Kangana Ranaut On Bombay HC: बॉम्बे उच्च न्यायालय की प्रतिक्रिया देख कंगना रनोट की आंखों में आए आंसू, कही ये बात

कंगना रनोट ने महाराष्ट्र सरकार पर एक बार फिर निशाना साधा हैl
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 04:36 PM (IST) Author: Rupesh Kumar

नई दिल्ली, जेएनएनl बॉम्बे हाई कोर्ट ने बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) के खिलाफ कंगना रनोट की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि वे अभिनेत्री की आंशिक रूप से ध्वस्त संपत्ति को नहीं छोड़ सकतीl इसके बाद 25 सितंबर को मामले की आगे की सुनवाई होगी। इसके बाफ कंगना ने उच्च न्यायालय के माननीय जज के प्रति आभार व्यक्त किया।

कंगना ने लिखा, 'माननीय न्यायमूर्ति HC, मेरी आंखों में आंसू आ गए, मुंबई की बारिश में मेरा घर टूट रहा है, आपकी मेरे मेरे टूटे हुए घर के बारे में करुणा और चिंता मेरे लिए बहुत मायने रखती हैl अब मैं ठीक हूं, जो मैंने खो दिया था, वह सब वापस देने के लिए धन्यवाद।'

खबरों के अनुसार MCGM के वकील भाग्यवंत लाते ने हलफनामा दायर करने के लिए और समय मांगा तो HC ने पाया कि वे आंशिक रूप से ध्वस्त घर को वैसे ही नहीं छोड़ सकते हैं और इसलिए वे कल याचिका पर सुनवाई शुरू करेंगे। पीठ ने बीएमसी को यह कहते हुए फटकार भी लगाई कि उन्हें यहां समय चाहिए, अन्यथा वे अन्य जगहों पर बहुत तेज हैं। संजय राउत के वकील प्रदीप थोराट ने भी अधिक समय मांगा क्योंकि संजय इस समय दिल्ली में हैं औए संसद के चल रहे सत्र में भाग ले रहे है। HC ने दोनों को अपने हलफनामे दाखिल करने के लिए अगले मंगलवार तक का समय दिया।

इसी समय कोर्ट ने पाया कि मानसून का समय है और बंगले को आंशिक रूप से ध्वस्त कर दिया गया है, इसलिए सुनवाई में और देरी नहीं की जा सकती है। कोर्ट ने कंगना के वकील को कल बहस शुरू करने की अनुमति दी। इससे पहले आज कंगना ने महाराष्ट्र सरकार पर एक बार फिर निशाना साधाl दरअसल भिवंडी की इमारत ढहने से मरने वालों की संख्या 38 हो गई है।

यह बताते हुए कि पुलवामा आतंकी हमले के दौरान वीरगति को प्राप्त हुए सैनिकों की संख्या इमारत गिरने से मरने वालों की संख्या के मुकाबले कम थी, उन्होंने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे, शिवसेना सांसद संजय राउत और बीएमसी को इस 'लापरवाही' के लिए दोषी ठहराया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.