Jharkhand Election 2019: मतदान केंद्र से 200 मीटर दूर रखना होगा वाहन, दिव्‍यांगाें के लिए खास सुविधा

Jharkhand Election 2019: मतदान केंद्र से 200 मीटर दूर रखना होगा वाहन, दिव्‍यांगाें के लिए खास सुविधा
Publish Date:Wed, 11 Dec 2019 07:05 PM (IST) Author: Sujeet Kumar Suman

रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 - मतदान के दिन मतदाताओं या अन्य लोगों द्वारा निजी वाहनों के उपयोग पर कोई रोक नहीं है। लेकिन वाहन राजनीतिक उद्देश्य के पूर्ति हेतु उपयोग में नहीं लाए जा सकते। मतदाताओं को निजी वाहन से बूथ पर जाने पर भी कोई पाबंदी नहीं है। लेकिन बूथ परिधि (दौ सौ मीटर की दूरी) के अंदर मतदाता अपना वाहन नहीं ले जा सकते।

राजनीतिक दलों या प्रत्याशियों द्वारा मतदाताओं को ढोने के लिए वाहन प्रयोग में नहीं लाए जा सकते। ऐसा करने पर सह लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 के तहत भ्रष्ट आचरण माना जाएगा तथा संबंधित दलों-प्रत्याशियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। इसे लेकर राजनीतिक दलों व प्रत्याशियों पर चुनाव आयोग की कड़ी नजर रहेगी।

दिव्यांग जनों के लिए खास प्रावधान, रहेगा सुविधाओं पर ध्यान

दिव्यांग मतदाताओं को मताधिकार के उपयोग में कोई बाधा उत्पन्न न हो, इसके लिए उनकी सुविधाओं का पूरा ख्याल रखे जाने का निर्देश दिया गया है। शारीरिक रूप से दिव्यांग मतदाताओं के लिए सभी मतदान केंद्रों पर स्थायी या अस्थायी रैम्प की व्यवस्था की गई है। ऐसे मतदाता अपनी गाड़ी बूथ परिसर के अंदर भी ले जा सकते हैं। हालांकि ड्राइवर को उक्त मतदाता को उतारकर गाड़ी को परिसर के बाहर खड़ा करना होगा। ऐसे वोटर लाइन में भी नहीं लगेंगे।

63,754 दिव्यांग मतदाता देंगे वोट

इस चरण में 63,754 दिव्यांग मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनकी सुविधा को लेकर चुनाव आयोग ने इनके बूथ तक लाने तथा वापस पहुंचाने के लिए वाहनों की भी व्यवस्था की है। अभी तक इनका मतदान फीसद भी काफी बेहतर रहा है।

75 ग्रेजुएट, 36 पोस्ट ग्रेजुएट और 12 डाक्टरेट

तीसरे चरण के जिन 17 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में गुरुवार को मतदान होंगे, वहां चुनाव लड़ रहे 309 प्रत्याशियों में से एक निरक्षर हैं, जबकि 14 को महज अक्षर ज्ञान है। इससे इतर 12 ने डाक्टरेट कर रखी है। चुनाव मैदान में किस्मत आजमा रहे इन प्रत्याशियों में से छह की शैक्षणिक योग्यता महज पांचवीं है, जबकि 27 प्रत्याशी आठवीं, 51 दसवीं, 64 बारहवीं, 75 ग्रेजुएट, 17 ग्रेजुएट प्रोफेशनल्स तथा 36 पोस्ट ग्रेजुएट है।

31 से 40 वर्ष के सर्वाधिक 96 प्रत्याशी मैदान में

भारत निर्वाचन आयोग की रिपोर्ट के अनुसार चुनाव मैदान में खड़े एक प्रत्याशी की उम्र 25 वर्ष से कम है। इससे इतर 25 से 30 आयु वर्ग के 41 तथा 31 से 40 आयु वर्ग के 96 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। 94 प्रत्याशियों की उम्र 41 से 50 के बीच है। 49 की उम्र 51 से 60, 22 की 61 से 70 तथा तीन की आयु 71 से 80 वर्ष के बीच है।

तीसरे चरण की प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 1.24 करोड़

17 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों से किस्मत आजमा रहे 309 प्रत्याशियों की औसत संपत्ति (चल-अचल) 1.24 करोड़ रुपये है। इनमें से हजारीबाग के दो तथा सिल्ली के एक प्रत्याशी के पास सबसे अधिक संपत्ति है। इससे इतर हटिया विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव लड़ रहे एक प्रत्याशी के पास सबसे कम 4500 रुपये की चल-अचल संपत्ति है।

1.44 लाख युवा मतदाता पहली बार करेंगे वोट

खिजरी सीट अनुसूचित जनजाति और सिमरिया तथा कांके अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। शेष 14 कोडरमा, बरकट्ठा, बरही, मांडू, हजारीबाग, बड़कागांव, रामगढ़, धनवार, गोमियां, बेरमो, ईचागढ़, सिल्ली, रांची और हटिया सामान्य श्रेणी की सीटें हैं। इस चरण में 18 से 19 आयु वर्ग के 1,44,153 मतदाता पहली बार अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

2014 बूथों की होगी वेबकास्टिंग

निर्वाचन आयोग तीसरे चरण के चुनाव में 2014 बूथों की वेबकास्टिंग करेगा। कोडरमा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के 92, बरकट्ठा के 84, बरही के 95, मांडू के 79, हजारीबाग के 214, सिमरिया के 105, बड़कागांव के 114, रामगढ़ के 109 तथा धनवार के 79 बूथों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है। इसी तरह गोमिया के 83, बेरमो के 131, इचागढ़ के 39, सिल्ली के 112, खिजरी के 166, रांची के 151, हटिया के 204, जबकि कांके विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के 157 मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग की जाएगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.