Bihar Election PM Modi Rally: लालू के जंगलराज से वोकल फॉर लोकल तक, जानिए PM मोदी की रैली की बड़ी बातें

बिहार में चुनावी रैली करने आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फाइल तस्‍वीर।
Publish Date:Fri, 23 Oct 2020 04:38 PM (IST) Author: Amit Alok

पटना, जेएनएन। Bihar Election PM Modi Rally: बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को अपनी चुनावी रैलियों का आरंभ किया। पहले दिन रोहतास, गया व भागलपुर की रैलियों वे विपक्ष पर जमकर हमलावर दिखे। 15 साल पहले के शासन की चर्चा करते हुए जंगल राज की याद दिलाई तथा जनत से धोखे में नहीं पड़ने की अपील की। बिहार में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से अलग हो चुके लोक जनशक्ति पार्टी के अध्‍यक्ष चिराग पासवान की कोई चर्चा नहीं की, लेकिन उनके पिता रामविलास पासवान को अंतिम सांस तक अपना सहयोगी बताते हुए उन्‍हें याद करना नहीं भूले। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि केंद्र की संयुक्‍त प्रगतिशील गठबंधन की सरकार ने नीतीश कमार की बिहार की एडीए सरकार के 10 साल बर्बाद कर दिए। उन्‍होंने महागठबंधन सरकार के 18 महीनों तथा उससे नीतीश कुमार के मोह भंग की भी चर्चा की। पीएम मोदी ने वोकल फॉर लोकल पर भी बल दिया। आइए नजर डालते हैं उसके संबोधन की कुछ खास बातों पर...

चिराग को लेकर साफ नहीं किया स्‍टैंड

रोहतास में अपनी पहली रैली के आरंभ में ही पीएम मोदी ने एलजेपी के संस्‍थापक रामविलास पासवान को याद करे हुए उन्हें श्रद्धांजली दी। कहा कि रामविलास पासवान अपनी अंतिम सांस तक उनके निकट सहयोगी रहे। हालांकि, उन्‍होंने अपनी किसी भी रैली में चिराग पासवान या एलजेपी के बारे में या उसके खिलाफ कुछ भी नहीं कहा। उम्‍मीद थी कि पीएम मोदी एलजेपी व चिराग पासवान को लेकर बीजेपी का स्टैंड साफ करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

रघुवंश की तारीफ के पीछे राजपूत वोटरों पर नजर

पीएम मोदी ने रामविलास पासवान के अलावा जीवन के अंतिम दिनों में राष्‍ट्रीय जनता दल से इस्‍तीफा देने वाले रघुवंश प्रसाद सिंह को भी श्रद्धांजलि देते हुए उन्‍हें बिहार का सपूत बताया। रघुवंश प्रसाद सिंह के गरीबों के उत्थान के लिए निरंतर काम करते रहने की चर्चा की। माना जा रहा है कि यह राजपूत वोटरों को साधने की कोशिश थी।

कोरोना काल में बिहार ने किया बेहतर काम

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए बिहार में किए गए काम की चर्चा करते हुए पीएम ने कहा कि बिहार में तेजी से काम नहीं हुआ होता तो महामारी न जाने कितनों की जान ले लेती। तो हाहाकार मचता, उसकी कोई कल्पना नहीं कर सकता है। नीतीश कुमार की सरकार और बिहार के लोगों ने कोरोना का डटकर मुकाबला किया है।

वोकल फॉर लोकल पर दिया बल

पीएम मोदी ने स्‍थानीय उत्‍पादों के प्रयाेग की अपील कर वोकल फॉर लोकल पर बल दिया। खासबकर भागलपुर में उन्‍होंने कहा कि लोग आगामी त्‍योहारों में भागलपुरी सिल्‍क का उपयोग करें।

लोगों को दिलाई जंगलराज की याद

पीएम मोदी ने विपक्षी पार्टी खास तौर से आरजेडी पर बिना नाम लिए निशाना साधते हुए कहा कि बिहार के लोग वो दिन नहीं भूल सकते जब सूरज ढलने के साथ सब कुछ बंद हो जाता था। रात में स्‍टेशन पर ट्रेन से उतरने वाले वहीं रात गुजार देते थे और सुबह में घर जाते थे। तब न बिजली थी, न सड़क। लेकिन आज बिजली व सड़कें हैं और सबसे बड़ी बात यह कि वो माहौल है जिसमें लोग बिना डरे रह सकते हैं। पीएम मोदी ने नई पीढ़ी को उस दौर की जानकारी देते हुए कहा कि आज बिहार में पीढ़ी भले बदल गई हो, लेकिन नौजवानों को याद रखना है कि बिहार को इतनी मुश्किलों में डालने वाले कौन लोग थे।

केंद्र की यूपीए सरकार ने बिहार पर निकाला हार का गुस्‍सा

पीएम ने कहा कि जब बिहार के लोगों ने आरजेडी व कांग्रेस को सत्ता से हटा कर नीतीश कुमार को मौका दिया तो वे बौखला गए। कंद्र की यूपीए सरकार में रहते हुए उन लोगों ने अगले 10 साल तक बिहार के लोगों पर अपना गुस्सा निकाला। नीतीश कुमार की सरकार को काम नहीे करने दिया। जब से केंद्र व बिहार में एनडीए की सरकार है, बिहार का बड़ा विकास हुआ है। लेकिन, बिहार को अभी भी विकास के सफर में मीलों आगे जाना है।

महागठबंधन सरकार के 18 महीने की चर्चा

पीएम मोदी ने महागठबंधन की 18 महीने की सरकार की भी चर्सा की। कहा कि इसमें भ्रष्‍टाार व परिवारवाद को देख नीतीश कुमार का मोहभंग हो गया। फिर एनडीए की सरकार बनी। लेकिन महागठबंधन के लोग फिर बिहार को ललचाई नजरों से देख रहे हैं।

लालटेन का नहीं रहा जमाना, उजाले की ओर बढ़ रहा बिहार

पीएम मोदी ने कहा कि बिहार को अब कोई बीमारू या बेबस राज्य नहीं कह सकता है। जिनका इतिहास बिहार को बीमारू बनाने का है, उन्हें आसपास भी फटकने नहीं देंगे। यहां लालटेन का जमाना चला गया, अब उजाले की बात हो रही है।

धारा 370 पर कहा: देश अपने फैसले से पीछे नहीं हटेगा

पीएम ने कहा कि जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने व आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई के मुद्दे भी उठाए। कहा कि देश को इनका लंबे समय से इंतजार था, लेकिन फैसला एनडीए की सरकार ने लिया। अब विपक्ष के लोग इन फैसलों को पलटने की बात कर रहे हैं। कह रहे हैं कि सत्ता में आए तो धारा 370 फिर लागू कर देंगे। वे जिसकी चाहे मदद लें, लेकिन देश अपने फैसलों से पीछे नहीं हटने जा रहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.