बंगाल में कांग्रेस के गठबंधन पर सवाल उठाने वाले आनंद शर्मा ने अधीर रंजन पर किया पलटवार, कही यह बात

गठबंधन पर सवाल उठाने वाले कांग्रेस नेता आनंद शर्मा

बंगाल में आइएसएफ से गठबंधन पर सवाल उठाने वाले कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि मैंने जो कहा है वह मेरी चिंताओं की अभिव्यक्ति है। न केवल मैं कांग्रेस की विचारधारा के लिए दृढ़ता से प्रतिबद्ध हूं जो समावेशी लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष है।

Arun kumar SinghTue, 02 Mar 2021 05:15 PM (IST)

 नई दिल्‍ली, एएनआइ। बंगाल चुनाव में गठबंधन को लेकर कांग्रेस पार्टी के नेता आमने-सामने हैं। आइएसएफ से गठबंधन पर सवाल उठाने वाले कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने अधीर रंजन चौधरी पर पलटवार करते हुए कहा कि उनकी सोच दुर्भाग्‍यपूर्ण है। मैंने जो कहा है, वह मेरी चिंताओं की अभिव्यक्ति है। मैं कांग्रेस की विचारधारा के लिए दृढ़ता से प्रतिबद्ध हूं, जो समावेशी, लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष है। मैं पार्टी के इतिहासकारों और विचारकों में से एक हूं और इसे उस संदर्भ में लिया जाना चाहिए। पार्टी और गांधी परिवार से बगावत के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि बगावत किसके खि‍लाफ। सोनिया गांधी जी के नेतृत्व में हम सब विश्वास करते हैं उनकी प्रशंसा भी करते हैं। आज तक मैंने एक शब्द या एक टिप्पणी भी नेतृत्व के खि‍लाफ नहीं की है। 

सोमवार को आइएसएफ से गठबंधन पर सवाल उठाने वाले आनंद शर्मा ने कहा था कि सांप्रदायिकता के खिलाफ लड़ाई में कांग्रेस चयनात्मक नहीं हो सकती है। हमें सांप्रदायिकता के हर रूप से लड़ना है। पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की उपस्थिति और समर्थन शर्मनाक है, उन्हें अपना पक्ष स्पष्ट करना चाहिए। आईएसएफ और ऐसे अन्य दलों से साथ कांग्रेस का गठबंधन पार्टी की मूल विचारधारा, गांधीवाद और नेहरूवादी धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ है, जो कांग्रेस पार्टी की आत्मा है। इन मुद्दों को कांग्रेस कार्यसमिति पर चर्चा होनी चाहिए थी।

आनंद शर्मा का बिग बॉस कौन : अधीर रंजन चौधरी

ज्ञात हो कि पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा द्वारा इंडियन सेकुलर फ्रंट (आइएसएफ) के साथ कांग्रेस के गठबंधन की आलोचना करने पर बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष व लोकसभा में संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने मंगलवार को फिर पलटवार किया। उन्होंने आरोप लगाया है कि शर्मा पार्टी के हितों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। उनकी टिप्पणी भाजपा के एजेंडे के अनुरूप है। उन्होंने कहा कि हमें आनंद शर्मा के बिग बॉस के बारे में पता है, जिसे वे खुश करना चाहते हैं। अधीर रंजन चौधरी ने कहा,  वे कांग्रेस के चुनिंदा असंतुष्‍टों के समूह से आग्रह करेंगे कि अपने कम्‍फर्ट स्‍पॉट से बाहर निकलें और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करना बंद करें।'

आनंद शर्मा के सवाल पर पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्‍यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा था कि हम राज्य के प्रभारी हैं। बिना किसी भी अनुमति के अपने दम पर कोई फैसला नहीं लेते हैं। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि आइएसएफ के साथ सीटों के बंटवारे पर अब तक उनकी पार्टी की सीधे तौर पर कोई बातचीत नहीं हुई है।

तारिक अनवर ने भी आनंद शर्मा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि इंडियन सेक्‍युलर फ्रंट (ISF) सांप्रदायिक नहीं, धार्मिक संगठन है और इसकी नीतियां सांप्रदायिक नहीं हैं। तारिक अनवर ने यह भी कहा कि आनंद शर्मा को इस मसले पर ट्वीट करने की बजाय सीधे अधीर रंजन चौधरी से बात कर लेनी चाहिए थी। उन्‍होंने कहा कि पार्टी नेताओं को पार्टी मंच पर राय देने का हक है, बाहर नहीं। उन्होंने कहा कि यह पार्टी नेतृत्व पर है कि वो इस सलाह को माने या नहीं। तारिक अनवर ने ISF मुद्दे और पार्टी की अंदरूनी खींचतान को लेकर यह बात कही।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.