Presenting Sponsor:

Tamil Nadu Assembly elections: द्रमुक अध्यक्ष स्टालिन ने ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका को लेकर चुनाव आयोग से की शिकायत

स्टालिन का दावा- परिसरों में संदिग्ध वाहन मंडराते देखे गए जहां ईवीएम रखे गए।

द्रमुक अध्यक्ष एमके स्टालिन ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि कई परिसरों में जहां मतदान में इस्तेमाल हुए ईवीएम स्ट्रांग रूम में रखे थे उन परिसरों में बंद वाहन लाए गए और पार्टी कैडर के विरोध के बाद उन वाहनों को परिसर से बाहर ले जाया गया।

Bhupendra SinghFri, 16 Apr 2021 08:07 PM (IST)

चेन्नई, आइएएनएस। द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के अध्यक्ष एमके स्टालिन ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि ईवीएम के स्ट्रांग रूम के आसपास संदिग्ध वाहन घूमते रहे और वाई-फाई भी एक्टिव रहा।

स्टालिन का दावा- परिसरों में संदिग्ध वाहन मंडराते देखे गए जहां ईवीएम रखे गए

स्टालिन ने शुक्रवार को लिखित शिकायत में दावा किया कि मतदान के बाद उन परिसरों में वाई-फाई एक्टिव दिखे और आसपास संदिग्ध वाहन मंडराते देखे गए जहां मतदान में इस्तेमाल हुए ईवीएम रखे गए थे। द्रमुक नेता ने कहा कि कई परिसरों में जहां मतदान में इस्तेमाल हुए ईवीएम स्ट्रांग रूम में रखे थे, उन परिसरों में बंद वाहन लाए गए और पार्टी कैडर के विरोध के बाद उन वाहनों को परिसर से बाहर ले जाया गया।

स्टालिन ने कहा- परिसरों में कुछ लोगों को लैपटॉप के साथ स्ट्रांग रूम के पास जाने की मिली इजाजत

उन्होंने कोयंबटूर के गर्वमेंट कालेज ऑफ टेक्नोलॉजी, तिरुवलूर स्थित श्री राम इंजीनियरिंग कालेज, चेन्नई स्थित तिरुवलूर एंड लोयोला कालेज में ऐसी गतिविधियां देखी गई हैं। स्टालिन ने कहा कि बंद वाहनों की सुरक्षा में तैनात महिला पुलिस कर्मियों के लिए उपलब्ध कराए गए मोबाइल ट्वायलेट बताया गया था। उन्होंने कहा कि कुछ परिसरों में कुछ लोगों को लैपटॉप के साथ स्ट्रांग रूम के पास जाने की भी इजाजत दी गई थी।

चुनाव आयोग ने डीएमके नेता उधयनिधि स्टालिन को नोटिस जारी किया था

चुनाव आयोग ने एक रैली में पूर्व केंद्रीय मंत्रियों स्वर्गीय सुषमा स्वराज और अरुण जेटली को लेकर दिए गए बयान पर डीएमके नेता उधयनिधि स्टालिन को नोटिस जारी कर 7 अप्रैल तक स्पष्टीकरण मांगा था। बीजेपी का आरोप है कि उधयनिधि स्टालिन ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा था कि सुषमा स्वराज नाम की एक शख्स थी, मोदी के दबाव डाले जाने के कारण उनकी मौत हो गई।

उधयनिधि स्टालिन ने कहा था- पीएम मोदी ने बीजेपी के बड़े नेताओं को साइडलाइन कर दिया

साथ ही कहा कि अरुण जेटली नाम के भी एक शख्स थे, उनका भी मोदी की प्रताड़ना के कारण निधन हो गया। इसके साथ उन्होंने कहा था कि पीएम मोदी ने बीजेपी के लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, यशवंत सिन्हा जैसे कई बड़े नेताओं को साइडलाइन कर दिया है, जो गलत है।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.