top menutop menutop menu

Delhi Election 2020: AAP विधायक ने कहा- क्षेत्र में खूब किया विकास, विपक्ष ने दावों को किया खारिज

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Assembly Elections 2020: अजेश यादव वर्ष 2008 में पहली बार बसपा की टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़े थे। लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद वह कांग्रेस में शामिल हो गए और कार्यक्षमता के बल पर पार्टी के दिल्ली प्रदेश सचिव तक पहुंचे। लेकिन जब आम आदमी पार्टी का गठ़न हुआ तो उन्होंने आप की सदस्यता ग्रहण कर ली।

इसके बाद उन्हें आप ने 2015 में बादली से विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाया था, जिसमें उन्होंने कांग्रेस के कद्दावर नेता देवेंद्र यादव को शिकस्त दी थी। उनके परिवार का राजनीति से पुराना नाता रहा है।

विधायक का नाम- अजेश यादव

विधानसभा क्षेत्र- बादली

राजनीतिक दल - आम आदमी पार्टी

शिक्षा-स्नातक (कला)

परिवार के सदस्य- पत्नी, एक बेटा, एक बेटी, मां व तीन भाई

उम्र- 53 वर्ष

पोलिंग स्टेशन की संख्या -219

कुल मतदाता-2, 23, 268

पुरुष मतदाता- 1,28192

महिला मतदाता-85,053

अन्य - 0

(आकंडे 2015 के विस चुनाव के हैं)

उपलब्धियां

-पहली बार सभी अनधिकृत कालोनियों में करोड़ो की लागत से सीवर, पानी की पाइप लाइन, सड़क- गलियों व नालियों का निर्माण कराया

- लिबासपुर में 43 करोड़ की लागत से बनाए जाने वाले मॉडल स्कूल की मंजूरी दिलाई, काठिया बाबा आश्रम में सीनियर सेकेंडरी स्कूल का निर्माण, मौजूदा सभी स्कूलों में करीब 150 नए कमरे, भलस्वा पुनर्वासित कॉलोनी में स्कूल की नई इमारत का निर्माण कराया।

-सिरसपुर में सालों से लंबित 11 सौ बेड के अस्पताल के निर्माण की बाधाओं को दूर किया, जिसका शुभारंभ 29 दिसंबर को मुख्यमंत्री करेंगे।

-बाबू जगजीवन राम अस्पताल का विस्तारीकरण करते हुए 6 सौ बेड की नई इमारत का निर्माण शुरु होगा, तीन मोहल्ला क्लिनिक, 16 प्रस्तावित।

- बादली गांव में जाटव बस्ती, यादव नगर में चौपाल, लिबासपुर में तीन सामुदायिक भवन का निर्माण कराया, यहां पुस्तकालय का निर्माण चल रहा है।

- पहली बार अनधिकृत कालोनियों में आइजीएल की पाइप लाइन बिछाई और लोगों के घरों तक रसोई गैस पहुंचाने का काम किया।

- जीटी रोड पर सड़क हादसे को रोकने के लिए फुट ओवर ब्रिज बनाया।

- सीसीटीवी कैमरे व वाई फाई की सुविधा दे दी गई।

दावों का पोस्टमार्टम

पिछले चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी के रुप में पूर्व विधायक देवेंद्र यादव दूसरे नंबर पर रहे थे। इनका कहना है कि

- गत पांच सालों में यह क्षेत्र विकास के नाम पर फिसड्डी साबित हुआ

- इलाके की बड़ी आबादी दूषित जलापूर्ति व सीवर की समस्या से परेशान है

- मैंने अपने कार्यकाल में स्वरूप नगर में 23 करोड़ की लागत से स्पोर्टस सेंटर की योजना को मंजूरी दिलाई थी, इस पर एक ईंट नहीं जोड़ी गई।

-सिरसपुर में अंडर ब्रिज का निर्माण शुरु नहीं हो सका

- स्वरूप में नगर भूमिगत जलाशय का निर्माण नहीं हो सका, जिससे पेयजल किल्लत बरकरार है

- विधायक हमारे ही काम को अपना काम बताते रहे

- स्वास्थ्य सुविधाओं के नाम पर क्षेत्र को कुछ नहीं मिला, केवल एक मोहल्ला क्लिनिक खोला गया वह भी तीन साल में पांच बार बंद हो गया।

-बुराड़ी स्वरूप नगर रोड किनारे 74 सौ फ्लैट बनकर तैयार हैं, लेकिन एक भी झुग्गी वासी को उसका चाबी नहीं मिल सका।

- शादी विवाह के आयोजनों के एक भी नया सामुदायिक भवन नहीं बना।

ऐसे हों हमारे विधायक

- लोगों की समस्याओं को गंभीरता से लें

- अपने विधानसभा क्षेत्र से पूरी तरह से परिचित हों

-विकास कार्यों में किसी प्रकार का भेदभाव न करे

जनता की राय

विधायक ने काम तो किये लेकिन यादव नगर विकास से वंचित रहा। विकास कार्य कालोनियों में प्रवेश गेट, सीसीटीवी कैमरे आइजीएल गैस पाइप लाइन बिछाने तक ही सीमित रहे। आज तक कोई नई गली व नाली तक नही बनी। साथ ही साथ हमारे क्षेत्र को कोई स्वास्थ्य केंद्र या मोहल्ला किलिनीक तक नही मिला। लोग विकास के लिए तरसते रहे। - हितेष, महासचिव, जनहित प्रयास समिति

मौजूदा विधायक के कार्यकाल में बादली में विकास के अनेकों काम किए गए। कालोनियों में गलियां, नालियां बनाई गईं। सीसीटीवी कैमरे लगाए गए। पेयजल की आपूर्ति की स्थिति में सुधार हुआ। सिरसपुर में नए अस्पताल का निर्माण कार्य शुरु होने वाला है।- कलुआ पाल, प्रधान, चंदन पार्क आरडब्ल्यू

चाहे गांव हो या कालोनी विकास के मामले में कोई अछूता नहीं रहा। सड़कें, गलियां, नालियां, सीवर लाइन के कार्यों से लोगों के जीवन स्तर में सुधार हुआ। सीसीटीवी कैमरे से सुरक्षा व्यवस्था बढ़ी। पानी व बिजली की किल्लत को दूर किया गया। - कालीचरण, प्रधान, आरडब्ल्यूए, भगत सिंह पार्क

पांच सालाें में क्षेत्र के विकास के लिए कई योजनाएं लागू की गईं। सीवर, पानी की समस्याआओं का समाधान हुआ। जल निकासी के लिए नाले नालियों का निर्मााण कराए गए। सीसीटीवी कैमरे व कालोनियों में लोहे के गेट लगाकर आपराधिक वारदातों पर लगाम लगाया गया। कई मोहल्ला क्लनिक खुलवाए गए। -नाथूलाल

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.