AAP नेता गोपाल राय ने स्वीकारा दिल्ली में लोगों ने मोदी और राहुल के नाम पर दिया वोट

नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों को हारने के बाद आम आदमी पार्टी की तरफ से शुक्रवार को पहली बार प्रेस कांफ्रेंस की। पार्टी की हार पर प्रतिक्रिया देते हुए दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री और दिल्ली के आप संयोजक गोपाल राय ने कहा कि हम लोगों को अपनी बात नही समझा सके।

आप के दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने कहा कि पार्टी ने सभी सीटों पर अच्छे प्रत्याशी उतारे। पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बहुत मेहनत की। इसके बावजूद देश और दिल्ली में भाजपा के पक्ष में लोगों ने वोट दिया। गोपाय राय ने कहा कि हमने अपने प्रत्याशियों से बैठक की है जिसमें यह बात सामने आई है कि वोट पीएम मोदी और राहुल गांधी के नाम पर पड़े। उन्होंने कहा कि लोग कह रहे हैं कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में हम केजरीवाल को ही वोट देंगे। आम आदमी पार्टी दिल्ली के विकास पर और अधिक ध्यान देगी।

गोपाल राय के इस बयान का ये भी मतलब निकाला जा रहा है कि दिल्लीवासियों ने केंद्र की सत्ता के लिए अरविंद केजरीवाल के नाम पर वोट नहीं दिया है। इसी वजह से उनके सभी उम्मीदवार हार गए।

गोपाय राय ने कहा कि 26 मई को अरविंद केजरीवाल पंजाबी बाग क्लब में कार्यकताओं से बात करेंगे। उसके बाद से दिल्ली के विकास के लिए फिर से जुटेंगे। हम इस चुनाव की समीक्षा करा रहे हैं। जो भी कमियां मिलेंगी उन्हें दूर किया जाएगा। पूछे जाने पर राय ने कहा कि इस चुनाव परिणाम का दिल्ली विधानसभा चुनाव पर असर नहीं पड़ेगा। दिल्ली में केजरीवाल के नाम पर वोट पड़ेगा। हम इस चुनाव में अपनी बात लोगों को समझा नही पाए।

बता दें कि दिल्ली में लोकसभा की सभी सीटों पर आम आदमी पार्टी के उम्मीदवारों की करारी हार हुई है। पार्टी के ज्यादातर प्रत्याशी तीसरे नंबर पर रहे। जिनमें से दो उम्मीदवारों की जमानत भी जब्त हो गई। आम आदमी पार्टी के चांदनी चौक से प्रत्याशी पंकज गुप्ता, नई दिल्ली से प्रत्याशी बृजेश गोयल और उत्तर पूर्वी दिल्ली से दिलीप पांडेय की जमानत जब्त हो गई। कुल वैध मतों का छठवां हिस्सा भी ये उम्मीदवार प्राप्त नहीं सके।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.