top menutop menutop menu

राजू बसौदी गिरोह के अन्य बदमाशों का पुलिस लगा रही पता

जागरण संवाददाता, पश्चिमी दिल्ली : छावला थाना क्षेत्र में द्वारका जिला पुलिस के स्पेशल स्टाफ व बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ मामले से पहले पुलिस ने परविदर नामक आरोपित को गिरफ्तार किया था। परविदर भी राजू बसौदी व काला जटहेड़ी गिरोह का सदस्य है। पुलिस के अनुसार, इस मामले में अभी अन्य बदमाशों की तलाश चल रही है। राजू बसौदी गिरोह के लिए अक्सर ऐसे लड़कों की तलाश में रहता है, जिन्हें अपराध की दुनिया में कदम रखने की चाहत होती है। क्षेत्र में ऐसे लड़कों की तलाश के बाद उन्हें प्रलोभन व ऊंचे-ऊंचे सपने दिखाकर गिरोह में शामिल किया जाता है और फिर उनसे अपराध करवाया जाता है।

पुलिस का कहना है कि जो भी बदमाश इस मामले में फरार चल रहे हैं, उन्हें जल्द ही दबोच लिया जाएगा। इस मामले में बृजेश व विकास से पुलिस पूछताछ की तैयारी में है। दोनों की हालत में काफी सुधार हुआ है और अब वे बयान देने की स्थिति में हैं। स्पेशल स्टाफ के प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन कुमार की टीम गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ कर गिरोह के अन्य बदमाशों के बारे में जानकारी जुटा रही है, ताकि उन्हें भी दबोचा जा सके।

इधर, नजफगढ़ की सुरक्षा को लेकर पुलिस ने विशेष इंतजाम किए हैं। नजफगढ़ की लाइफलाइन मानी जाने वाली फिरनी रोड (शहर के चारों ओर गुजरने वाली गोलाकर सड़क) पर जगह-जगह पुलिस ने पक्के मोर्चे बनाकर वहां पुलिसकर्मियों की स्थायी तैनाती कर दी है। इसके अलावा पांच मोटरसाइकिलों का एक दस्ता नजफगढ़ की फिरनी रोड व इससे सटी सड़कों पर गश्त किया करेगी। इसके अलावा क्षेत्र में जगह-जगह लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज पर भी पुलिस की नजर रहेगी।

गौरतलब हो कि नजफगढ़ की फिरनी रोड को दिल्ली के शहरी क्षेत्र व ग्रामीण इलाके के बीच एक सेतु माना जाता है। यहां से विभिन्न दिशाओं में जाने वाली सड़कें क्षेत्र के करीब 50 गांव को आपस में जोड़ती हैं। ऐसे में पुलिस द्वारा किए गए इस इंतजाम का लोगों ने स्वागत किया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.