तीन महिलाएं, दो खोजती शिकार, तीसरी पहुंचती थाने फिर शुरू होता पैसे का खेल, पढ़िए महिला गैंग की पूरी कहानी

दो महिलाएं शिकार ढूंढती थीं, तीसरी दर्ज कराती थी मुकदमा, शिकायत वापस लेने के लिए वसूलती थीं लाखों रुपये।

राजौरी गार्डन थाना पुलिस ने झूठा आरोप लगाकर लोगों से पैसे ऐंठने वाले गिरोह की तीन महिलाओं को गिरफ्तार किया है। ये महिलाएं छेड़खानी का झूठा आरोप लगाकर शिकायत दर्ज करवाती थीं। इसके बाद शिकायत वापस लेने के लिए लाखों रुपये की मांग करती थीं।

Vinay Kumar TiwariThu, 15 Apr 2021 01:35 PM (IST)

जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। राजौरी गार्डन थाना पुलिस ने झूठा आरोप लगाकर लोगों से पैसे ऐंठने वाले गिरोह की तीन महिलाओं को गिरफ्तार किया है। ये महिलाएं छेड़खानी का झूठा आरोप लगाकर शिकायत दर्ज करवाती थीं। इसके बाद शिकायत वापस लेने के लिए लाखों रुपये की मांग करती थीं। गिरफ्तार आरोपितों में टैगोर गार्डन निवासी सोनिया इसकी बहन पूनम व उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर की रहने वाली किरण शामिल हैं। सोनिया व पूनम दोनों तलाकशुदा हैं। सोनिया व पूनम शिकार की तलाश कर किरण से शिकायत करवाती थीं।

सात अप्रैल को एक युवती ने राजौरी गार्डन थाना क्षेत्र के एक बुजुर्ग के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। अपनी शिकायत में उसने बुजुर्ग पर छेड़खानी का आरोप लगाया। पुलिसकर्मियों को इस शिकायत पर कुछ संदेह हुआ, लेकिन पुलिस ने शिकायतकर्ता को इसकी भनक नहीं लगने दी और छानबीन शुरू कर दी। शिकायतकर्ता की पुलिस ने काउंसलिंग भी कराई और मेडिकल भी कराया। छानबीन के दौरान पता चला कि युवती ने यह झूठी शिकायत पूनम व सोनिया के कहने पर की है। यह भी पता चला कि उसने शिकायत वापस लेने के लिए बुजुर्ग से 10 लाख रुपये की मांग भी है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए राजौरी गार्डन थाना प्रभारी अनिल कुमार शर्मा, इंस्पेक्टर अतर सिंह के नेतृत्व में गठित टीम ने पूनम व सोनिया के बारे में जानकारी एकत्रित करनी शुरू कर दी। पुलिस को पता चला कि दोनों महिलाएं दिल्ली से भागकर जयपुर पहुंच गई हैं। यह भी पता चला कि दोनों ने अपना मोबाइल नंबर भी बदल लिया है। पुलिस ने दोनों का पता लगाने के लिए राजौरी गार्डन, आइएसबीटी व अन्य जगहों पर लगे करीब 150 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। इसके साथ ही जयपुर बस स्टैंड पर लगे सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले।

ये भी पढ़ेंः नोएडा और गाजियाबाद में नाइट कर्फ्यू के समय में बदलाव, 15 मई तक रहेंगे बंद रहेंगे स्कूल

जयपुर में पुलिस ने कई टैक्सी चालकों से भी पूछताछ की, ताकि आरोपितों के बारे में जानकारी मिल सके। इस दौरान पुलिस ने उस शख्स का पता लगा लिया, जिसे आरोपित महिलाओं के बारे में जानकारी थी और इसी ने महिलाओं को नया नंबर मुहैया कराया था। अब पुलिस आरोपितों से पूछताछ कर यह पता करने में जुटी है कि इन्होंने अभी तक कितने लोगों के खिलाफ इस तरह से साजिश रची और कितने पैसे वसूले हैं।

इसे भी पढ़ेंः Weekend Curfew in Delhi: शादी समारोह के लिए सीएम केजरीवाल ने किया बड़ा ऐलान, मिलेगी छूट

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.