Bollywood IT Raids: कंगना रनोट ने 650 करोड़ की गड़बड़ी के सबूत मिलने पर कहा- ये सिर्फ़ टैक्स चोर नहीं...

Kangana Ranaut suspects black money. Photo- Instagram

कंगना ने अपने ट्वीट में सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ डायरेक्ट टैक्सेज की प्रेस रिलीज़ भी नत्थी की है जिसमें रेड्स को लेकर जानकारी दी गयी है। कंगना ने इसके साथ सवाल उठाये- ये लोग सिर्फ़ टैक्स चोर नहीं हैं बल्कि काले धन का भी बड़े पैमाने पर लेन-देन हुआ है।

Manoj VashisthThu, 04 Mar 2021 09:18 PM (IST)

नई दिल्ली, जेएनएन। मुंबई में फ़िल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों के पर आयकर विभाग की रेड में लगभग 650 करोड़ रुपये की कर चोरी की आशंका जतायी गयी है। इस खुलासे के बाद कंगना रनोट ने दावा किया कि यह सिर्फ़ टैक्स चोरी का मामला नहीं है, बल्कि काले धन का आदान-प्रदान भी हुआ है। कंगना ने इसको लेकर कुछ सवाल भी उठाये। 

कंगना ने अपने ट्वीट में सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ डायरेक्ट टैक्सेज की प्रेस रिलीज़ भी नत्थी की है, जिसमें रेड्स को लेकर जानकारी दी गयी है। हालांकि, इसमें किसी का नाम नहीं लिया गया है। कंगना ने इसके साथ सवाल उठाये- ये लोग सिर्फ़ टैक्स चोर नहीं हैं, बल्कि काले धन का भी बड़े पैमाने पर लेन-देन हुआ है। क्या उन्हें शाहीन बाग के दंगे और गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा भड़काने के लिए पैसा दिया गया। काला धन कहां से आया और उन्होंने काला धन कहां भेजा, जिसका कोई हिसाब नहीं है? एक दूसरे ट्वीट में कंगना ने लिखा कि जो चोर का साथ देने वाला भी चोर होता है और जिससे चोरों को डर लगता है, वो साधारण मानव नहीं, नरेंद्र मोदी होता है। 

प्रेस रिलीज़ में बताया गया कि इनकम टैक्स विभाग द्वारा 3 मार्च से मुंबई, पुणे और हैदराबाद में दो प्रमुख प्रोडक्शन हाउसेज़, एक अभिनेत्री और दो टैलेंट मैनेजमेंट कंपनी के यहां सर्च और सर्वे ऑपरेशन किया जा रहा है। कुल 28 जगहों पर छापे मारे गये हैं, जिनमें इनके घर और दफ़्तर शामिल हैं। सर्च के दौरान बॉक्स ऑफ़िस कलेक्शंस के मुकाबले प्रोडक्शन हाउस की आय में अनियमितता के सबूत मिले हैं।

कंपनी के अधिकारी लगभग 300 करोड़ की अनियमितता का विवरण देने में असफल रहे। फ़िल्म निर्देशकों और शेयर होल्डर्स के बीच शेयर लेन-देन में 350 करोड़ रुपये की गड़बड़ी के सबूत मिले हैं। वहीं, अभिनेत्री 5 करोड़ की कैश रसीद की जानकारी नहीं दे सकीं। इन सभी मामलों की जांच की जा रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.