Loksabha Election 2019 Phase III UP : 10 सीटों पर 60.52% वोटिंग, पीलीभीत में सर्वाधिक मतदान

लखनऊ, जेएनएन। सत्रहवीं लोकसभा चुनाव 2019 के तीसरे चरण में मंगलवार को प्रदेश के 12 जिलों के 10 संसदीय क्षेत्रों में 60.52 प्रतिशत मतदान हुआ। जिन 10 संसदीय क्षेत्रों में वोट डाले गए, उनमें मुरादाबाद, रामपुर, संभल, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, आंवला, बरेली और पीलीभीत शामिल हैं। वर्ष 2014 में हुए लोकसभा के पिछले चुनाव में इन संसदीय क्षेत्रों में 61.48 प्रतिशत मतदान हुआ था। इस लिहाज से तीसरे चरण में पिछले चुनाव की तुलना में 0.96 प्रतिशत कम वोट पड़े। मतदान खत्म होने के साथ ही इस चरण के 120 प्रत्याशियों का भाग्य इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में कैद हो गया। तीसरे चरण में शुरुआती दो चरणों की तुलना में भी कम मतदान हुआ। पहले चरण में जहां 63.88 प्रतिशत मतदान हुआ था, वहीं दूसरे में 62.39 प्रतिशत वोट डाले गए थे।

सर्वाधिक मतदान पीलीभीत में

मुख्य निर्वाचन अधिकारी टी.वेंकटेश्वर लू ने बताया कि तीसरे चरण में सबसे ज्यादा 64.6 प्रतिशत मतदान पीलीभीत संसदीय क्षेत्र में हुआ। तीसरे चरण की 10 सीटों में पीलीभीत में पिछले लोकसभा चुनाव की तुलना में मतदान में सबसे ज्यादा वृद्धि भी हुई। वहीं वोटिंग के लिहाज से बदायूं फिसड्डी साबित हुआ जहां 57.5 फीसद मतदान हुआ। पिछले लोकसभा चुनाव की तुलना में इस बार मतदान में सबसे ज्यादा गिरावट फिरोजाबाद संसदीय क्षेत्र में दर्ज की गई। यहां 58.8 फीसद मतदान हुआ जबकि 2014 में 67.61 प्रतिशत वोटिंग हुई थी।

ये भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2019: GIRIDIH: अंतिम क्षण में हुई नोमिनेशन दाैड़, 26 मैदान में, आज जांच

संभल, एटा में बदले गए पीठासीन अधिकारी

संभल के बिलारी विधानसभा क्षेत्र के एक बूथ पर पीठासीन अधिकारी पर एक प्रत्याशी के पक्ष में मतदान कराने के आरोप में मतदाताओं की उनसे झड़प और मारपीट हो गई। आइजी (कानून व्यवस्था) प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि पीठासीन अधिकारी पर आरोप लगा था कि एक महिला मतदाता ने उनसे कहा कि मुझे वोट डालने नहीं आता, मुझे इसका तरीका बता दें। इस पर पीठासीन अधिकारी ने उनसे फलां बटन दबाने के लिए कह दिया। यह देख वहां खड़े मतदाताओं ने बवाल कर दिया। इस मामले में पुलिस ने तत्परता से कार्रवाई कर मुकदमा पंजीकृत कर मारपीट करने वाले युवक भारत सिंह मौर्य को गिरफ्तार कर लिया। पीठासीन अधिकारी को बदल दिया गया। वहीं एटा संसदीय क्षेत्र में बूथ संख्या 88 पर पीठासीन अधिकारी पर सुचारु रूप से मतदान न कराने को लेकर लोगों ने सेक्टर मजिस्ट्रेट से शिकायत की थी। शिकायत पर पीठासीन अधिकारी को बदला गया।

पंखा गिरने से पीठासीन अधिकारी घायल

एटा सीट के मारहरा विधानसभा क्षेत्र में बूथ संख्या 162 में पंखा गिरने से पीठासीन अधिकारी किशन घायल हो गए जिन्हें इलाज के लिए आगरा ले जाया गया। इस बूथ पर दूसरे पीठासीन अधिकारी को तैनात किया गया।

आगरा के एक बूथ पर पुनर्मतदान

भारत निर्वाचन आयोग ने दूसरे चरण के चुनाव में आगरा सीट के एत्मादपुर क्षेत्र में बूथ संख्या 455 पर 25 अप्रैल को पुनर्मतदान कराने का फैसला किया है। इस बूथ के पीठासीन अधिकारी ने मॉक पोल के बाद क्लोज बटन दबाने की बजाय गलती से मतदान के दौरान क्लोज बटन दबा दिया था।

नहीं मिले मंत्री, शिकायत निराधार

समाजवादी पार्टी की ओर से बदायूं की भाजपा प्रत्याशी संघमित्रा मौर्य के समर्थन में उनके पिता और प्रदेश सरकार के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के प्रचार करने की शिकायत को चुनाव आयोग ने निराधार पाया है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि शिकायत मिलने पर वहां के जिला प्रशासन ने संभावित ठिकानों पर तलाश की लेकिन शिकायत सहीं नहीं पायी गई।

ये भी पढ़ें- चुनाव आयोग ने पीएम मोदी के 'रोड शो' पर मांगी रिपोर्ट, कांग्रेस ने लगाया आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप

चुनाव बहिष्कार की घोषणा के बावजूद मतदान

तीसरे चरण के दौरान कई स्थानों पर विकास कार्य न होने से नाराज लोगों ने चुनाव बहिषकार की घोषणा की थी। मैनपुरी के जसवंतनगर विधानसभा क्षेत्र के भारद्वाजपुरा गांव, फीरोजाबाद सीट के जसराना क्षेत्र के एक गांव और बदायूं के सोबरनपुर गांव के लोगों ने चुनाव बहिष्कार का एलान किया था। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि प्रशासनिक अधिकारियों के समझाने पर आखिरकार लोगों ने वोट डाले।

दिग्गजों का भाग्य ईवीएम में कैद

तीसरे चरण का मतदान समाप्त होने पर जिन राजनीतिक दिग्गजों और चर्चित हस्तियों का भाग्य ईवीएम में बंद हो गया है, उनमें समाजवादी पार्टी के संस्थापक व संरक्षक मुलायम सिंह यादव मैनपुरी, केंद्रीय श्रम राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संतोष गंगवार बरेली, प्रदेश के पूर्व मंत्री मोहम्मद आजम खां और पूर्व सांसद जयाप्रदा रामपुर, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव फीरोजाबाद, पूर्व सांसद शफीकुर्रहमान बर्क संभल, सपा सांसद धर्मेंद्र यादव बदायूं, भाजपा सांसद वरुण गांधी पीलीभीत से चुनाव मैदान में हैं।

तीसरे चरण में कहां कितने वोट पड़े

सीट            वर्ष 2019    वर्ष 2014
मुरादाबाद       64.11       63.58
रामपुर           60.00       59.32
संभल            61.80       62.4
फीरोजाबाद      58.80      67.61
मैनपुरी           57.80      60.65
एटा               59.90       58.79
बदायूं             57.50       58.05
आंवला           59.18       60.20
बरेली             61.49       61.22
पीलीभीत        64.60       62.92

शाम पांच बजे तक 56.71 प्रतिशत हुआ मतदान 

दोपहर तीन बजे तक पीतलनगरी मुरादाबाद के साथ ही रामपुर व एटा में मतदाता मताधिकार का प्रयोग करने उमड़ पड़े थे। शाम को पीलीभीत के मतदाताओं ने जोर पकड़ लिया। शाम पांच बजे तक कुल 56.71 प्रतिशत मतदान हो गया था। मुरादाबाद में 58.31, रामपुर में 56.97, सम्भल में 56.01, फिरोजाबाद में 54.92, मैनपुरी में 53.35, एटा में 58.35, बदायूं में 55.60, आंवला में 55.35, बरेली में 57.35 तथा पीलीभीत में 60.93 प्रतिशत मतदान हो गया था। 

ये भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2019: लोहदरदगा में सुदर्शन के लिए भाजपा ने निकाला ब्रह्मास्त्र; पढ़ें Reality Check

दोपहर तीन बजे तक पीतलनगरी मुरादाबाद के साथ ही रामपुर व एटा में मतदाता मताधिकार का प्रयोग करने उमड़ पड़े थे। मुरादाबाद में 49.54, रामपुर में 49.12, सम्भल में 47.36, फिरोजाबाद में 46.58, मैनपुरी में 44.38, एटा में 49.55, बदायूं में 43.20, आंवला में 45.48, बरेली में 47.72 तथा पीलीभीत में 48.02 प्रतिशत मतदान हो गया था। सुबह दर्जनों जगह पर ईवीएम में खराबी तथा कई जगह पर हल्की झड़प के बाद भी मतदान का प्रतिशत लगातार बढ़ता ही गया।

दिन में एक बजे तक 35.49 प्रतिशत मतदान हो गया था। पहले दो घंटा यानी सात से नौ बजे के बीच कुल 10.24 प्रतिशत मतदान हुआ है। इसके बाद नौ से 11 बजे तक 22.64 प्रतिशत मतदान हो गया था।  पहले दो घंटा यानी सात से नौ बजे के बीच कुल 10.24 प्रतिशत मतदान हुआ है। तीसरे चरण में मतदान ने नौ बजे के बाद गति पकड़ी।

पुलिस ने मीडिया को आजम खान से बाईट लेने से रोका 

रामपुर में मतदान स्थल पर पहुंचे पूर्व मंत्री आजम खान से बातचीत करने पहुंचे इलेक्ट्रानिल मीडिया के पत्रकारों को पुलिस ने बाईट लेने से रोका। मीडिया व पुलिस के बीच धक्का मुक्की हुई। जैसे ही मतदान केंद्र पर आजम के आने की सूचना मिली बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी पहुंच गए। वे आजम खां से जैसे ही सवाल पूछने लगे कि पुलिस ने उन्हें रोक दिया। विरोध जताने पर पुलिसकर्मियों ने पत्रकारों को वहां से धक्का देकर हटा दिया। वहां मौजूद पुलिस वालों का कहना था कि निर्वाचन आयोग के निर्देश के तहत मतदान केंद्र पर मीडिया से बतचीत नहीं की जा सकती।

तीन बजे तक 50 प्रतिशत मतदान के करीब रामपुर, मुरादाबाद व एटा

रामपुर के साथ सर्वाधिक मतदान सम्भल में बदायूं में 11.30 प्रतिशत हुआ है। फिरोजाबाद में सबसे कम 8.68 प्रतिशत मतदान हुआ। पहले दो घंटा में नौ बजे तक मुरादाबाद में 9.90 प्रतिशत, रामपुर में 10.00, सम्भल में 10.80, फिरोजाबाद में 8.68, मैनपुरी में 10.10, एटा में 10.20, बदायूं में 11.30, आंवला में 10.30, पीलीभीत में 10.50 व बरेली में 10.60 प्रतिशत मतदान हो गया था। मतदान केंद्रों के बाहर भीड़ बढ़ती ही जा रही है। 

दिन में एक बजे तक 35.49 प्रतिशत मतदान हो गया है। छह घंटा में मतदान की गति बढ़ती ही रही है। एक बजे तक मुरादाबाद में वोटिंग ने काफी गति पकड़ ली थी, नौ से 11 बजे के बीच रामपुर में काफी वोट पड़े थे। एक बजे तक मुरादाबाद में 39.24, रामपुर में 35.80, सम्भल में 37.92, फिरोजाबाद में 34.82, मैनपुरी में 30.81, एटा में 36.88, बदायूं में 34.10, आंवला में 33.44, बरेली में 36.32 तथा पीलीभीत में 35.51 प्रतिशत मतदान हो गया था। जूनियर विश्व कप क्रिकेट में जीतने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य रहे मुरादाबाद के शिवा सिंह ने अपनी मां तथा भाई के साथ मतदान किया। 360 डिग्री पर गेंद फेंकने के कारण चर्चा में आए बांए हाथ के गेंदबाज शिवा सिंह ने मां मंजू सिंह के साथ मतदान किया। शिवा सिंह ने पहली बार वोट डाला है। 

फर्जी मतदान का आरोप लगाते हुए विरोध

मुरादाबाद के आर्यन्स इंटरनेशनल स्कूल में बने मतदान केंद्र पर सपा कार्यकर्ताओं ने फर्जी मतदान का आरोप लगाते हुए विरोध शुरू कर दिया। सूचना पाकर थोड़ी देर में गठबंधन (सपा) प्रत्याशी डॉ. एसटी हसन मतदान केंद्र पर पहुंचे। मतदान केंद्र पर अपने समर्थकों के साथ वह सीधे अंदर पोलिंग बूथ में जाकर मतदान कर्मियों से सवाल करने लगे।

कार्यकर्ताओं के साथ अंदर जाते देख बाहर खड़े भाजपा कार्यकर्ता भी उनके पीछे अंदर तक चले गए। फोर्स मूकदर्शक बनी रही। सपा और भाजपा के कार्यकर्ता आपस में उलझ गए और धक्का मुक्की हो गई। पोलिंग बूथ के अंदर ही नारेबाजी शुरू करने लगे। पुलिसकर्मियों ने जैसे तैसे सभी कार्यकर्ताओं को बाहर निकाला। मतदान केंद्र से बाहर आकर सड़क पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने एसटी हसन का घेराव कर दिया। उन्हें गाड़ी में बैठने से रोका। जब वे कार में बैठकर जाने लगे तो गाड़ी के आगे खड़े होकर उनके खिलाफ नारेबाजी की। बाद में पुलिस ने उन्हें निकाला। थोड़ी देर बाद भाजपा प्रत्याशी सर्वेश कुमार सिंह भी वहां पहुंचे हैं।

नदी पार कर मताधिकार 

दरियापुर मुरादाबाद के देहात क्षेत्र में आता है। यहां की खास बात यह है ‍कि अपने गांव से बाहर ‍निकलने के ‍लिए ग्रामीणों को नदी पार करनी पड़ती है, जिसके लिए इस पर कोई पुल नहीं है। इस गांव का मतदान केंद्र भी नदी के पार है। 

ऐसे में ग्रामीणों ने अपनी सुविधा के लिए खुद इस लकड़ी के पुल को तैयार किया और इसी से आना जाना करते हैं। यहां तक की पोलिंग पार्टियां भी इसी पुल से मतदान केंद्र तक पहुंची हैं। वैसे नदी पार जाने का एक कच्‍चा रास्‍ता भी है, जो काफी लंबा है और घने जंगल के बीच से है। इसलिए ज्‍यादातर लोग इसी पुल का प्रयोग करते हैं। बड़े वाहन मार्ग से जाते हैं।

तीसरे चरण की सीटों पर 1.78 करोड़ मतदाता 120 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करेंगे। इसमें 14 महिला प्रत्याशी भी शामिल हैं। तीसरे चरण की दस में से सात सीटों पर भाजपा का कब्जा है, जबकि तीन पर समाजवादी पार्टी का। इस चरण में कुल 120 उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं, जिनमें से आठ मौजूदा सांसद हैं।

रामपुर से भाजपा प्रत्याशी जया प्रदा ने रामपुर में मुर्तजा इंटर कॉलेज बूथ पर अपना वोट डाला। रामपुर में सुबह सात  बजे  मतदान शुरू हो गया,लेकिन 50 से ज्यादा मतदान केंद्रों पर वोटिंग शुरू नहीं हो सकी। 

नौ बजे तक 10.24 प्रतिशत मतदान

इससे पहले सात से नौ बजे के बीच सर्वाधिक मतदान सम्भल में बदायूं में 11.30 प्रतिशत हुआ है। सबसे कम फिरोजाबाद में 8.68 प्रतिशत मतदान हुआ। पहले दो घंटा में नौ बजे तक मुरादाबाद में 9.90 प्रतिशत, रामपुर में 10.00, सम्भल में 10.80, फिरोजाबाद में 8.68, मैनपुरी में 10.10, एटा में 10.20, बदायूं में 11.30, आंवला में 10.30, पीलीभीत में 10.50 व बरेली में 10.60 प्रतिशत मतदान हो गया था। मतदान केंद्रों के बाहर भीड़ बढ़ती ही जा रही है।

रामपुर में तीन सौ मशीनें  खराब, प्रशासन करा रहा धाधली: अब्दुल्ला

रामपुर से समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और गठबंधन प्रत्याशी आजम खां के बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम ने आरोप लगाया है कि प्रशासन चुनाव में जमकर धांधली करा रहा है। तीन सौ  मशीनें खराब हैं ।लोग वोट नहीं डाल पा रहे हैं। हमें पहले से ही इस बात की आशंका थी कि प्रशासन चुनाव में धांधली करा सकता है। इस संबंध में चुनाव आयोग से भी कई बार शिकायत की गई। इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है । जिला प्रशासन मनमानी पर उतारू है।  समाजवादी पार्टी के वोटरों को मारपीट कर भगाया जा रहा है। अब भी चुनाव आयोग से लगातार शिकायत की जा रही है। इसके बाद भी प्रशासन नहीं मान रहा है।

उधर जिला अधिकारी आन्जनेय  कुमार सिंह का कहना है कि आरोप निराधार है। जिलेभर में सिर्फ एक मशीन खराब हुई थी। उसे भी बदल दिया है । इसकी वजह मशीनों में खराबी नहीं, बल्कि मतदान अधिकारियों द्वारा मशीनों का संचालन ठीक से न किया जाना रहा। मतदान अधिकारियों को मशीनें चलाने का पूरा प्रशिक्षण दिया गया था। इसके बाद भी मशीनें समय से नहीं चला पाए । दूसरे अधिकारियों को भेज कर मशीनें चालू करा दी गई है। जिलेभर में शांतिपूर्वक मतदान जारी है।

कांग्रेस प्रत्याशी इमरान प्रतापगढ़ी की पुलिस से हुई नोकझोंक

मुरादाबाद में करूला के ऑक्सफ़ोर्ड पब्लिक स्कूल में मतदान के लिए मतदाताओं की लंबी लाइन लगी है। इसी बीच कांग्रेस प्रत्याशी इमरान प्रतापगढ़ी टीम के साथ पोलिंग बूथ पर पहुंचे। इस दौरान उनके साथ चल रहे पार्टी के नेता असद मौलाई की वहां तैनात पुलिसकर्मियों से बहस हो गई।

इमरान प्रतापगढ़ी का आरोप है कि पुलिसकर्मी गठबंधन प्रत्याशी डॉ. एसटी हसन के पक्ष में मतदान करा रहे हैं। जब असद मौलाई ने उन्हें रोका तो इस बात को लेकर पुलिसकर्मी धमकाने लगे। हंगामा होता देख अधिकारी मौके पर पहुंची और मामले को शांत कराया।

मतदान कर्मी पर फर्जी मतदान कराने का आरोप, हंगामा

सम्भल के चंदौसी में मतदान कर्मी पर भाजपाइयों ने जबरन गठबंधन के प्रत्याशी को वोट दिलाने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। हंगामे की सूचना पर पहुंचे एसडीएम और सीओ ने भाजपाइयों को शांत करने का प्रयास किया। मतदान केंद्र के पास भीड़ बढ़ने के चलते पुलिस को लाठियां फटकार कर भीड़ को खदेड़ना पड़ा। मौला घर के मतदान केंद्र पर एक महिला वोट डालने के लिए आई थी। महिला ने मतदान कर्मी से एक प्रत्‍याशी की पार्टी का नाम बताते हुए उसके सामने वाला बटन दबाने की बात कही।

महिला का आरोप है कि मतदान कर्मी ने दूसरे का बटन दबा दिया। यह जानकारी जब भाजपाइयों को लगी तो उन्होंने हंगामा करना शुरू कर दिया। कुछ ही देर में मतदान केंद्र में भीड़ जमा हो गई। मतदान कर्मी को हटाने की मांग को लेकर नारेबाजी की सूचना मिलने पर एसडीएम महेश प्रसाद दीक्षित सीओ पूनम मिश्रा भारी पुलिस बल के साथ पहुंच गई। पहले तो उन्होंने भाजपाइयों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन जब भाजपाई नहीं माने तो पुलिस ने लाठियां फटकार कर भीड़ को खदेड़ दिया। करीब आधे घंटे तक हंगामा होता रहा। बाद में एसडीम ने मतदान कर्मी को हटाने का आश्वासन देकर भाजपाइयों को शांत किया।

एटा में पीठासीन अधिकारी ने दबा दिया साईकिल का बटन, हंगामा 

एटा के एटा जिला पंचायत मतदान केंद्र पर पीठासीन अधिकारी योगेश कुमार ने ईवीएम पर साईकिल का बटन दबा दिया। एक व्यक्ति मतदान करने आया था, उसी दौरान योगेश कुमार ने यह काम कर दिया। इसके बाद वहां पर जमकर हंगामा हो गया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने काफी बवाल किया। जिसके कारण करीब आधा घंटा मतदान बाधित रहा। इसके बाद वहां पर अधिकारियों ने पहुचकर पीठासीन अधिकारी को हटा दिया।

मुरादाबाद गन्ना समिति मतदान केंद्र पर पीठासीन अधिकारी से मारपीट

मुरादाबाद संसदीय क्षेत्र के बिलारी के गन्ना समिति मतदान केंद्र भिलाईनगर पर पीठासीन अधिकारी से मारपीट। इस केंद्र के बूथ संख्या 231 पर शीला नाम की एक महिला वोट डालने आई थी। यहां पीठासीन अधिकारी मोहम्मद जुबेर से उसका वोट डालने को लेकर विवाद हो गया।

आरोप है कि इसी बीच भाजपा के नगर अध्यक्ष अजय पाल सिंह एडवोकेट समेत तीन चार लोग आए और उनके साथ मारपीट करने लगे। हंगामा होने की जानकारी पर भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। एसडीएम ने पीठासीन अधिकारी बदलने के बाद मतदान शुरू करा दिया।

 समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव सुबह मैनपुरी के पोलिंग बूथ पर मतदान करने पहुंचे।

मैनपुरी संसदीय क्षेत्र की जसवंतनगर विधानसभा इटावा में है। इटावा में आज समाजवादी पार्टी के मुख्य महासचिव प्रोफेसर राम गोपाल यादव के साथ मुलायम सिंह यादव के भाई अभयराम सिंह यादव ने भी मतदान किया।

यहां के जसवंतनगर विधानसभा के रायनगर मतदान केंद्र पर ईवीएम खराब होने से मतदान प्रभावित हो गया। जिससे मतदाताओं में आक्रोश है। अधिकारी नई ईवीएम लगाकर मतदान शुरू कराने की तैयारी में लगे हैं। 

रामपुर में मतदान शुरू होते ही वोटिंग मशीन चलाने में दिक्कत

रामपुर में सुबह सात  बजे  मतदान शुरू हो गया,लेकिन 50 से ज्यादा मतदान केंद्रों पर वोटिंग शुरू नहीं हो सकी। इसकी वजह मतदान केंद्रों पर कर्मचारियों द्वारा वोटिंग मशीन शुरू न करना रहा। जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने बताया कि मतदान केंद्रों पर वोटिंग मशीन में कोई खराबी नहीं आई है। सिर्फ एक मशीन स्वार में बदली गई है।

अन्य सभी स्थानों पर मतदान अधिकारियों की लापरवाही सामने आई है। इन अधिकारियों द्वारा मशीनों का संचालन ठीक से नहीं किया गया। इस कारण कोटिंग शुरू नहीं हो पाई । मतदान अधिकारियों को तीन-तीन बार प्रशिक्षण दिया गया था। इसके बाद भी मशीन शुरू नहीं करा पाए। जिला अधिकारी का कहना है ऐसे मतदान अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सम्भल में मशीनों ने दिया धोखा मतदाता परेशान

सम्भल के चंदौसी शहर के सनातन धर्म कन्या इंटर कॉलेज में बने मतदान केंद्र पर 3 ईवीएम सुबह ही धोखा दे गईं। जैसे ही लोग मतदान करने के लिए पहुंचे तो ईवीएम में अचानक खराबी आ गई। सूचना मिलने पर पहुंचे एसडीएम ने तकनीकी स्टाफ के सहयोग से तत्काल ईवीएम को सही कराया, जिसके बाद मतदान शुरू हो सका। लगभग 30 मिनट व्यवधान रहा। इसके अलावा अलीपुर बुजुर्ग गांव के मतदान केंद्र पर भी ईवीएम तकनीकी खराबी आ गई। वहां भी तकनीकी स्टाफ ईवीएम को सही करने के लिए पहुंचा है।

मुरादाबाद संसदीय क्षेत्र के कांठ के उच्च प्राथमिक विद्यालय के मतदान केंद्र पर मतदान को लेकर लोगों में जबर्दस्त उत्साह है। सुबह 6:30 से ही लोग मतदान के लिए कतार में लग गए थे। यहां के महाराजा अग्रसेन इंटर कॉलेज में सात बजे से पहले ही वोट डालने के लिए मतदाताओं की लाइन लगी थी।

उत्तर प्रदेश में इस चरण के मतदान में सबसे ज्यादा 16 प्रत्याशी बरेली लोकसभा सीट से हैं, जबकि सबसे कम छह प्रत्याशी फीरोजाबाद सीट से हैं। सबसे ज्यादा 19.56 लाख मतदाता मुरादाबाद व सबसे कम 16.17 लाख मतदाता एटा में हैं। अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. ब्रह्म देव राम तिवारी ने बताया कि तीसरे चरण का चुनाव शांतिपूर्ण व निष्पक्ष हो इसके लिए पुख्ता इंतजाम है। श्रीलंका में हुई आतंकी घटना के बाद से चुनाव में और सुरक्षा बढ़ाई गई है। उन्होंने मतदाताओं से अधिक से अधिक संख्या में वोट डालने की अपील की।

4515 पोलिंग बूथ क्रिटिकल

अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि 4515 पोलिंग बूथ क्रिटिकल हैं। इसमें सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं। मतदान स्थल पर 1989 डिजिटल कैमरे व 1255 वीडियो कैमरे लगाए गए हैं। 2162 मतदान केंद्रों की वेब कास्टिंग होगी। इस बार 1744 माइक्रो ऑब्जर्वर, 1610 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 186 जोनल मजिस्ट्रेट व 358 स्टैटिक मजिस्ट्रेट के साथ ही 10 सामान्य प्रेक्षक, पांच पुलिस प्रेक्षक, 10 व्यय प्रेक्षक और 47 सहायक व्यय प्रेक्षक लगाए गए हैं। मतदान के लिए 88681 कर्मचारी ड्यूटी पर होंगे।

किस सीट पर कितने प्रत्याशी मैदान में

तीसरे चरण की 10 लोकसभा सीटों में मुरादाबाद में 13 प्रत्याशी, रामपुर में 11, संभल में 12, फीरोजाबाद में छह, मैनपुरी में 12, एटा में 14, बदायूं में नौ, आंवला में 14, बरेली में 16 और पीलीभीत में 13 प्रत्याशी मैदान में हैं।

तीसरे चरण का चुनाव एक नजर

कुल मतदाता : 1,78,10,946

पुरुष मतदाता : 96,20,644

महिला मतदाता : 81,89,378

ट्रांस जेंडर मतदाता : 924

सर्वाधिक मतदाता मुरादाबाद :   19,56,174

सबसे कम मतदाता एटा :16,17,962

पोलिंग सेंटर : 12,128

पोलिंग बूथ : 20,120

चुनाव की विस्तृत जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.