Jharkhand Assembly Election 2019: सेनाएं सजीं, हेलीकॉप्टर तैयार; अब उतरेंगे कांग्रेस के स्टार

रांची, राज्य ब्यूरो। पहले चरण का नामांकन प्रक्रिया पूरी होते ही अब नेताओं और पार्टियों का पूरा ध्यान प्रचार अभियान पर लग गया है। कांग्रेस ने सबसे पहले अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी कर दी है। इसमें केंद्रीय दस्ते से लेकर बिहार, छत्तीसगढ़, राजस्थान और झारखंड तक के 40 प्रमुख नेताओं का नाम है। इतना ही नहीं पार्टी ने इसके आगे की भी तैयारी की है।

हेलीकॉप्टर अभी से बुक कर लिया गया है और सीनियर नेताओं के लिए आवश्यकता के अनुरूप हेलीकॉप्टर व चार्टर्ड प्लेन भाड़े पर लिया जाएगा। सो, जंग जमीनी भी होगी और आसमानी भी। कांग्रेस की तैयारियों की जानकारी देते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता लाल किशोर नाथ शाहदेव ने बताया कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने स्टार प्रचारकों की सूची को फाइनल कर दिया है।

इसमें कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, राहुल गांधी, अधीर रंजन चौबे, गुलाम नवी आजाद, डॉ. रामेश्वर उरांव, आलमगीर आलम, भूपेश बाघेल, अशोक गहलोत, तारिक अनवर, ज्योतिरादित्य सिंधिया, टीएस सिंह देव, ताम्रध्वज साहू, मुकुल वासनिक, रंदीप सिंह सूरजेवाल, जितिन प्रसाद, धीरज प्रसाद साहू, गीता कोड़ा, फुरकान अंसारी, सुबोधकांत सहाय के नाम हैं।

इसके अलावा शिव कुमार डहरिया, सुष्मिता देव, आरपीएन सिंह, मैनुल हक, उमंग सिंघार, सलीम अहमद, केशव महतो कमलेश, राजेश ठाकुर, डॉ. इरफान अंसारी, संजय लाल पासवान, आलोक कुमार दूबे, रवींद्र सिंह, ज्योति सिंह मथारू, अजय शर्मा, जे. शेरगिल, अनिल शर्मा, निखिल कुमार, डॉ. मदन मोहन झा, सरफराज अहमद व शमशेर आलम के नाम भी शामिल हैं।

सोशल मीडिया और वार रूम टीम पहुंची पार्टी कार्यालय

भरपूर खटपट के बाद अब झामुमो, कांग्रेस और राजद के बीच का संबंध स्थितियां सामान्य है और तीनों दल साथ मिलकर चुनाव की तैयारियों में जुट गए हैं। कांग्रेस अपनी दिल्ली टीम को रांची उतार चुकी है और शीघ्र ही गतिविधियां दिखने लगेंगी। कांग्रेस सूत्रों अनुसार बिरसा मुंडा की जयंती और राज्य स्थापना दिवस 15 नवंबर के बाद से प्रचार अभियान जोर पकड़ेगा।

दो दिन बाद से प्रचार के लिए होर्डिंग, नारे, गाने आदि शुरू हो जाएंगे। प्रदेश कार्यालय में तैयार कांग्रेस के वार रूम में दिल्ली टीम के लिए अलग से इंतजाम किया गया है। झामुमो अभी उम्मीदवारों के नामों पर मुहर लगाएगा जिसके बाद संयुक्त प्रचार अभियान शुरू किया जाएगा।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.