Benipatti Election 2020: क्या पिछली हार को इस बार जीत में बदल पाएंगे पीएचईडी मंत्री विनोद नारायण झा?

मधुबनी के बेनीपट्टी सीट से प्रमुख उम्मीदवार
Publish Date:Sat, 31 Oct 2020 08:58 PM (IST) Author:

मधुबनी, जेएनएन। बेनीपट्टी सीट से इस बार 15 प्रत्याशी अपनी राजनीतिक किस्मत आजमा रहे हैं। इस सीट पर 2010 में भाजपा तो 2015 में कांग्रेस कब्जा जमाने में सफल रही। विगत विधान सभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार भावना झा ने भाजपा उम्मीदवार विनोद नारायण झा को पराजित कर चौंका दिया था। 2010 में इस सीट से विनोद नारायण झा निर्वाचित हुए थे। इस बार फिर विनोद नारायण झा एवं भावना झा आमने-सामने हैं। दोनों के बीच मुकाबला कांटे का माना जा रहा है। हालांकि इस सीट से राजेश कुमार यादव एवं जदयू के नेता रहे नीरज कुमार झा के निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में चुनाव मैदान में उतर जाने से मुकाबला रोचक हो गया है। इन दोनों उम्मीदवारों की भी इस क्षेत्र में काफी लोकप्रियता है। भाजपा उम्मीदवार इस क्षेत्र से एक बार जीते तो एक बार पराजित भी हो चुके हैं। वर्तमान में ये विधान पार्षद एवं पीएचईडी मंत्री हैं। यहां मतदान की प्रक्रिया संपन्न हो गई है। यहां 51.62 फीसद लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। 

2020 के प्रमुख प्रत्याशी :

विनोद नारायण झा, भाजपा

भावना झा, कांग्रेस

नीरज कुमार झा, निर्दलीय

2015 के विजेता, उपविजेता और मिले मत 

भावना झा, कांग्रेस : 55978 मत

विनोद नारायण झा, भाजपा : 51244 मत

2010 के विजेता, उपविजेता और मिले मत :

विनोद नारायण झा, भाजपा : 31198 मत

महेश चौधरी, लोजपा : 18556 मत

2005 के विजेता, उपविजेता और मिले मत 

शालीग्राम, जदयू : 38825 मत

युगेश्वर, कांग्रेस : 31447 मत

कुल वोटर : 2.97 लाख

पुरुष वोटर : 1.56 लाख

महिला वोटर : 1.40 लाख

ट्रांसजेंडर वोटर - 8

जीत का गणित 

बेनीपट्टी विधानसभा में सवर्ण मतदाताओं की बहुलता है। दोनों प्रमुख प्रत्याशी भी ब्राह्मण जाति के हैं। ऐसे में कहना मुश्किल होगा कि आगे कौन रहेगा। इस क्षेत्र से लोजपा उम्मीदवार तो चुनाव मैदान में नहीं हैं, लेकिन जदयू के बागी उम्मीदवार ही एनडीए वोट बैंक में सेंधमारी कर सकता है। वहीं, राजेश कुमार यादव के भी चुनाव मैदान में रहने के कारण महागठबंधन के वोटों में भी सेंधमारी की संभावना है। ऐसे में यहां का चुनाव दिलचस्प हो गया है। राजेश कुमार यादव के चुनाव मैदान में आ जाने एवं जदयू नेता रहे नीरज कुमार झा के बागी तेवर ने समीकरण बिगाड़ दिया है। इन दोनों निर्दलीय उम्मीदवार के परफारमेंस पर ही इस सीट का जीत-हार निर्भर करेगी।

प्रमुख मुद्दे :

-- अनुमंडल मुख्यालय रहते हुए भी बेनीपट्टी को नगर पंचायत का दर्जा नहीं

मिलना।

-- बेनीपट्टी प्रखंड क्षेत्र स्थित अरेड़ को प्रखंड का दर्जा नहीं

दिया जाना।

-- बेनीपट्टी बाजार में जलजमाव की समस्या से निजात के लिए नाला का निर्माण नहीं होना।

------------------------

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.