top menutop menutop menu

Toppers Success Story: टॉपर्स ने कहा- अच्छे अंक लाने के लिए विषय को गहराई से समझना जरूरी

नई दिल्ली [रीतिका मिश्रा]। सीबीएसई ने 12वीं के रिजल्‍ट आज घोषित कर दिए।आइज जाने हैं टॉपर्स बच्‍चों का क्‍या रहा है पढ़ाई के प्रति नजरिया। कैसे उनहें मिली सफलता? वसुंधरा एंक्लेव स्थित एवरग्रीन पब्लिक स्कूल के छात्र रिषभ डोभाल ने विज्ञान संकाय में 98.4 फीसद अंक प्राप्त किए। रिषभ के मुताबिक उन्होंने साल के शुरुआत से ही पढ़ाई शुरू कर दी थी। उन्होंने बताया कि अच्छे अंक प्राप्त करने से ज्यादा उनका ध्यान विषय को गहराई से समझने पर था। उन्होंने कहा कि वो रोजाना स्कूल गए और नोट्स बना कर पढ़ाई की। रिषभ की माता के मुताबिक वो बचपन से ही पढ़ाई में अव्वल आया है। रिषभ ने अपनी सफलता का श्रेय अपने अभिभावकों और माता-पिता को दिया है। रिषभ की माता ने बताया कि वो रिषभ की सफलता से बहुत खुश है।

 

दादी की कहानियों से मिली प्रेरणा

12वीं में कामर्स टॉपर अनुष्का जैन ने बताया कि वह क्लास में एकाग्र रहकर पढ़ाई करती हैं जिससे उन्हें पाठ याद हो जाता है। उन्होंने बताया कि कोरोना के बावजूद यह उम्मीद थी कि पेपर हो जाएगा और हर परिस्थिति में हिम्मत नहीं हारी। हमेशा कड़ी मेहनत से आगे बढ़ने का हौसला रखा। अनुष्का स्कूल के दिनों में 4-5 घंटे और छट्टी वाले दिन घर पर रहकर 9-11 घंटे पढ़ती थी। उन्होंने बताया कि पाठ्यक्रम को पूरा करने और याद करने के लिए टाइम टेबल बनाना जरूरी है। रोहिणी सेक्टर-7 की निवासी अनुष्का अपने माता-पिता के सहयोग व प्रोत्साहन के लिए उनका धन्यवाद देती हैं, लेकिन सबसे अधिक वह अपनी दादी से प्रेरणा लेती हैं। उन्होंने बताया कि उनकी दादी ने उन्हें हमेश सकारात्मक विचार दिए। कहानियों के माध्यम से वह उनके मन को शांति और मानसिक तनाव को दूर करती थी। अनुष्का ने 500 में से 497 अंक प्राप्त किए हैं। उन्हें खाली वक्त में संगीत सुनना है, टीवी देखना पसंद है। वह भविष्य में बीकॉम ऑनर्स कर इसी क्षेत्र में करियर बनाना चाहती हैं।

आइएएस अधिकारी बन देश सेवा करनी है

शाहदरा स्थित लिटिल फ्लावर पब्लिक स्कूल की छात्रा अदिति ने कला संकाय में 99.2 फीसद अंक प्राप्त कर किए है। अदिति ने बताया कि नियमित पढ़ाई और टाइमटेबल बनाकर पढ़ाई करने से उनके इतने अच्छे अंक आए हैं। उन्होंने कहा कि उनके अभिभावकों की मदद के बिना इतने अच्छे अंक प्राप्त करना मुश्किल था। उन्होंने बताया कि कोई भी पाठ अगर नियमित दोहराया जाए तो उस विषय में व्यक्ति माहिर हो सकता है। उन्होंने बताया कि आगे चलकर वो आइएएस बन देश सेवा करना चाहती है। वो आइएएस अधिकारी अनुदीप दूरीशेट्टी को अपना प्रेरणा स्त्रोत मानती है।

पत्रकारिता के क्षेत्र में बनाना है करियर

वहीं, राजेंद्र नगर स्थित मानव स्थली स्कूल की छात्रा खूशबू चावला ने मार्केटिंग व सेल्स संकाय में 97.4 प्रतिशक अंक प्राप्त किए। उन्होंने मार्केटिंग व सेल्स संकाय में सबसे ज्यादा अंक प्राप्त किए हैं खूशबू ने बताया कि उनकी सफलता से उनके माता-पिता बहुत खुश हैं। खुशबू ने बताया कि उन्होंने तैयारी के लिए पहले टाइम टेबल बनाया था और सोचा था कि रोजाना सुबह चार बजे से पढ़ाई करेंगी, लेकिन उनके पिता के बार-बार समझाने के बाद उन्होंने टाइम बनाकर नहीं बल्कि जब समय मिला तब खूब मन लगाकर पढ़ाई की। खूशबू ने बताया कि उन्हें सबसे ज्यादा पत्रकारिता का विषय पसंद था। उन्होंने बताया कि उन्हें लिखने का बहुत शौक है इसलिए वो अंग्रेजी अखबार की पत्रकार बनना चाहती है। इसके लिए वो इस साल डीयू में दाखिला लेंगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.