मेट्रो पुलिस ने बुजुर्ग के रुपये व गहनों से भरा बैग चुराने के मामले में दो धरे

मेट्रो पुलिस की गिरफ्त में आया चोर।
Publish Date:Fri, 23 Oct 2020 02:06 AM (IST) Author:

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। मेट्रो पुलिस ने मेट्रो यात्रा के दौरान बुजुर्ग के रुपये व गहनों से भरा बैग चुराने के मामले में दो बदमाशों को धरा है। आरोपितों की पहचान अरुण कुमार कोहली और निखिल भाटिया के तौर पर हुई है। अरुण ने चोरी के जेवरात निखिल को बेच दिए थे। बाद में निखिल ने चोरी के जेवरात के बदले नए जेवरात ले लिए थे। वहीं नए जेवरात को बेचकर उससे प्राप्त रुपये आरोपितों ने बैंक में जमा करवा दिया था। पुलिस ने आरोपितों के पास से चोरी का मोबाइल फोन और जमा किए गए 2,50 लाख रुपये के कागजात इत्यादि बरामद किए हैं। मामले की छानबीन की जा रही है।

मेट्रो के पुलिस उपायुक्त जीतेंद्र मणि ने बताया कि 17 मार्च को गाजियाबाद निवासी बुजुर्ग सत्यवीर सिंह अपनी पत्नी के साथ मेट्रो की यात्रा कर रहे थे। इसी दौरान दिलशाद गार्डन मेट्रो स्टेशन पर उतरते वक्त उन्होंने पाया कि किसी ने सीट के नीचे रखा उनका बैग चुरा लिया है। बैग में डेढ़ लाख रुपये, सोने के चार कंगन, मंगल सूत्र, एक चेन, अन्य जेवरात व मोबाइल फोन थे। पीड़ित की शिकायत पर शास्त्री पार्क मेट्रो पुलिस मुकदमा दर्ज कर बदमाश की तलाश में जुटी हुई थी।

एसएचओ अजय कुमार ने तकनीकी सर्विलांस के माध्यम से 19 अक्टूबर को अरुण कुमार कोहली को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित ने पूछताछ में बताया कि उसने अपने बेटे के माध्यम से चोरी के जेवरात मानसरोवर गार्डन निवासी निखिल भाटिया को बेच दिया था, जिसके बाद पुलिस ने निखिल को भी दबोच लिया। आरोपित ने पुलिस को बताया कि उसने अपनी पत्नी की मदद से चोरी के गहने बदल कर नए गहने ले लिए थे। बाद में उस जेवरात को उन्होंने रिलायंस ज्वैल्स में 1,57 लाख में बेच दिया था। वहीं रुपयों को उन्होंने बैंक में फिक्स करा दिया था। निखिल फिलहाल कोरोना से संक्रमित है। लिहाजा ठीक होने पर उसकी गिरफ्तारी की जाएगी।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.