Jharkhand Elections 2019: पहले चरण की 13 सीटों पर ये दिग्‍गज आमने-सामने; जानें एक-एक सीट का हाल

रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 प्रथम चरण के चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की बुधवार को मुकर्रर आखिरी तिथि को धुआंधार नामांकन हुआ। आखिरी दिन राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, पूर्व ग्रामीण विकास मंत्री ददई दूबे, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री भानु प्रताप शाही और पूर्व शिक्षा मंत्री बैद्यनाथ राम सहित कई दिग्गजों ने पर्चे भरे। अन्य दिग्गजों में प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सह भाजपा प्रत्याशी सुखदेव भगत ने आजसू प्रत्याशी के विरुद्ध लोहरदगा तथा भाजपा के बागी प्रत्याशी राधा कृष्ण किशोर ने भाजपा प्रत्याशी के विरुद्ध आजसू पार्टी से छतरपुर में पर्चा दाखिल किया। पहले चरण की 13 सीटों पर दाखिल नामांकन पत्रों की जांच गुरुवार को होगी, जबकि 16 नवंबर तक नामांकन वापस लिए जा सकेंगे। इस चरण के लिए 30 नवंबर को वोट डाले जाएंगे।

प्रथम चरण के प्रमुख प्रत्याशी

चतरा (एससी) : इस सीट पर भाजपा और राजद के बीच टक्कर के आसार हैं। पूर्व मंत्री सत्यानंद भोक्ता के अलावा पूर्व विधायक जनार्दन पासवान प्रमुख प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में हैं। 

प्रमुख प्रत्याशी : जनार्दन पासवान  (भाजपा), सत्यानंद भोक्ता (राजद),  तिलेश्वर राम (झाविमो)

गुमला (एसटी) : भाजपा ने यहां पूर्व विधायक का टिकट काटकर नए प्रत्याशी पर भाग्य आजमाया है। झामुमो ने अपने पुराने प्रत्याशी पर ही भरोसा दिखाया है।

प्रमुख प्रत्याशी :  मिशिर कुजूर (भाजपा), भूषण तिर्की (झामुमो), राजनील तिग्गा (झाविमो)     

विशुनपुर (एसटी) :  यहां भाजपा और झामुमो के बीच मुकाबले के आसार हैं। सारे कयासों को धत्ता बताते हुए चमरा लिंडा अपने पुराने दल झामुमो के टिकट पर ही चुनाव लड़ रहे हैं।

प्रमुख प्रत्याशी :  अशोक उरांव (भाजपा),  चमरा लिंडा (झामुमो)     महात्मा उरांव (झाविमो)

लोहरदगा (एसटी) : यह सीट सबसे अधिक रोचक हो गई है। भाजपा और आजसू दोनों के प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल कर यहां चुनाव मैदान में आ गए हैं। दोनों के बीच कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भी चुनाव मैदान में हैं।

प्रमुख प्रत्याशी : सुखदेव भगत (भाजपा),  नीरू शांति भगत (आजसू), रामेश्वर उरांव (कांग्रेस)    

मनिका (एसटी)  :  भाजपा ने वर्तमान विधायक हरेकृष्ण सिंह का टिकट काटकर यहां नए प्रत्याशी पर भाग्य आजमाया है। कांग्रेस और झाविमो के प्रत्याशी भाजपा उम्मीदवार को कड़ी टक्कर दे सकते हैं।

रघुपाल सिंह (भाजपा), रामचंद्र सिंह (कांग्रेस), राजपाल सिंह (झाविमो)

लातेहार (एससी) :  इस सीट पर पुराने चुनावी योद्धा ही आमने-सामने हैं। हालांकि दोनों ने दल बदल लिए हैं। भाजपा ने यहां अपना प्रत्याशी बदल दिया है।

प्रमुख प्रत्याशी : प्रकाश राम (भाजपा), बैद्यनाथ राम (झामुमो), अमर कुमार भोक्ता (झाविमो)

पांकी  : इस सीट पर भाजपा और कांग्रेस के बीच ही मुकाबला की संभावना है। भाजपा ने यहां प्रत्याशी बदल दिया है। पिछले विधानसभा चुनाव की तरह इस बार भी दो प्रत्याशी शशि भूषण मेहता और देवेंद्र सिंह आमने-सामने हैं।

प्रमुख प्रत्याशी : शशि भूषण मेहता (भाजपा),  देवेंद्र सिंह (कांग्रेस), रुद्र कुमार शुक्ला (झावमो)

डालटनगंज : पिछले विधानसभा चुनाव की तरह इस बार भी दो प्रत्याशी आलोक चौरसिया और केएन त्रिपाठी आमने-सामने हैं। झाविमो ने यहां नया प्रत्याशी लाया है।

प्रमुख प्रत्याशी : आलोक चौरसिया (भाजपा),  केएन त्रिपाठी (कांग्रेस),  डा. राहुल अग्रवाल (झाविमो)

विश्रामपुर  : यहां मुकाबला दो पुराने दिग्गजों के बीच है। इनके बीच पिछले चुनाव में निर्दलीय के रूप में दूसरे स्थान पर रहनेवाली महिला प्रत्याशी झाविमो के टिकट पर चुनाव लड़ रही है।

प्रमुख प्रत्याशी : रामचंद्र चंद्रवंशी (भाजपा),  चंद्रशेखर दुबे (कांग्रेस)    अंजू सिंह (झाविमो)

छतरपुर (एससी) : यहां भाजपा और आजसू दोनों के प्रत्याशी आमने सामने हैं। भाजपा ने यहां नया प्रत्याशी दिया है। टिकट नहीं मिलने से नाराज वर्तमान विधायक राधाकृष्ण किशोर आजसू के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं। 

प्रमुख प्रत्याशी : पुष्पा देवी (भाजपा), राधाकृष्ण किशोर (आजसू),  सुधा चौधरी (जदयू)

हुसैनाबाद  : वर्तमान विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता दल बदलकर आजसू के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं। भाजपा ने यहां अपना प्रत्याशी नहीं दिया है। पूर्व विधायक संजय सिंह यादव राजद के टिकट पर ही चुनाव लड़ रहे हैं।

प्रमुख प्रत्याशी : कुशवाहा शिवपूजन मेहता (आजसू),  संजय सिंह यादव (राजद),  वीरेेंद्र कुमार  (झाविमो)

गढ़वा : भाजपा ने यहां वर्तमान विधायक पर ही भरोसा दिखाया है। झामुमो का भी यही हाल है।

प्रमुख प्रत्याशी : सत्येंद्र नाथ तिवारी (भाजपा),  मिथिलेश कुमार यादव (झामुमो),  सूरज प्रसाद गुप्ता (झाविमो)

भवनाथपुर  : दो परंपरागत प्रतिद्वंदी भानु प्रताप शाही व अनंत प्रताप देव चुनाव मैदान में हैं। हालांकि दोनों प्रत्याशी नए दल के टिकट से चुनाव लड़ रहे हैं।

प्रमुख प्रत्याशी : भानु प्रताप शाही (भाजपा), केपी यादव (कांग्रेस), अनंत प्रताप देव (लोजपा)। 

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.