top menutop menutop menu

आइसोलेशन वार्ड बना मदद को आगे हाथ बढ़ा रहीं द्वारका की विभिन्न सोसाइटियां

आइसोलेशन वार्ड बना मदद को आगे हाथ बढ़ा रहीं द्वारका की विभिन्न सोसाइटियां
Publish Date:Thu, 02 Jul 2020 09:15 PM (IST) Author: Jagran

मनीषा गर्ग, पश्चिमी दिल्ली

रोजाना हजारों कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं, जिसमें अधिकांश मरीजों को चिकित्सक होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दे रहे हैं। पर उनमें से अधिकांश मरीज ऐसे हैं जो या तो किराए के मकान में रहते हैं या उनका घर काफी छोटा है, जिसमें केवल एक ही टॉयलेट या एक ही कमरा है। ऐसी परिस्थिति में मरीज को घर के किसी एक कोने में आइसोलेट करना स्वास्थ्य विभाग के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है, क्योंकि इससे परिवार के अन्य लोगों में भी संक्रमण फैलने का खतरा बना रहता है। प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम की चुनौतियों को कम करने के लिए द्वारका की सोसाइटियां मदद को आगे हाथ बढ़ा रही हैं। आरडब्ल्यूए पदाधिकारी सोसाइटी परिसर में आइसोलेशन वार्ड विकसित कर रही है। जिसमें बेड, अलग बाथरूम, खाना-पीने की व्यवस्था, दवाइयां, पल्स ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन सिलेंडर, पीपीई किट समेत तमाम सुविधा उपलब्ध है। परिसर की क्षमता के अनुरूप शारीरिक दूरी का ख्याल रखते हुए आरडब्ल्यूए यह व्यवस्था करने में जुटी हुई है। विशेषकर जब से प्रशासन ने चिकित्सक व मेडिकल वेस्ट नियमित रूप से एकत्रित करने का आश्वासन दिया है, तब से द्वारका की अन्य सीजीएचएस सोसाइटियां भी इस नेक काम में मदद को आगे आ रही हैं।

अभी तक द्वारका सेक्टर-4 स्थित नीलांचल अपार्टमेंट, द्वारका सेक्टर-3 स्थित वेलकम अपार्टमेंट, द्वारका सेक्टर-13 स्थित डीजेए अपार्टमेंट व द्वारका सेक्टर-14 स्थित शहीद भगत सिंह अपार्टमेंट में बेड लग चुके हैं। जिनके घर में अलग शौचालय व कमरे की व्यवस्था है, केवल उन्हीं लोगों को होम आइसोलेशन में रखा जा रहा है। शेष लोगों को आइसोलेशन सेंटर में रखने की योजना है। ऐसे में आरडब्ल्यूए पदाधिकारी सोसायटी परिसर में आइसोलेशन की सुविधा का बंदोबस्त कर रहे हैं, ताकि लोगों को घर से ज्यादा दूर न जाना पड़े। आइसोलेशन सेंटर में तमाम सुविधाओं के बीच मरीजों के मनोरंजन के लिए टीवी भी लगाया गया है, ताकि मरीज तनाव मुक्त रहे और जल्दी ठीक होकर घर लौटे। आरडब्ल्यूए के इस प्रयास को जिला प्रशासन ने काफी सराहा है और प्रत्येक सोसायटी से अपील की है कि वे अपने यहां भी इस तरह की सुविधा का बंदोबस्त करें। जिससे कोरोना संक्रमण से निपटना प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के लिए आसान हो। बॉक्स

हमारी पूरी कोशिश है कि द्वारका की अधिक से अधिक सोसाइटी इस दिशा में मदद को आगे आए। इसके लिए उन्हें लगातार प्रेरित किया जा रहा है। प्रशासन का भी पूरा सहयोग मिल रहा है। भविष्य के लिए यह सीजीएचएस सोसाइटियों का यह प्रयास काफी लाभदायक साबित होगा।

सुधा सिन्हा, अध्यक्ष, फेडरेशन ऑफ सीजीएचएस द्वारका बॉक्स

फेडरेशन के अंतर्गत करीब 400 सोसायटियां आती है। सोसाइटियों में आइसोलेशन की सुविधा तो नहीं है, लेकिन कोशिश की जा रही है कि प्रत्येक सोसायटी में ऑक्सीजन सिलेंडर व पल्स ऑक्सीमीटर की सुविधा हो, ताकि सोसाइटी में किसी भी व्यक्ति की तबियत खराब होने पर इन उपकरणों की मदद से उनकी जान बचाई जा सके। इसके लिए सभी सोसायटियों को खत लिखा गया है।

केडी भाटी, द्वारका रेजिडेंट वेलफेयर फेडरेशन

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.