दिल्ली के 2 करोड़ लोगों को कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से क्यों है डरना जरूरी ?

ओमिक्रोन के बारे में कहा जा रहा है कि यह जानलेवा न होकर भी लोगों को और सरकारों को बड़ा नुकसान पहुंचा सकता है। दरअसल कोरोना के विस्तार के चलते लोगों की जिंदगी और कारोबार दोनों में ठहराव तय है जिसका असर देश की प्रगति पर पड़ेगा।

Jp YadavPublish:Tue, 07 Dec 2021 09:43 AM (IST) Updated:Tue, 07 Dec 2021 11:19 AM (IST)
दिल्ली के 2 करोड़ लोगों को कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से क्यों है डरना जरूरी ?
दिल्ली के 2 करोड़ लोगों को कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से क्यों है डरना जरूरी ?

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट के मामले बढ़ सकते हैं, क्योंकि यहां पर सघन आबादी और लापरवाही दोनों ही हैं। अगर दिल्ली में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के मामले बढ़ते ही हाहाकार मचना तय है। ओमिक्रोन के बारे में कहा जा रहा है कि यह जानलेवा न होकर भी लोगों को और सरकारों को बड़ा नुकसान पहुंचा सकता है। दरअसल, कोरोना के विस्तार के चलते लोगों की जिंदगी और कारोबार दोनों में ठहराव तय है, जिसका असर देश की प्रगति पर पड़ेगा।

इसके बावजूद बाजारों में लोग संक्रमण से बचाव के उपायों को लेकर बेफिक्र देखे जा रहे हैं। सदर बाजार से लेकर चांदनी चौक, दरियागंज व जामा मस्जिद समेत अन्य बाजारों में आए लोगों में लापरवाही देखने को मिल रही है। बहुत से लोग हैं जो मास्क भी नहीं लगा रहे हैं। इन दिनों बाजारों में चालान काटने वाली प्रशासनिक टीमें और पुलिस की टीमें की भी सख्ती नजर नहीं आ रही है। 

कनाट प्लेस में नहीं हो रहा नियमों का पालनकनाट प्लेस में घूमते लोगों में लापरवाही देखने को मिली। इसके अलावा आउटर और इनर सर्कल पर लोग बिना मास्क के पुलिसकर्मियों के सामने से आते-जाते दिख रहे हैं। इसके बावजूद पुलिसकर्मी नियमों का पालन नहीं करने वाले लोगों के चालान तक नहीं काट रहे हैं। वहीं, सेंट्रल पार्क के अंदर भी युवा मास्क नहीं लगा रहे हैं। इसके अलावा युवक अपने दोस्तों के साथ बेफिक्र होकर वीडियो और फोटो शूट करा रहे हैं।

सदर में क्रिसमस की खरीदारी करने वाले तोड़ रहे नियम

सदर बाजार में क्रिसमस डे के लिए और अन्य सामान की खरीदारी के लिए पहुंच रहे हैं। लोग बिना मास्क के दुकानों पर खरीदारी कर रहे हैं। इसके अलावा बाजार में पटरी पर हुए अतिक्रमण के कारण सड़क पर चलने की जगह कम हो गई है। इसके कारण लोगों के बीच शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं हो रहा है। कई दुकानदार खुद मास्क नहीं लगा रहे हैं। साथ ही दुकानों के बाहर शारीरिक दूरी के लिए बनाए जाने वाले गोले भी नहीं बनाए जा रहे हैं।

जनपथ में कपड़ों की खरीदारी में भूल रहे मास्क पहनना

जनपथ बाजार में पुलिस की ओर से कोरोना नियमों का पालन करने की अपील के बीच भी लोग लापरवाह है।कई लोग खरीदारी करते वक्त मास्क नहीं पहन रहे हैं। जबकि, बाजार में पुलिसकर्मी भी घूमते हुए नजर आ रहे हैं। वे भी लोगों को इसके लिए नहीं सतर्क कर रहे हैं।

देवराज बवेजा (अध्यक्ष, दिल्ली व्यापार महासंघ) के मुताबिक, दुकान में प्रवेश से पूर्व सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है। ग्राहकों से मास्क पहनने के लिए आग्रह किया जाता है। सड़क पर चलने वाले लोग नियमों का पालन करें उसकी जिम्मेदारी प्रशासन की है।

नागेंद्र त्रिपाठी (एडीएम, मध्य जिला) का कहना है कि सिविल डिफेंस की टीमों को लगाया गया है, जो नियम तोड़ने वाले लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई कर रही है। बाजारों में लोगों को कोरोना के लिए जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने के लिए भी जागरूक किया जा रहा है।