top menutop menutop menu

NRC गरीब व मजदूर वर्ग को विदेशी घुसपैठिया साबित करने की साजिश : दीपांकर भट्टाचार्य Dhanbad News

NRC गरीब व मजदूर वर्ग को विदेशी घुसपैठिया साबित करने की साजिश : दीपांकर भट्टाचार्य Dhanbad News
Publish Date:Mon, 09 Dec 2019 07:46 PM (IST) Author: Sagar Singh

धनबाद, जेएनएन। भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य (Dipankar Bhattacharya) ने भाजपा सरकार की नीतियों को लेकर देश की जनता को आगाह किया। उन्होंने कहा कि भाजपा लोगों को धर्म का चश्मा बांट रही है। दीपांकर ने एनआरसी व सीबीए को लेकर कहा कि भाजपा सरकार देश में रह रहे गरीब व मजदूर वर्ग को विदेशी घुसपैठिया साबित करने की साजिश रच रही है।

दीपांकर भट्टाचार्य ने भूली के सी ब्लॉक में प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि असम में 16 हजार करोड़ रुपये खर्च कर 19 लाख देशवासियों को एनआरसी से बाहर कर दिया गया। क्या ये लोग भारतीय नही है? हिंदी, बंगला बोलने वाले लोगों को एनआरसी से बाहर कर दिया गया। क्या अन्य भाषी लोग जो असम में रोजगार करने गए और वहीं बस गए वे सभी लोग घुसपैठिया है?

करोड़ो लोगों से भारतीय होने का दर्जा छीन जाएगा : उन्होंने कहा कि 1951 के आधार पर अगर पूरे देश में एनआरसी लागू हुआ तो मजदूरी के लिए पलायन करने वाले मजदूर और गरीब किस आधार पर अपने आप को भारतीय साबित करेंगे। ऐसे में तो करोड़ो लोगों से भारतीय होने का दर्जा छीन जाएगा। फिर कौन सा देश उन्हें शरण देगा? देश की जनता को समझना होगा और भाजपा के इस नीति का विरोध करना होगा।

डबल इंजन की नहीं, बल्कि डबल बुलडोजर की सरकार है : उन्होंने झारखंड चुनाव को लेकर कहा कि भाजपा सरकार पुलिस का प्रयोग कर लोगों पर जबरन भाजपा के पक्ष में वोट करवा रही और विरोध करने पर पुलिस से गोली चलवा रही। ऐसे में निष्पक्ष चुनाव कैसे संभव है? राज्य में हत्या लूट हो रही है, पर सरकार चुप है। पहले विकास के दावे करने वाली यह डबल इंजन की सरकार नहीं, बल्कि डबल बुलडोजर की सरकार है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.