Presenting Sponsor:

Jharkhand Election 2019: पूरे रौ में नजर आए अमित शाह, पूछा-राहुल बाबा कब उतारोगे इ‍टालियन चश्‍मा

Jharkhand Election 2019: पूरे रौ में नजर आए अमित शाह, पूछा-राहुल बाबा कब उतारोगे इ‍टालियन चश्‍मा

Jharkhand Election 2019 Phase 4 Voting झारखंड में शनिवार को तीन चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह राहुल गांधी और कांग्रेस पर खासे आक्रामक रहे।

Alok ShahiSat, 14 Dec 2019 06:54 PM (IST)

धनबाद, [जागरण स्‍पेशल]। Jharkhand Election 2019 Phase 4 Voting झारखंड में चौथे और पांचवें चरण के चुनाव के लिए तमाम पार्टियों ने शनिवार को धुआंधार प्रचार किया। चौथे दौर में पहुंचे चुनाव के लिए आज प्रचार का आखिरी दिन था, सो भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी। देश के गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने यहां ताबड़तोड़ तीन रैलियां कीं। पहले गिरिडीह, फिर देवघर और उसके बाद बाघमारा की धरती से भाजपा की वापसी के लिए पूरा जोर लगाते हुए शाह बेहद आक्रामक दिखे। पूर्वोतर समेत देश के अलग-अलग हिस्‍सों में नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन के बीच केंद्रीय मंत्री ने एक भारत-श्रेष्‍ठ भारत और एक देश-एक विधान का सुर बुलंद किया।

कांग्रेस और उसके पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी पर करारा वार करते हुए शाह ने कहा कि राहुल बाबा ने इटालियन चश्‍मा लगा रखा है। जिसके कारण उनको मोदी सरकार के विकास कार्य नहीं दिखते। उन्‍होंने तंज कसते हुए पूछा-राहुल बाबा आखिर ये इटालियन चश्‍मा कब उतारोगे। शाह ने गिरिडीह, देवघर और बाघमारा की जनसभाओं में लगभग एक बातें कीं। उन्‍होंने अनुच्‍छेद 370, जम्‍मू कश्‍मीर, पाकिस्‍तानी आतंकी, सर्जिकल स्‍ट्राइक, एनआरसी, तीन तलाक से लेकर अयोध्‍या के राम मंदिर के मसले पर कांग्रेस को लताड़ा। शाह ने तीनों जनसभाओं में जनमानस की भारी भीड़ के बीच कड़े लहजे में कहा कि जिस तरह नागरिकता संशोधन विधेयक पर कांग्रेस और विपक्षी पार्टियां देशभर में दंगा फैलाने की कोशिश कर रही है, यह उनकी नकारात्‍मक राजनीति को बताता है।

अमित शाह ने राहुल गांधी को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि झारखंड के साथ अपने शासनकाल में नाइंसाफी करने वाल कांग्रेस आखिर किस मुंह से झारखंड में वोट मांग रही है। एक-एक कर केंद्र की मोदी सरकार और झारखंड की रघुवर दास सरकार के विकास कार्यों को गिनाते हुए कहा कि भाजपा की सरकार ने जितनी‍ चिंता गरीबों कि की है, उतनी सात दशक में अब तक की किसी सरकार ने नहीं की। पिछड़ा वर्ग से खास जुड़ाव दिखाते हुए शाह ने सत्‍ता में वापसी पर उनके आरक्षण का भी वादा किया।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.