Bihar Election Rajnath Singh Rally: कांग्रेस चीन के मसले पर जनता को गुमराह कर रही, 1962 याद नहीं: राजनाथ सिंह

चुनाव सभा को संबोधित करते केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह।
Publish Date:Thu, 22 Oct 2020 11:32 AM (IST) Author: Sumita Jaiswal

पटना, जेएनएन। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हो या राम मंदिर, सभी मुद्दों का शांतिपूर्ण हल मोदी सरकार में ही संभव हुआ। घोषणा पत्र में किए गए वादे को भाजपा पूरा कर रही है। सीमाओं की रक्षा से लेकर चौतरफा विकास के साथ पीएम मोदी के नेतृत्व में देश प्रगति के पथ पर अग्र्रसर है। ये बातें उन्होंने गुरुवार को एनडीए के पक्ष में पटना के बाढ़ विधानसभा क्षेत्र के अगवानपुर तथा रोहतास के नासरीगंज में आयोजित चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहीं।

रक्षा मंत्री ने कहा कि हमारी पार्टी ने देश के विभाजन का पुरजोर विरोध किया था। भारत अखंड रहे, ऐसा हम लोग चाहते थे। कुछ ऐसी ताकतें थीं, जिसने विभाजन करा दिया। उसके बाद पाकिस्तान में ङ्क्षहदुओं पर जो जुल्म ढाया गया, उसे पूरी दुनिया ने देखा। भारत ने अल्पसंख्यकों को पूरा सम्मान दिया।  

उन्होंने कहा कि बिहार के लोग पहले कहते थे कि ङ्क्षजदगी गुजर जाएगी, यहां बिजली कभी नहीं आएगी। नीतीश जी ने बिजली लाकर लालटेन युग समाप्त कर दिया। लालटेन फूट गया, तेल बह गया और पंजा फेल हो गया और खेल खत्म हो गया। 

भारत और चीन के बीच सीमा पर बढ़े तनाव के संदर्भ में उन्होंने कहा कि पीएम मोदी का सीना 56 इंच का है। यदि जोखिम उठाने का साहस किसी में है, तो हमारे पीएम में है। कहा, कांग्रेस के एक नेता कहते हैं कि यदि हमारी सरकार होती तो तीन दिन के अंदर चीन को खदेड़ देते। 1962 में जब पंडित जवाहरलाल नेहरू प्रधानमंत्री थे, तो चीन से युद्ध हुआ था। कितनी जमीन पर चीन ने कब्जा किया, यह छिपा नहीं है। 

राजनाथ ने कहा कि रक्षा मंत्री होने के नाते यकीन दिलाता हूं कि दुनिया की कोई ताकत अब एक इंच जमीन पर कब्जा नहीं कर सकती। इसी बिहार रेजीमेंट के 20 जवानों ने गलवन घाटी में भारत मां की रक्षा के लिए बलिदान दिया है। कहा, उन माताओं को मैं प्रणाम करता हूं कि जिन्होंने ऐसे बहादुर जवानों को जन्म दिया।  

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.