बवाना के लोगों ने ली सबसे ज्यादा प्रदूषित हवा में सांस

बवाना के लोगों ने ली सबसे ज्यादा प्रदूषित हवा में सांस
Publish Date:Thu, 29 Oct 2020 10:07 PM (IST) Author: Jagran

सोनू राणा, बाहरी दिल्ली

राजधानी दिल्ली में ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (ग्रेप) लागू हुए दो सप्ताह हो चुके हैं। इसके बावजूद बढ़ते प्रदूषण पर लगाम नहीं लग पा रहा है। बृहस्पतिवार को राजधानी दिल्ली के बवाना में लोगों ने सबसे ज्यादा प्रदूषित हवा में सांस ली। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, बृहस्पतिवार को बाहरी दिल्ली के सभी क्षेत्रों की हवा खतरनाक स्थिति में बनी रही। बवाना का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) जहां राजधानी में सबसे ज्यादा 453 दर्ज किया गया, वहीं मुंडका का एक्यूआइ 427 दर्ज किया गया। मुंडका की हवा बवाना के बाद सबसे ज्यादा खराब रही। राजधानी की हवा प्रदूषित करने में बृहस्पतिवार को पराली के धुएं का 36 फीसद योगदान रहा। यह धुआं हरियाणा व पंजाब में जलाई गई पराली का ही था, जो हवा चलने पर दिल्ली में पहुंच गया। मुंडका और बवाना दोनों हरियाणा की सीमा के सबसे नजदीक हैं। हरियाणा से पराली का धुआं सबसे पहले यहीं पहुंचा है, क्योंकि दोनों जगह की दूरी हरियाणा बॉर्डर से छह से सात किलोमीटर है।

सड़कों पर उड़ती धूल भी बढ़ा रही प्रदूषण

बवाना व आसपास के इलाकों में सड़कों पर उड़ती धूल भी प्रदूषण बढ़ने का एक कारण है। जेजे कॉलोनी, बवाना, दरियापुर, पूंठखुर्द आदि गांवों में धूल उड़ती रहती है। इस धूल का कोई पुख्ता इंतजाम न करने के कारण भी प्रदूषण बढ़ रहा है। इसके अलावा बवाना व आसपास के क्षेत्र में भी कई ऐसी फैक्ट्रियां हैं, जो हवा में जहर घोल रही हैं। ये फैक्ट्रियां अंधेरा होते ही जहरीला धुआं छोड़ने लगती हैं।

बवाना व आसपास के इलाकों में जलाई जा रही पराली

बवाना व आसपास के इलाकों में जलाई गई पराली की वजह से भी यहां की हवा सबसे खराब श्रेणी में आ गई है। सोमवार को नांगल ठाकरान, मंगलवार को दरियापुर गांव और बुधवार को बवाना में पराली जलाई गई थी। इसके कारण भी बवाना में प्रदूषण बढ़ा है। ऐसी रही हवा की स्थिति

क्षेत्र ---- एक्यूआइ नरेला 402

अलीपुर 404

जहांगीरपुरी 410

रोहिणी 413

वजीरपुर 420

मुंडका 427

बवाना 453 (नोट: आंकड़े रात आठ बजे तक के)

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.