टीएमसी की रैली के समर्थन में राहुल ने ममता को लिखा पत्र, अखिलेश ने कही ये बात

कोलकाता, एएनआइ। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल के कोलकाता में शनिवार को होने वाली तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की रैली से एक दिन पहले शुक्रवार को समर्थन में सीएम ममता बनर्जी को पत्र लिखा है। राहुल ने ममता को लिखे अपने पत्र में कहा है कि उन्हें विश्वास है कि विपक्षी दल एकजुट है। राहुल ने लिखा है कि रैली पर ममता दीदी के लिए उनका पूर्ण समर्थन है। उम्मीद है कि हम एकजुट होकर लोगों को अच्छा संदेश दे पाएंगे। राहुल ने अपने पत्र में केंद्र की मोदी सरकार की गलत नीतियों का उल्लेख किया है। राहुल ने लिखा है कि मोदी सरकार के झूठे वायदे पर आम जनता में क्षोभ है। सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता की भावना से लोकतंत्र मजबूत होगा। लोकतंत्र की रक्षा के लिए बंगाल की जनता हमेशा आगे रही है। ब्रिगेड रैली से से जो आवाज उठेगी वह देश भर में सुनाई देगी।

इस बीच, टीएमसी की रैली में शामिल होने कोलकाता पहुंचे समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष व यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि देश नया प्रधानमंत्री मांग रहा है।

इधर, प्रदेश कांग्रेस कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने कहा कि कांग्रेस की मुख्य लड़ाई भाजपा से है। भाजपा के विरुद्ध कोई भी आयोजन होता है तो कांग्रेस समर्थन करेगी। तृणमूल कांग्रेस की यह रैली भाजपा विरोध के लिए की जा रही है। इसलिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने समर्थन किया है। मित्रा ने कहा कि राहुल ऐसे किसी भी गठबंधन का समर्थन नहीं कर सकते जिसमें कांग्रेस न हो। पूरे देश में कांग्रेस ही भाजपा के विरुद्ध लड़ रही है। कांग्रेस को साथ लिए बिना कोई भी भाजपा के विरुद्ध नहीं लड़ सकता है। जहां तक सवाल है प्रदेश कांग्रेस के नेताओं के ब्रिगेड रैली में नहीं जाने का तो उन्हें इसके लिए कोई निमंत्रण नहीं मिला है। तृणमूल कांग्रेस ने एआइसीसी को निमंत्रण भेजा है। इसलिए एआइसीसी ने अपना प्रतिनिधि ब्रिगेड रैली में भेजा है।
 

अखिलेश यादव कोलकाता पहुंचे, कही ये बात
इस बीच, टीएमसी की रैली में शामिल होने कोलकाता पहुंचे समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष व यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि देश नया प्रधानमंत्री मांग रहा है।

देवगौड़ा व शरद पवार भी पहुंचे कोलकाता
टीएमसी की रैली में शामिल होने के लिए पूर्व पीएम एचडी देवगौड़ा और एनसीपी चीफ शरद पवार भी कोलकाता पहुंच गए हैं।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर मैदान में उतर चुकी हैं। इसके लिए अब ममता 19 जनवरी को बड़ी रैली का आयोजन करने जा रही है। जहां भाजपा विरोधी पार्टियों को रैली में आमंत्रित किया गया है।

तृणमूल कांग्रेस का दावा, आजादी के बाद ये विपक्ष की सबसे बड़ी रैली होगी
तृणमूल कांग्रेस ने दावा किया है कि आजादी के बाद ये विपक्ष की सबसे बड़ी रैली होगी। समाजवादी पार्टी, बहुजन समाजवादी पार्टी, डीएमके, जनता दल यूनाइटेड (सेक्युलर ), कांग्रेस तेलगुदेशम पार्टी के सदस्यों के रैली में शामिल होने की खबर है। आने वाले लोकसभा चुनाव में भाजपा को कड़ी टक्कर देने के लिए ममता बनर्जी बीजेपी विरोधी दलों को साथ लाने का काम कर रही हैं।19 जनवरी को कोलकाता के सबसे बड़े मैदान ब्रिगेड परेड ग्राउंड में पार्टी की महारैली होने वाली है।

इस रैली में भाजपा विरोधी गुटों को आमंत्रित किया गया है। इस रैली में विपक्षी नेताओं में नेशनल कॉन्फ्रेंस के शीर्ष नेता फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन, दिल्ली के सीएम  अरविंद केजरीवाल, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) सुप्रीमो शरद पवार, उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने सहमति दे दी है।

इस रैली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तथा बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख  मायावती खुद नहीं शामिल होकर  अपना प्रतिनिधि भेजेंगे। बसपा से सतीश चंद्र मिश्रा,कांग्रेस से मल्लिकार्जुन खड़गे शामिल होंगे। साथ ही, सीएम ममता की इस रैली के माध्यम से विपक्षी एकता का भी प्रदर्शन किया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.