह से उन्हें यह फ़िल्म छोड़नी पड़ी है- ''कुछ फ़िल्में ऐसी होती हैं, जिन्हें आप जानते हैं कि आपको करनी हैं। शाबाश मिट्ठू वही फ़िल्म थी। कोविड ने हर किसी के शेड्यूल को बिगाड़ दिया। मेरा भी अलग नहीं है। दुर्भाग्यवश, लीजेंडरी क्रिकेटर मिताली राज के जीवन पर प्रिया एवन लिखित और अजीत अंधारे द्वारा सोची गयी इस शानदार स्क्रिप्ट को निर्देशित नहीं कर पाऊंगा।

लॉकडाउन के दौरान हर विमर्श में हमारे साथ बैठने वाले स्टूडियो हेड अजीत अंधारे का जज़्बा और प्रिया की मेहनत प्रशंसनीय है, जिन्होंने स्क्रिप्ट में भावनाओं और क्रिकेट का बेहतरीन संतुलन रखा है। किरदार में ढलने के लिए तापसी के जज़्बे ने उनके साथ काम करने को खुशनुमा बना दिया था। अजीत की फ़िल्म के लिए एक विज़न है। मैं उनकी टीम को शुभकामनाएं देता हूं।''

श्रीजीत संभालेंगे कमान

शाबाश मिट्ठू को निर्देशित करने की ज़िम्मेदारी अब श्रीजीत मुखर्जी को सौंपी गयी है, जिन्होंने अपनी फ़िल्म राज काहिनी को 'बेगम जान' के नाम से विद्या बालन के साथ हिंदी में रीमेक किया था। श्रीजीत की यह पहली हिंदी फ़िल्म थी। बंगाली सिनेमा में श्रीजीत जातिश्वर, चोतुष्कोने, एक जे छीलो राजा और गुमनामी जैसी फ़िल्मों के लिए जाने जाते हैं। नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ हो रही एंथोलॉजी सीरीज़ रे की दो कहानियों फॉरगेट मी नॉट और बहरूपिया का निर्देशन श्रीजीत ने किया है। 

शाबाश मिट्ठू को लेकर श्रीजीत ने कहा- क्रिकेट का शौकीन और रिसर्चर होने की वजह से, मिताली की कहानी मेरे लिए हमेशा प्रेरणादायी रही है। इस फ़िल्म के बारे में जब मैंने पहली बार सुना था, तभी से उत्साहित था। अब जबकि, मैं इसका हिस्सा बन गया हूं तो फ़िल्म के सफ़र को लेकर बेकरार हूं।

इस बदलाव पर वायाकॉम 18 के सीओओ अजीत अंधारे ने कहा- इतने लम्बे समय तक एक सपने को पोसने के बाद राहुल का छोड़कर जाना दुखद है। उनका योगदान मायने रखता है। मैं उनका शुक्रिया अदा करने के साथ उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। श्रीजीत ने हमारे साथ रे में काम किया है और क्रिकेट पर आधारित फ़िल्म बनाने की हमारी योजना इस फ़िल्म के ज़रिए पूरी होगी। फ़िलहाल तापसी पन्नू की फ़िल्म 'हसीन दिलरूबा' नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ हो रही है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.