top menutop menutop menu

Delhi Election 2020: राजनीति के साथ फिटनेस और सुकून का ध्यान रखते हैं राघव चड्ढा

नई दिल्ली[ प्रियंका दुबे मेहता]। Delhi Assembly Election 2020: राजेंद्र नगर विधानसभा क्षेत्र से आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी राघव चड्ढा की छवि यूथ आइकन के तौर पर भी स्थापित हो गई है। इसका कारण है उनका स्टाइल, उनकी फिटनेस और उनका प्रजेंटेबल एटीट्यूट। चाहें वह ईश्वर के द्वार पर हों या फिर दिल्ली की गलियों में आम आदमी की समस्याएं जानने में व्यस्त हों, हमेशा अपने कपड़ों, रहन-सहन और खानपान का पूरा ध्यान रखते हैं।

वैसे तो उनका कहना है कि एक्टिव रहने से व्यक्तित्व में निखार स्वयं आ जाता है, लेकिन समय मिलने पर वे फिटनेस और सुकून पर भी ध्यान देते हैं। वह कहते हैं कि परिवार का साथ और मां का प्यार उन्हें ऊर्जा और उत्साह से भर देता है।

थकान उतार देती है परिवार के साथ चाय की चुस्की

पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट राघव वैसे तो फिटनेस फ्रीक हैं, लेकिन चुनाव के दौरान, साइकिलिंग, वॉक और जिमिंग पूरी तरह बाधित हो जाती है। दिनभर की रैलियां, सभाएं और मिलने जुलने की थकान उतारने के लिए वे आधे घंटे के लिए अपने लिए वक्त निकालते हैं और परिवार के साथ चाय की चुस्कियां लेते हैं। इस दौरान परिवार का उत्साहवर्धन, मां की केयरिंग बातें और अन्य सदस्यों का स्नेह उन्हें ऊर्जा से भर देता है।

सूफी से लेकर हिपहॉप म्यूजिक तक का कलेक्शन 

राघव संगीत प्रेमी भी हैं। उनके म्यूजिक कलेक्शन में गुलाम अली से लेकर अनु मलिक, सूफी से लेकर हिपहॉप और भोजपुरी से लेकर अंग्रेजी गाने तक मिलते हैं। उनका कहना है कि संगीत अपने हर रंग में खूबसूरत और ऊर्जादायक होता है। इसके अलावा किताबों के दो पन्ने भी पलटने का समय निकाल लेते हैं। नेटफ्लिक्स पर थोड़ी देर फिल्में भी देख लेते हैं।

कपड़ों की डिजाइनिंग करते हैं मामा 

राघव का मानना है कि जरूरी नहीं कि आप राजनीति में आएं तो अपने मूलअंदाज को बदल दें, तभी सफल नेता बन सकते हैं। आम आदमी की तरह ही फैशन और स्टाइल को भी पहले की ही तरह फॉलो करते हैं। हर ब्रांड, हर तरह के डिजाइन को पसंद करते हैं। इस दौरान आरामदायक कपड़ों में कुर्ता पायजामा और ब्लू जींस, ब्लैक टीशर्ट पहनने में सहज महसूस करते हैं। इसके अलावा फैशन डिजाइनर मामा पवन सचदेव उनके लिए फॉर्मलवियर डिजाइन करते हैं, जिसे राघव शौक से पहनते हैं।

आप प्रत्याशी राघव चड्ढा ने कहा, एक्टिव रहने से व्यक्तित्व में खुद ही आता है निखार, मां और परिवार के साथ समय बिताने से मिलती है शरीर को ऊर्जा पालतू कुत्ता है स्ट्रेस बस्टर कितनी भी व्यस्त दिनचर्या हो, काम का कितना भी तनाव हो, आधे से पौन घंटा अपने कुत्ते के साथ बिताना उनके रुटीन का हिस्सा है। राघव कहते हैं कि वह उनका इंतजार करता रहता है और जाते ही उनकी गोद में बैठ जाता है। दिनभर का तनाव उतारने के लिए अपने कुत्ते (लासाएप्सो) के साथ खेलते हैं और वही उनका सबसे बड़ा स्ट्रेस बस्टर है। पालतू कुत्ते के साथ फुर्सत के पल बिताते हुए राघव चड्ढा ’ संतुलित आहार से रहते हैं फिट जिम में कार्डियो करते हुए पसीना बहाना, साइकिलिंग का लुत्फ लेना और बुद्धा जयंती पार्क व सिंधी पार्क में वॉक करना।

यह सब चुनाव प्रचार के चलते इन दिनों बंद है। मौका मिलने पर शाम को कुछ डंबल्स आदि कर लेते हैं, लेकिन लोकसभा चुनाव से लेकर अब तक इसी तरह की दिनचर्या चल रही है। ऐसे में फिटनेस प्रभावित न हो, इसके लिए वे संतुलित और पौष्टिक आहार लेना नहीं भूलते। कहीं भी हों, मां के हाथ का बना खाना, सलाद, फल व दूध नियमित रूप से पीते हैं। राज्य स्तरीय बैडमिंटन खिलाड़ी रहे राघव मौका मिलने पर इसमें हाथ आजमाने से भी नहीं चूकते।

चुनावी भागदौड़ के बाद किसी तरह का ब्रेक लेने की प्लानिंग है। इस सवाल पर राघव कहते हैं कि जिस क्षेत्र में उतरे हैं, उसमें ब्रेक और आराम जैसी कोई चीज नहीं है। अरविंद केजरीवाल के साथ काम करने पर पता चलता है कि वे खुद भी बीस बीस घंटे काम करते हैं और सबसे यही उम्मीद करते हैं।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.