top menutop menutop menu

PM Modi in Jharkhand: हवाई अड्डे से सीधे सभा स्थल जाएंगे पीएम मोदी, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

रांची, जेएनएन| बोकारो में नौ दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी सभा में सुरक्षा को लेकर एसपजी की टीम ने बोकारो पहुंची। यहां हवाई अड्डे व कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया। एसपीजी टीम का नेतृत्व आइजी आलोक शर्मा ने उपायुक्त मुकेश कुमार व एसपी पी मुरूगन के साथसुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। सबसे पहले टीम हवाई अड्डे पर पहुंची। हवाई अड्डे के साथ अतिथि कक्ष सहित अन्य कमरों का भी निरीक्षण किया। बाद में सेक्टर पांच स्थित सभा स्थल पर टीम पहुंची।

पूरे मैदान का निरीक्षण करते हुए डीसी व एसपी के साथ सभी बिंदुओं पर चर्चा की। इसके बाद बोकारो समाहरणालय में पीएम के आने से लेकर पीएम के जाने के पूरे प्लान को लेकर विचार विमर्श किया गया। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के लिए प्रतिनियुक्त होने वाले अधिकारियों को लेकर भी विचार विमर्श हुआ।

एक किलोमीटर के दायरे में बंद रहेगा वाहनों का परिचालन : सभा स्थल के एक किलोमीटर परिधि में वाहनों का परिचालन बंद रहेगा। पीएम के हवाई जहाज के लैंड होने के बाद और यहां से जाने तक के बीच में हवाई मार्ग भी बंद रहेगा। सभी प्रमुख सड़कों पर पुलिस के जवान तैनात होंगे। मंच पर रहने वाले लोगों को छोड़कर किसी भी व्यक्ति का वाहन सभा स्थल तक नहीं पहुंचेगा। सभा को सुनने वालों को अपने-अपने वाहन अलग-अलग स्थानों पर पार्क करना होगा। इसके बाद पैदल सभा स्थल पर पहुंचना होगा। 

 एक लाख लोगों की बैठने की व्यवस्था : बोकारो पुस्तकालय मैदान की क्षमता डेढ़ लाख आंकी गई है। इसमें मंच के सामने 50 हजार कुर्सी व दो हजार सोफा लगाया जाएगा। वहीं बगल के मैदान में लगभग 30 हजार कुर्सी लगाया जाएगा। जहां बैठे लोग एलईडी स्क्रीन पर पीएम को सुनेंगे । इसी प्रकार आसपास के क्षेत्रों में भी एलईडी लगाया जाएगा। भारतीय जनता पार्टी अपने दूसरे प्रखंड के कार्यकर्ता जो शहर तक नहीं आ सकेंगे उनके लिए स्थानीय स्तर पर पीएम का भाषण सुनाने की भी व्यवस्था कर रहे है। 

पीएम के आगमन को लेकर रेस हुआ वन विभाग : हवाई अड्डे के आसपास की झाड़ी एवं कटे हुए पेड़ों के पड़े होने पर एसपीजी की टीम व उपायुक्त ने एतराज जताया। इसके बाद वन विभाग रेस हो गया है। बीते दस दिनों से पेड़ों की कटाई व कटे हुए पेड़ हटाने का काम बंद था। अचानक से शुक्रवार को फिर से काम प्रारंभ हो गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.