Loksabha Election 2019 : अखिलेश का आरोप, भाजपा के पक्ष में वोट डाल रहीं ईवीएम

लखनऊ, जेएनएन। लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान के दौरान सपा ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर सवाल उठाए हैं। मंगलवार को मतदान शुरू होने के कुछ ही देर बाद अलग-अलग जगहों से इवीएम खराब होने की शिकायतें आने के बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने चुनाव आयोग को टैग करते हुए ट्वीट किया और ईवीएम से अपने आप भाजपा के पक्ष में वोट जाने का आरोप लगाया।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि पूरे देश में ईवीएम या तो गड़बड़ हैं या फिर भाजपा के लिए वोट डाल रही हैं। अखिलेश ने कहा कि जिलाधिकारियों के मुताबिक निर्वाचन अधिकारी ईवीएम के संचालन में प्रशिक्षित नहीं हैं। साढ़े तीन सौ से अधिक ईवीएम बदली जा रही हैं, जो चुनावी प्रक्रिया के लिहाज से आपराधिक लापरवाही है, जबकि इस पर 50 हजार करोड़ रुपये खर्च हो रहे हैं। इसी दौरान सपा नेता राजेंद्र चौधरी के साथ एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल.वेंकटेश्वर लू से लखनऊ में मुलाकात कर रामपुर में ईवीएम की खराबी और बदायूं में राज्य सरकार के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की शिकायत की।

सपा नेताओं ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को बताया कि बदायूं से मौर्य की पुत्री संघमित्रा मौर्य भाजपा से प्रत्याशी हैं और मंत्री अपनी पुत्री के पक्ष में चुनाव को प्रभावित करने का प्रयास कर रहे हैं। आयोग के अधिकारियों ने सपा प्रतिनिधिमंडल की शिकायत का संज्ञान लेते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट तलब की है। साथ ही तत्काल कार्रवाई के निर्देश भी दिए गए हैं।

खास सीटों पर रही नजर

सपा की नजर मंगलवार को अपनी खास सीटों के मतदान पर टिकी रही। जहां कहीं भी इवीएम गड़बड़ाई, सपा के ट्विटर हैंडल से तुरंत चुनाव आयोग को टैग करते हुए ट्वीट किया गया। मैनपुरी से सपा संरक्षक मुलायम सिंह मैदान में हैं, जबकि फीरोजाबाद से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के चचेरे भाई अक्षय यादव और बदायूं से दूसरे चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव मैदान में हैैं। इन सीटों के साथ ही एटा की गड़बड़ी और मुरादाबाद में मारपीट की घटनाओं को भी सपा ने तुरंत चुनाव आयोग तक पहुंचाया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.