Loksabha Election 2019 : भाजपा में शामिल होने को लेकर जितिन प्रसाद का गोलमोल जवाब, कांग्रेस से कहा-बकवास अटकल

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश से कांग्रेस के दिग्गज नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। प्रदेश की धौरहरा सीट से चुनाव लड़ते हैं और वहीं से चुनाव लड़ना चाहते हैं। चर्चा है कि कांग्रेस उन्हें लखनऊ से लड़ाना चाह रही है। बताया जा रहा है कि वह प्रदेश में कोई महत्वपूर्ण भूमिका न मिलने और ज्योतिरादित्य सिंधिया को ज्यादा महत्व दिए जाने से भी असंतुष्ट चल रहे हैं। 

दिल्ली में कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने जितिन प्रसाद के बीजेपी में शामिल होने की चर्चाओं को खारिज किया अौर कहा कि अफवाह फैलाई जा रही है। इसी बीच भाजपा में शामिल होने की बात पर जितिन प्रसाद ने भी कहा कि इस तरह के सवाल का कोई आधार होना चाहिए। मुझे एक काल्पनिक प्रश्न का उत्तर क्यों देना चाहिए?

कांग्रेस के साथ रहा है क़रीबी रिश्ता
जितिन प्रसाद खानदानी कांग्रेसी हैं। उनके पिता मरहूम जितेन्द्र प्रसाद कांग्रेस नेता और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और पीवी नरसिम्हा राव के राजनीतिक सलाहकार रहे थे। वह उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष (1995) तथा भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उपाध्यक्ष भी रह चुके थे।

 

ऐसा रहा राजनीतिक सफर 
जितिन प्रसाद सबसे पहले 2001 में भारतीय युवा कांग्रेस में सचिव बने थे। उन्होंने 2004 में अपने गृह लोकसभा सीट, शाहजहांपुर से 14वीं लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की। पहली बार जितिन प्रसाद को 2008 में केन्द्रीय राज्य इस्पात मंत्री नियुक्त किया गया। उसके बाद 2009 में वह 15वीं लोकसभा चुनाव लोकसभा धौरहरा से लड़े और जीते भी। वह 2009 से लेकर 2014 तक यूपीए सरकार के विभिन्न मंत्रालयों में केन्द्रीय राज्यमंत्री रहे। जितिन प्रसाद शाहजहांपुर ,लखीमपुर तथा सीतापुर में काफी लोकप्रिय हैं। वह राहुल गाँधी की युवा ब्रिगेड के नामचीन चेहरे रहे हैं। 

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.