राजस्थान में एक बार फिर खिलेगा कमल: गजेन्द्र सिंह शेखावत

जयपुर, जेएनएन। केंंन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत का दावा है कि राजस्थान में कमल एक बार फिर खिलेगा और भाजपा की सरकार बनेगी। उन्होने राजस्थान में सत्ता विरोधी लहर की बात को खारिज किया और कहा कि जनता का पूरा समर्थन भाजपा केा मिल रहा है। शेखावत ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि राजस्थान में कोई सत्ता विरोधी लहर है। हमारे साथ लोग है और हम फिर सरकार बनाएंगे।

शेखावत ने कहा कि भाजपा ने सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों में जाति और धर्म से उपर उठ कर सबके लिए काम किया है, लोगों को जिंदगी में इससे बदलाव आया है। खुद के चुनाव लड़ने की अटकलोंं के बारे में उन्होंंने कहा कि पार्टी जो भी निर्णय करेगी, उसे वे स्वीकार करेंगे, हालांंकि उन्होंंने कहा कि इसके लिए मैंने कोई मन नहीं बनाया है। गौरतलब है कि भाजपा ने सांसद कर्नल सोनाराम को विधानसभा का प्रत्याशी बनाया है।

कंग्रेस और बसपा में रहे अमिनेश महर्षि ने ली भाजपा की सदस्यता

राजसथान में पहले कांग्रेस रहे और बसपा से चुनाव लड़ चुके अमिनेश महर्षि ने दिल्ली में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के निवास पर भाजपा की सदस्यता ले ली। इस मौके पर केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर और राट्रीय उपाध्यक्ष ओमप्रकाश माथुर भी मौजूद थे।

इस मौके पर राजे ने कहा कि महर्षि ने अपने क्षेत्र में काफी अच्छा काम किया है और उनके आने से पार्टी को फायदा होगा। पिछला लोकसभा चुनाव बसपा के टिकट पर लडने वाले महर्षि ने कहा कि भाजपा में देश और प्रदेश को आगे ले जाने का विजन हैै और इसी से प्रभावित हो कर वे पार्टी में आए है। जावडेकर ने कहा कि अच्छे लोगों का कांग्रेस में दम घुुटता है, इसलिए वे भाजपा मेंं आ जाते है।

बेरोजगार युवाओंं को भत्त्ता देना, उन्हें बख्शीश देने जैसा

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी का कहना है कि कांग्रेस के नेता राजस्थान में आकर अभिनव अनुसंधान कर रहे है। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला पर निशाना साधते हुए त्रिवेदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी बेरोजगार युवकों को भत्ता देने की घोषणा करके उन्हें बख्शीश देने का भाव रखती है, जबकि भारतीय जनता पार्टी युवाओं को क्षमता अनुसार स्वाभिमानपूर्वक स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध करवाती है।

त्रिवेदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में कृपा से ही पद प्राप्त किये जाते है, वहींं भाव वह युवाओं के सन्दर्भ में रखती है। इसलिए क्षमता से रोजगार सृजित किये जाने पर कांग्रेस का ध्यान नहीं रहता। त्रिवेदी ने कांग्रेस से सवाल किया कि सबसे पहले कांग्रेस यह बताये कि 26,000 शिक्षकों को नियुक्ति से वंचित रखने के पीछे उनका क्या एजेण्डा है। 26,000 युवाओं को रोजगार से वंचित रखने के लिए ऐडी-चोटी का जोर लगाने वाली कांग्रेस पार्टी का मन्तव्य बेरोजगारी का मुद्दा नहीं बल्कि राहुल गांंधी को राजनीतिक बेरोजगारी से मुक्त करवाना है, जो कि सम्भव नहीं दिखता।

त्रिवेदी ने कहा कि तो कांग्रेस की नजर में जनता के बीच जाने वाले बड़े नेता चुनाव लड़कर छोटे हो जाते हैंं। त्रिवेदी ने कहा कि वास्तव में कांग्रेस के नेता चुनाव लड़ने से भयभीत है। क्योंकि वहाँ जनसमर्थन, योग्यता तथा मेहनत के द्वारा बड़े नेता नहीं बनते है। वहांं तो एक परिवार के समर्थन से ही बड़े नेता बनते है। कांग्रेस में इस प्रकार बैक डोर से नेता बनने वालों की लम्बी सूची है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.