Jharkhand Election 2019: आयोग का चाबुक, थानेदार निलंबित और चुनाव कार्य से हटाए गए CRPF कमांडेंट

रांची, राज्य ब्यूरो। चुनाव आयोग ने धनबाद के बाघमारा स्थित जोगता थाना के प्रभारी चंदेश्वर प्रसाद सिंह को निलंबित कर दिया है। उसकी जगह एसके पॉल को नया थाना प्रभारी बनाने का आदेश दिया है। वहीं, सुविधाओं को लेकर शिकायत करनेवाले सीआरपीएफ के कमांडेंट को चुनाव कार्य से हटा दिया है। उसके विरुद्ध कार्रवाई का भी निर्देश दिया गया है। चुनाव आयोग ने थाना प्रभारी के विरुद्ध मिली कई शिकायतों तथा पुलिस अधीक्षक की अनुशंसा पर थाना प्रभारी के विरुद्ध यह कार्रवाई की।

थाना प्रभारी द्वारा आचार संहिता उल्लंघन की लगातार शिकायत आयोग को मिल रही थी। इससे पहले आयोग ने निर्दलीय प्रत्याशी सरयू राय के समर्थक के रेस्टोरेंट में गलत ढंग से छापेमारी करने पर जमशेदपुर स्थित साकची थाना के प्रभारी राजीव कुमार सिंह को निलंबित कर दिया था। इधर, चुनाव आयोग ने जवानों के साथ जानवरों जैसा व्यवहार करने की शिकायत करनेवाले सीआरपीएफ के कंपनी कमांडेंट को चुनाव कार्य से हटा दिया है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि अखबारों में इस आशय की खबर प्रकाशित होने के बाद उन्होंने इसकी जानकारी एसएसपी तथा आइजी से ली। दोनों पदाधिकारियों ने उनके आरोप को गलत ठहराया। यह भी बात सामने आई कि कंपनी कमांडेंट को इस तरह की गलत शिकायत करने की आदत है और पहले भी ऐसी हरकतें की है।

उनके विरुद्ध कार्रवाई का निर्देश भी सीआरपीएफ के शीर्ष पदाधिकारियों को दिया गया है, क्योंकि इस तरह गलत बातें आने से सुरक्षा बलों के आत्मविश्वास में कमी आती है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय सुरक्षा बलों की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। खेलगांव में जहां सुरक्षाबलों को रखा गया है, वहां उनकी सुविधा का पूरा ध्यान रखा गया है। कई जगहों पर केंद्रीय सुरक्षा बलों का जोश के साथ स्वागत किया जा रहा है। रामगढ़ में तो बैनर लगाकर और सुरक्षा बलों को चॉकलेट देकर स्वागत किया गया।

1952 से 2020 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.