दिल्ली में हर आधा किमी पर होगा मोहल्ला क्लीनिक: केजरीवाल

 नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा है कि राजधानी के प्रत्येक व्यक्ति को घर के पास ही प्राथमिक स्वास्थ्य की सुविधाएं मिलें, इसके लिए दिल्ली सरकार लगातार प्रयास कर रही है। उन्होंने हर आधा किलोमीटर के दायरे में मोहल्ला क्लीनिक खोलने का सपना देखा है, जो कि अब पूरा हो रहा है। वह शनिवार को तिमारपुर के संगम विहार फ्लाईओवर के पास से 100 मोहल्ला क्लीनिकों के उद्घाटन के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में फिलहाल 202 मोहल्ला क्लीनिक चल रहे हैं। सौ नए मोहल्ला क्लीनिकों के खुलने के साथ ही दिल्ली में इनकी संख्या 300 पार हो गई है, लेकिन सरकार का लक्ष्य यह संख्या एक हजार पहुंचाने का है। इसी कड़ी में अगले दो महीने यानी दिसंबर आखिर तक दो सौ मोहल्ला क्लीनिक और खोले जाएंगे। राजधानी के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने में यह कारगर साबित होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन तीन सौ मोहल्ला क्लीनिकों के साथ ही 30 सांध्यकालीन मोहल्ला क्लीनिकों का भी संचालन हो रहा है। पूरी दुनिया में एक साथ इतने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नहीं खुले, जितने दिल्ली में पांच साल में मोहल्ला क्लीनिक खुल गए हैं। मोहल्ला क्लीनिक का मकसद गरीबों को आसानी से प्राथमिक उपचार उपलब्ध कराना है, ताकि उन्हें छोटी-छोटी बीमारी के लिए अस्पतालों के चक्कर न लगाने पड़ें।

अगले माह 100 और मोहल्ला क्लीनिक खुलेंगे

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली का डेढ़ हजार किलोमीटर का क्षेत्रफल है। इसमें जहां पांच सौ किलोमीटर में हरियाली व अन्य चीजें हैं। वहीं, एक हजार किलोमीटर के दायरे में आबादी है। उन्होंने कहा कि अगले माह सौ और मोहल्ला क्लीनिक खोले जाएंगे। इसके अगले माह सौ मोहल्ला क्लीनिक और खोले जाएंगे। इससे दिल्ली की जनता को अगले दो माह में दौ सौ मोहल्ला क्लीनिक और मिल जाएंगे। केजरीवाल ने कहा कि नीदरलैंड के प्रधानमंत्री और यूएन के पूर्व महासचिव भी दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक देखने आ चुके हैं।

इस बार तीन सीटें भी नहीं छोड़ेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार ने कई ऐसे काम किए हैं, जो दुनियाभर में कहीं नहीं हुए। यही वजह है कि दिल्ली की जनता कह रही है कि इस बार के विधानसभा चुनाव में हम तीन सीटें भी नहीं छोड़ेंगे, जो पिछली बार छूट गई थीं। उन्होंने कहा कि राजधानी में तीन लाख सीसीटीवी कैमरे लगाने के साथ ही अब दो लाख स्ट्रीट लाइट लगाई जानी हैं। दिल्ली के सरकारी स्कूलों में 22 हजार कमरे बनाए गए हैं। पूरे देश के सरकारी स्कूलों में इतने कमरे नहीं बने। सबसे सस्ती और 24 घंटे बिजली यहां के लोगों को मिल रही है। दुर्घटना होने पर हर व्यक्ति के लिए मुफ्त इलाज की व्यवस्था है। दिल्ली सरकार के काम से राज्य की जनता बहुत खुश है।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.