असम में कांग्रेस का एलान, विधानसभा चुनाव जीतने पर नौकरी में महिलाओं को 50 फीसद आरक्षण

कहा, पार्टी का मुख्य उद्देश्य युवाओं और महिलाओं का कल्याण

कांग्रेस ने यहां एआइयूडीएफ बीपीएफ सीपीआइ सीपीएम सीपीआइ (एमएल) तथा आंचलिक गण मोर्चो (एजीएम) के साथ चुनावी गठबंधन किया है। महाजोत नाम से विपक्षी दलों का यह गठबंधन भाजपा नेतृत्व वाले गठबंधन के खिलाफ चुनाव लड़ रहा है।

Neel RajputThu, 04 Mar 2021 10:55 PM (IST)

गुवाहाटी, प्रेट्र। कांग्रेस ने असम में विधानसभा चुनाव जीतने पर महिलाओं को सरकारी नौकरी में पचास फीसद आरक्षण देने का वादा किया है। गुरुवार को यहा एक संवाददाता सम्मेलन में अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने कहा कि यदि आने वाले चुनाव में कांग्रेस के नेतृत्व वाला गठबंधन 'महाजोत' सत्ता में आता है तो महिलाओं को सरकारी नौकरियों में पचास फीसद कोटे की गारंटी दी जाएगी। सुष्मिता ने कहा कि महाजोत का मुख्य उद्देश्य युवाओं और महिलाओं का कल्याण है।

बता दें कि कांग्रेस ने यहां एआइयूडीएफ, बीपीएफ, सीपीआइ, सीपीएम, सीपीआइ(एमएल) तथा आंचलिक गण मोर्चो (एजीएम) के साथ चुनावी गठबंधन किया है। महाजोत नाम से विपक्षी दलों का यह गठबंधन भाजपा नेतृत्व वाले गठबंधन के खिलाफ चुनाव लड़ रहा है। महिला कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह केवल चुनावी वादा नहीं, बल्कि इसे घोषणापत्र में शामिल किया जाएगा।

बता दें कि राज्य में महिला मतदाताओं की संख्या काफी है। इसी को ध्यान में रखकर पार्टी की ओर से यह वादा किया गया है। आंकड़ों के मुताबिक, राज्य के 2.31 करोड़ मतदाताओं में इनकी संख्या 1.14 करोड़ से ज्यादा है। दो मार्च को कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी कई चुनावी वादे किए थे। इनमें पांच लाख सरकारी नौकरियां, प्रत्येक गृहणी को हर माह 2000 रुपये और सभी को 200 यूनिट फ्री बिजली देना प्रमुख हैं। इस बीच जिम चाया (देवरी) पीपुल्स पार्टी (जेपीपी) ने कांग्रेस नेतृत्व वाले चुनावी गठबंधन में शामिल होने की घोषणा की है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.